• search
राजकोट न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पाकिस्तान से जान बचाकर भागे ये 600 लोग भी हुए हिंदुस्तानी, पहली बार डालेंगे गुजरात में वोट

|

Gujarat News in Hindi, गांधीनगर। लोकसभा चुनाव (general election 2019) में इस बार गुजरात में बसे हुए पाकिस्तान मूल के 600 मतदाता पहली बार वोट देने जा रहे हैं। कल मंगलवार, यानी 23 अप्रैल को सूबे में सभी 26 सीटों पर होने वाली वोटिंग में ये हिस्सा लेंगे। इनमें से ज्यादातर लोगों को वर्ष 2015 के बाद भारत की नागरिकता मिली।

पहली बार वोट डालेंगे ऐसे 600 मतदाता

पहली बार वोट डालेंगे ऐसे 600 मतदाता

बता दें कि, इसी महीने की शुरूआत में राज्य के कच्छ जिले में रह रहे 89 लोगों को पहली बार मताधिकार ​दिया गया था। पाकिस्तान से भागकर सालों पहले वे हिंदुस्तान में दाखिल हुए थे और कच्छ को अपना ठिकाना बनाया था। सरकार ने 2016 ऐसे कुल 176 लोगों को भारतीय नागरिकता दी थी। जिसके बाद 2017 में 26, 2018 में 46 और वर्ष 2019 के चुनावों के लिए 89 लोगों को भारतीय नागरिक के तौर पर प्रमाणित किया गया।

बताया- कैसे हिंदुस्तान आए थे

बताया- कैसे हिंदुस्तान आए थे

अब इन लोगों का कहना है कि पाकिस्तान में उन्हें किसी भी तरह से सुरक्षा महसूस नहीं हो रही थी। वहां इनके परिवार की महिलाएं अकेले बाहर तक नहीं निकल पाती थीं। तब वे हिंदुस्तान भाग आए, हालांकि यहां आने के बाद भी कांग्रेस सरकार द्वारा उनके लिए कुछ नहीं किया गया। उनका कहना है कि भाजपा के शासन में ही देश की नागरिकता मिली और वे वोट देने का अधिकार भी मिला है। ज्यादातर ने ये भी कहा कि वे भाजपा को वोट देने में यकीन रखते हैं।

भारतीय नागरिकता के साथ दी गईं ये सुविधाएं

भारतीय नागरिकता के साथ दी गईं ये सुविधाएं

अधिकारियों के मुताबिक, कच्छ में आकर बसे परिवारों को सांसद को चुनने का अधिकार पहली बार मिला है। यहां कलेक्टर के पास अब भी 23 आवेदन मौजूद हैं, जिनमें भारतीय नागरिकता मांगी गई है। जिन्हें नागरिकता मिली है, उन्हें चुनाव कार्ड, राशन कार्ड, लाइसेंस और आधार कार्ड समेत सभी कार्ड भारतीय नागरिकता के लिये प्रदान किये जा रहे हैं।

कुछ शरणार्थी दो दशकों तक वीजा से रहे

कुछ शरणार्थी दो दशकों तक वीजा से रहे

बताया जा रहा है कि कच्छ में रहने वाले कुछ शरणार्थी ऐसे भी हैं, जो 1971 के युद्ध के बाद आए थे। 2 दशक तक वीजा के सहारे रहे। भारतीय नागरिकता नहीं मिलने की वजह से उनको काफी मुसीबतें झेलनी पड़ीं। हालांकि, 2016 में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक गजट प्रकाशित किया और जिला कलेक्टर को नागरिकता प्रदान करने की नीति को नरम किया। उसी वजह से कच्छ में 89 लोगों को भारतीय नागरिकता मिली। उस से पहले भी भारत सरकार ने पाकिस्तान से आए हुए शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता प्रदान की है।

पढ़ें: जब देश की तीसरी लोकसभा के चुनाव हुए तब स्वतंत्र गुजरात में पहली बार पड़े वोट, अब तक नहीं हुई 1967 जितनी वोटिंग

