• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

100 दिन पूरे होने पर पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान ने पीएम ने मोदी को लेकर कही बड़ी बात

|

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सत्‍ता में 100 दिन पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर उन्‍होंने वही बात दोहराई है जो उन्‍होंने चुनाव जीतने के बाद कही थी। इमरान ने कहा है कि वह भारत के साथ बेहतर रिश्‍ते चाहते हैं। इसके साथ ही उन्‍होंने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से द्विपक्षीय मुलाकात की ख्‍वाहिश भी जाहिर की है। आपको बता दें कि बुधवार को करतारपुर कॉरिडोर के मौके पर भी इमरान ने दोनों देशों के बीच बेहतर संबंधों की बात कही थी। 29 जुलाई को पाकिस्‍तान में चुनाव हुए थे और इन चुनावों में इमरान की पार्टी पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। इसके साथ ही 22 वर्षों से पाकिस्‍तान की राजनी‍ति में सक्रिस इमरान देश के वजीर-ए-आजम बने थे। यह भी पढ़ें-पा‍किस्‍तान पीएम इमरान खान बोले- दोनों देश परमाणु ताकत से लैस फिर जंग का सवाल क्‍यों?

आतंकवाद पर क्‍या बोले इमरान

आतंकवाद पर क्‍या बोले इमरान

पाक पीएम इमरान खान ने पहली बार आतंकवाद पर भी बात की है जिसकी वजह से पड़ोसी मुल्‍क के साथ शांति वार्ता खटाई में पड़ी हुई है। इमरान ने कहा कि पाकिस्‍तान को अपनी सरजमीं का प्रयोग आतंकवाद के लिए करने की मंजूरी नहीं देनी चाहिए। इमरान की मानें तो यह पाक के हित में नहीं है। इसके साथ ही इमरान ने यह भी कहा कि यहां पर दूसरे मुल्‍कों के खिलाफ आतंकी साजिश को भी अंजाम नहीं दिया जाना चाहिए। इमरान की मानें तो अब पाकिस्‍तान की आवाम भारत के साथ शांति चाहती है।

बदल रही है लोगों की सोच

बदल रही है लोगों की सोच

इमरान ने कहा कि अब लोगों की सोच और मानसिकता बदल रही है। वहीं इमरान ने जमात-उद-दावा के चीफ और 26/11 हमलों के मास्‍टरमाइंड हाफिज सईद पर गोलमोल तरीके से जवाब दिया। इमरान ने कहा कि, 'हाफिज सईद के खिलाफ यूनाइटेड नेशंस के प्रतिबंध चल रहे हैं और साथ ही उस पर शिकंजा कसा जा रहा है।' इमरान का आतंकवाद पर यह बयान भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज के बयान के अगले दिन आया है। सुषमा ने बुधवार को कहा था कि पाकिस्‍तान जब तक आतंकवाद पर लगाम नहीं लगाता है तब तक इस्‍लामाबाद में होने वाली सार्क समिट में भारत शामिल नहीं होगा। सुषमा ने कहा था कि आतंकवाद और वार्ता साथ-साथ नहीं चल सकती है।

कश्‍मीर मुद्दे के हल की वकालत

कश्‍मीर मुद्दे के हल की वकालत

इमरान ने करतारपुर कारिडोर के शिलान्‍यास के मौके पर भी इसी तरह की बात कही थी। इमरान ने कहा था कि भारत अगर दोस्‍ती के लिए एक कदम आगे बढ़ाता है तो पाकिस्‍तान दो कदम आगे बढ़ेगा। शिलान्‍यास के बाद एक कार्यक्रम में बोलते हुए इमरान ने कहा था कि अगर हम अपने बॉर्डर को खोल देते हैं तो दोनों देशों में मौजूद गरीबी को खत्‍म किया जा सकता है। इसके साथ ही उन्‍होंने कश्‍मीर का जिक्र भी किया। इमरान के मुताबिक दुनिया में कोई भी ऐसा मसला नहीं है जिसे हल नहीं किया जा सकता है। इंसान चांद तक पहुंच गया है। भारत और पाकिस्‍तान के बीच आज सिर्फ कश्‍मीर ही एक मुद्दा है। उनकी मानें तो इस मुद्दे को हल करने के लिए दोनों तरफ बेहतर नेतृत्‍व की जरूरत है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan PM Imran Khan has said not in Pakistan's interest to use its soil for terrorism.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X