• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

देश का सबसे बड़ा सोलर हब बनेगा जैसलमेर, 12 हजार करोड़ के निवेश से बदलेगी तकदीर

|

जैसलमेर। राजस्थान का जैसलमेर जिला देश का सबसे बड़ा एनर्जी हब बनने की ओर अग्रसर है। यहां पहले से ही विंड एनर्जी के कई प्रोजेक्ट लगे और जिले में चारों तरफ पवन चक्कियां भी नजर आ रही है। वहीं, अब सोलर एनर्जी के कई प्रोजेक्ट जैसलमेर आ चुके हैं। आने वाले कुछ समय में जैसलमेर में सर्वाधिक बिजली उत्पादन करने वाला जिला बन जाएगा।

रामगढ़ में गैस आधारित बिजलीघर

रामगढ़ में गैस आधारित बिजलीघर

वर्तमान में जैसलमेर में विंड एनर्जी के कई प्रोजेक्ट लगे हुए हैं। साथ ही रामगढ़ में गैस आधारित बिजलीघर भी है, जहां सीमावर्ती क्षेत्र से निकलने वाली गैस से बिजली उत्पादन हो रहा है। कुछ प्रोजेक्ट सोलर के भी लगे हुए हैं। यहां आरआरईसीएल 925 मेगावाट के सोलर प्रोजेक्ट लगा रही है। यह सरकारी कंपनी है, इसी के माध्यम से ही जैसलमेर में विंड एनर्जी उत्पादन 1998 में शुरू हुआ था। इसके अलावा ईडन व एसबीई कंपनी भी सोलर प्रोजेक्ट में निवेश कर रही है।

 15 से 20 हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन

15 से 20 हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन

बता दें कि अब तक विंड के क्षेत्र में जैसलमेर एनर्जी हब था। वहीं, अब सोलर के क्षेत्र में भी हब बनने की ओर अग्रसर है। वर्तमान में जैसलमेर जिले के कई इलाकों में सोलर प्रोजेक्ट लग रहे हैं, जो कि करीब 10 हजार मेगावाट के प्रोजेक्ट हैं। आगामी एक दो साल में जैसलमेर में 15 से 20 हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन विंड व सोलर से शुरू हो जाएगा।

 12 हजार करोड़ रुपए का निवेश

12 हजार करोड़ रुपए का निवेश

गौरतलब है कि जैसलमेर में देश की कई बड़ी बड़ी कंपनियां सोलर एनर्जी में निवेश कर रही हैं। वर्तमान में करीब 12 हजार करोड़ रुपए का निवेश हो रहा है। इससे जिलेवासियों को कई रोजगार के साधन मिलने की उम्मीद है। इस निवेश से प्रोजेक्ट तो लगेंगे ही साथ ही इन प्रोजेक्ट के तहत होने वाले कई छोटे मोटे काम स्थानीय लोगों को भी मिलेंगे।

अडानी ग्रुप का 8 हजार मेगावाट का प्रोजेक्ट

अडानी ग्रुप का 8 हजार मेगावाट का प्रोजेक्ट

जैसलमेर में देश की जानी-मानी कंपनी अडानी ग्रुप सोलर में निवेश कर रही है। केवल अडानी ग्रुप ही 8 हजार मेगावाट के प्रोजेक्ट लगा रहा है। साथ ही 765 केवी जीएसएस का भी निर्माण कर रहा है। अडानी ग्रुप ने वर्ष 2012 में जैसलमेर में 12 हजार बीघा जमीन इसके लिए आवंटित करवाई थी।

स्थानीय युवाओं को मिलेगा रोजगार

स्थानीय युवाओं को मिलेगा रोजगार

जैसलमेर जिला कलेक्टर आशीष मोदी बताते हैं कि स्थानीय युवाओं के लिए सोलर में बहुत बड़ा स्कॉप है। अभी से युवा इस फील्ड में डिग्री या डिप्लोमा कर ले तो आने वाले समय में इन प्रोजेक्ट पर उन्हें अच्छी नौकरी मिल सकती है। विंड एनर्जी में भी जैसलमेर के कई युवाओं को रोजगार मिला था, ऐसे में अब सोलर में और भी ज्यादा रोजगार मिलेगा। इसके अलावा बड़ी कंपनियों के यहां आने से उनके सामाजिक सरोकार के बजट में जैसलमेर के गांवों का बेहतर विकास हो सकेगा।

File Photo

समंदर नहीं राजस्थान का रेगिस्तान है ये, बाड़मेर के रेडाणा गांव में गोवा बीच जैसा नजारा, देखें LIVE

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rajasthan's Jaisalmer to become india's largest solar hub
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X