गुजरात में कुल वोटरों की संख्या 4.50 करोड़ के पार हुई

गुजरात में कुल वोटरों की संख्या 4.50 करोड़ के पार हुई

वहीं, चुनाव आयोग (Election commission of india) के नए आंकड़ों के मुताबिक, सूबे में 10,50,407 नए मतदाता जुड़े हैं। यानी, यहां लोकसभा चुनाव में पहली बार 10 लाख युवा वोट डाल सकते हैं। राज्य में कुल वोटरों की संख्या में भी भारी इजाफा हुआ है। गुजरात में 4.51 करोड़ वोटर हो गए हैं। इन वोटरों के साथ ही अब पाकिस्तान से आकर बसे हिंदू बहुल शरणार्थी भी भारतीय नागरिक के तौर पर लोकसभा चुनाव में हिस्सा लेंगे।

गुजरात: लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़ी सभी जानकारी यहां पढ़ें

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

राजकोट की जंग, आंकड़ों की जुबानी
वर्ष
प्रत्याशी का नाम पार्टी स्‍थान वोट वोट दर मार्जिन
2014
कुंदरिया मोहनभाई कल्याणजीभाई भाजपा विजेता 6,21,524 60% 2,46,428
कुंवरजीभाई मोहनभाई बावलिया कांग्रेस उपविजेता 3,75,096 36% 0
2009
कुवरजीभाई मोहनभाई बावलिया कांग्रेस विजेता 3,07,553 47% 24,735
किरणकुमार वाल्जीभाई भलोदिया (पटेल) भाजपा उपविजेता 2,82,818 44% 0
2004
डॉ कथिरिया वल्लभभाई रामजीभाई भाजपा विजेता 3,20,604 60% 1,43,970
बलवंतभाई बचुभाई मनवर एनसीपी उपविजेता 1,76,634 33% 0
1999
डॉ कथिरिया वल्लभभाई रामजीभाई भाजपा विजेता 3,12,941 57% 86,747
राड़ादिया विठ्ठलभाई हंसराजभाई कांग्रेस उपविजेता 2,26,194 41% 0
1998
डॉ. कथिरिया वल्लभभाई रामजीभाई भाजपा विजेता 4,80,316 72% 3,54,187
रडाडिया विठ्ठलभाई हंसराजभाई एआईआरजेपी उपविजेता 1,26,129 19% 0
1996
डॉ कथिरिया वल्लभभाई रामजीभाई भाजपा विजेता 2,10,626 52% 40,820
वकारिया शिवलालभाई नागजीभाई कांग्रेस उपविजेता 1,69,806 42% 0
1991
शिवलालभाई वेरारिया भाजपा विजेता 2,77,289 53% 54,860
मनोहरसिंहजी प्रदुम्‍नसिंहजी जडेजा कांग्रेस उपविजेता 2,22,429 43% 0
1989
वेकरिया शिवलाल नागभाई भाजपा विजेता 3,45,185 67% 1,94,426
मवानी रामाबेन रामजीभी कांग्रेस उपविजेता 1,50,759 29% 0
1984
मावानी रामाबेन रामजीभाई कांग्रेस विजेता 2,25,360 55% 57,590
शुक्ला चीमनभाई हरिलाल भाजपा उपविजेता 1,67,770 41% 0
1980
मवानी रामजीभाई भूराभाई कांग्रेस(आई) विजेता 1,58,220 51% 53,476
शुक्ला चीमनभाई हरिलाल जेएनपी उपविजेता 1,04,744 34% 0
1977
पटेल केशुभाई सावदाभाई बीएलडी विजेता 1,43,051 47% 15,801
अरविंदकुमार मोहनलाल पटेल कांग्रेस उपविजेता 1,27,250 42% 0
1971
घनश्‍यामभाई ओझा कांग्रेस विजेता 1,42,481 62% 67,479
Minoo Masani एसडब्‍ल्‍यूए उपविजेता 75,002 33% 0
1967
श्री. मसानी एसडब्‍ल्‍यूए विजेता 1,28,537 47% 6,476
वी. पटेल कांग्रेस उपविजेता 1,22,061 44% 0
1962
उछरंगराई नवलशंकर धबर कांग्रेस विजेता 1,02,344 55% 41,033
नरोत्तम लक्ष्मीचंद शाह आईएनडी उपविजेता 61,311 33% 0

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hindu colonial comes from Pak will do first time voting at Gujarat in Lok Sabha Elections 2019
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more