• search
पंजाब न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Lumpy Skin Disease: पंजाब में 55 हजार से ज्‍यादा पशु चपेट में आए, 24 घंटे में सैकड़ों मरे

Google Oneindia News

चंडीगढ़। लंपी स्किन डिजीज (lumpy virus) ने देश के कई राज्‍यों में हजारों पशुओं की जान ले ली है। पंजाब में रोजाना बहुत-से पशु इसकी चपेट में आकर दम तोड़ रहे हैं। बीते रोज यहां 385 पशुओं की जान चली गई, वे लंपी स्किन डिजीज कैप्रिपॉक्स वायरस ग्रसित पाए गए। पशुपालन विभाग और चिकित्‍सा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, गुरुवार को पंजाब में 5185 पशुओं में इस बीमारी की पुष्टि हुई, वहीं अब तक राज्‍यभर में संक्रमित पशुओं की कुल संख्या बढ़कर 55383 पहुंच गई है।

पंजाब में लंपी स्किन डिजीज से मचा कोहराम

पंजाब में लंपी स्किन डिजीज से मचा कोहराम

पशुओं को इस जानलेवा रोग से बचाने के लिए सरकार ने बाहर से कई तरह की वैक्‍सीन मंगवाई हैं। रोजाना विभिन्‍न ि‍जलों में हजारों गाय-बछड़ों, भैंसों को वैक्‍सीन के डोज दिए जा रहे हैं। इसके बावजूद पंजाब में दो दिन में लंपी से दोगुनी मौतें हुई हैं, और खतरा बढ़ता ही जा रहा है। पहले पशुओं के शरीर पर नोड्यूल बनने के केस आ रहे थे...अब गले और लीवर में गांठ के मामले बढ़ रहे हैं। जो पशु रोग की चपेट में आ रहे हैं, वे तीन-चार दिन के अंदर ही मर रहे हैं। यह बात खुद पशु पालन विभाग भी मान रहा है।

दूध उत्पादन पर बड़ा असर, हजारों लीटर कम हुआ

दूध उत्पादन पर बड़ा असर, हजारों लीटर कम हुआ

इस रोग का संक्रमण फैलने के वजह से पंजाब में अब दूध उत्पादन पर भी बुरा असर पड़ रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, वेरका के 4 प्लांटों में 1 लाख 85 हजार लीटर दूध उत्पादन कम हो गया है। वहीं, होशियारपुर के प्लांट में 46 हजार लीटर दूध की जगह अब महज 42 हजार लीटर दूध ही आ रहा है। इसी तरह पटियाला के प्लांट में दूध उत्पादन घटकर 70 हजार लीटर रह गया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि, लंपी स्किन डिजीज ने यहां किस कदर कोहराम मचाया हुआ है।

Lumpy Skin Disease : राजस्‍थान में 58 सौ मवेशी मारने वाला लंपी त्वचा रोग क्‍या है? दूध संकट बढ़ने की आशंकाLumpy Skin Disease : राजस्‍थान में 58 सौ मवेशी मारने वाला लंपी त्वचा रोग क्‍या है? दूध संकट बढ़ने की आशंका

सीएम मान बोले- ज्‍यादा से ज्‍यादा पशु बचाने हैं

सीएम मान बोले- ज्‍यादा से ज्‍यादा पशु बचाने हैं

सूबे के संगरूर में ही कल 95 पशुओं ने दम तोड़ दिया। ऐसा अन्‍य जिलों में भी हुआ। आधिकारिक तौर पर, राज्‍यभर में 1314 संक्रमित पशुओं की मौत हो चुकी है। इस रोग के फैलने का मुद्दा कल पंजाब कैबिनेट की मीटिंग में भी उठा। जहां सीएम भगवंत मान ने माना कि कई किसानों के पास 2 ही पशु थे, दोनों लंपी का शिकार हो गए हैं। उन्‍होंने कहा था कि, स्थिति विकट होते जा रही है। पहले हमें पशुओं को लंपी के कहर से बचाना है। मीटिंग के उपरांत बताया गया कि, 3 मंत्रियों की कमेटी रिपोर्ट तैयार करने में जुटी है। उसकी रिपोर्ट आते ही मुआवजे पर फैसला होगा।

115985 पशु वैक्‍सीनेट हुए

115985 पशु वैक्‍सीनेट हुए

पशुओं को डोज दिए जाने की एक रिपोर्ट आज सार्वजनिक हुई है, जिसके अनुसार, कल पंजाबभर में 25985 तंदुरुस्त पशुओं को वैक्सीन लगाई गई, और अब तक 115985 पशुओं को वैक्सीनेट किया जा चुका है। पशु पालन विभाग के जाइंट डायरेक्टर डॉ. राम पाल मित्तल ने कहा कि, पशुओं में फैले लंपी वायरस के कारण पशुपालक डर रहे हैं। इस तरह के रोग से सबसे पहले पशु को चारा खाने व पानी पीने में दिक्कत आती है। उसके शरीर पर नोड्यूल बन जाते हैं। उन्‍हें तेज बुखार आता है।

Comments
English summary
lumpy skin disease: More than 55 thousand cattle infected in Punjab, hundreds lost lives
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X