• search
सुल्तानपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अस्पताल में किया 'खून' का सौदा, कीमत लगाई 4 हजार रुपए फिर रंगेहाथ पकड़ा गया आरोपी

|

सुल्तानपुर। सुल्तानपुर के डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में ब्लड का गोरखधंधा चल रहा था और हॉस्पिटल प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगी। जानकारी तब हुई जब एक मरीज को ब्लड की आवश्यकता हुई और अटेंडेंट हॉस्पिटल पहुंचे। यहां रैकेट के सदस्य को देख उन्हें कुछ शक हुआ तो अटेंडेंट ने एक एनजीओ को इसकी सूचना दी। सूचना पर पहुंचे एनजीओ के सदस्यों ने ब्लड का रैकेट चला रहे दो सदस्यों को धर दबोचा और बाद में पुलिस के हवाले किया।

fradulent caught for selling blood in hospital

एनजीओ के सदस्य ने बताया कि हमें सूचना मिली थी के चांदा निवासी ननका को ब्लड की आवश्यकता है। उसका पौत्र संतोष डिस्ट्रिक्ट पहुंचा था। यहां वो अपने रिश्तेदारों का इंतजार कर रहा था। उसी वक्त एक युवक उसके पास आया और बोला कि चार हजार रुपये दो तो बिना रक्तदान के ही एक यूनिट खून मिल जाएगा। इस पर संतोष को संदेह हुआ और उसने इसकी सूचना एनजीओ को दी। इसके बाद पर एनजीओ के सदस्य हॉस्पिटल पहुंचे और उन्होंने ब्लड का गोरखधंधा चला रहे दो आरोपितों को दबोच लिया और फिर मौके पर पहुंची डायल 100 पुलिस टीम को उन्हें सौंप दिया।

कोतवाली नगर के एसएसआई दुर्गाप्रसाद शुक्ला ने बताया कि पकड़े गए युवक की पहचान विक्रम सिंह निवासी अंकारीपुर, थाना धम्मौर के रूप में हुई है। पुलिस ने सिविल लाइन निवासी अभिषेक सिंह की तहरीर पर आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजा है।

ये भी पढे़ं-दहेज से मन नहीं भरा तो बीवी पर डाल दिया खौलता हुआ पानी, 6 महीने पहले हुई थी शादी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
fradulent caught for selling blood in hospital
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X