• search
सूरत न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

1 साल के बच्चे के गले में फंसी बैटरी, डॉक्टरों ने आधी रात को दूरबीन की मदद से निकाला, जान बची

|

सूरत। गुजरात के सूरत सिविल अस्पताल में एक ऐसे बच्चे को लाया गया, जिसने ढाई एमएम की बैटरी निगल ली थी। एक वर्षीय इस बच्चे के गले में फंसी ढाई एमएम की बैटरी को बाहर निकालने के लिए डाॅक्टराें ने खास तरह की दूरबीन की मदद ली।करीब 5 घंटे की मशक्कत के बाद बैटरी गले से निकालकर बच्चे को नया जीवन दिया। डॉक्टरों ने बच्चे को अब मंगलवार को भी दोबारा बुलाया है। जिसमें कुछ जरूरी जांच होगी।

a Battery Stuck In The Neck Of 1 years baby, doctors Removed in 5 Hours efforts

दरअसल, उूना क्षेत्र में रहने वाले अमजद कुरैशी की ढाई साल पहले शादी हुई थी। बीवी से उन्हें एक साल का बेटा है। जिसका नाम हसन है। हसन शनिवार को घर में खेल रहा था। करीब शाम को 6.40 बजे उसने ढाई एमएम की एक बैटरी निगल ली। बैटरी गले में फंसने के बाद उसे उल्टी होने लगी। परिवार वालों ने देखा कि उसे काफी दिक्कत हो रही है, तो वे भी परेशान हो गए और उसे निजी अस्पताल में ले गए। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक जांच में बताया कि बच्चे के गले में कुछ फंस गया है।

ब्रेन सर्जरी के वक्त गीता श्लोक बोलती रही महिला, जान बची, डॉक्टर बोले- ऐसा यह पहला ऑपरेशन- VIDEO

जिसके बाद बच्चे को लेकर परिवार वाले सिविल अस्पताल पहुंचे। वहां अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में प्राथमिक जांच के बाद बच्चे को ऑपरेशन के लिए ले जाया गया। रात के समय करीब 12.30 बज रहे थे, तब डॉक्टरों ने दूरबीन की मदद से बच्चे के गले में फंसी बैटरी बाहर निकाली। इसी सा​थ परिजनों ने राहत की सांस ली। वहीं सिविल अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि जो बैटरी बच्चे गले में ही फंस गई थी, वो ढाई एमएम की थी। उससे उसे बहुत दिक्कत हो रही थी। उसकी जान पर बन आई थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
a Battery Stuck In The Neck Of 1 years baby, doctors Removed in 5 Hours effort
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X