• search
नालंदा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बिहार में पत्रकार के बेटे की आंखें फोड़कर लाश को गड्ढे में फेंका, गुनहगारों को पकड़ने में जुटी पुलिस

|

Nalanda news, नालंदा। बिहार में अब पत्रकारों के साथ-साथ उनके घरवाले भी सुरक्षित नहीं है। हाल के दिनों में बिहार में हुए पत्रकारों पर हमले के बावजूद सूबे की सरकार इस ओर गंभीर नहीं है। ताजा मामला बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा का है जहां एक निजी अखबार के नालंदा जिला प्रभारी के बेटे की अपराधियों ने नृशंस तरीके से हत्या कर दी। अपराधियों ने बर्बरता की हद पार करते हुए पत्रकार के 16 साल के बेटे की दोनों आंखें फोड़ हत्या कर दी और शव को गांव के ही एक पानी भरे गड्ढे में फेंक दिया। शव मिलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। वहीं जिले के पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गई।

Journalist son brutally murdered in nalanda

मृतक अश्विनी कुमार उर्फ चुन्नु देश के एक नामी अखबार के नालंदा जिला कार्यालय प्रभारी आशुतोष कुमार आर्य का इकलौता पुत्र था। बताया जाता है कि पत्रकार आशुतोष अपने पूरे परिवार के साथ नालंदा के हरनौत थाना इलाके के हसनपुर स्थित अपने पैतृक गांव में ही रहते थे। मिली जानकारी के मुताबिक रविवार दोपहर चुन्नू अपनी मां को क्रिकेट खेलने की बात कह घर से बाहर निकला था। चुन्नू जब देर रात तक घर नहीं लौटा तो घरवालों ने उसकी खोजबीन शुरू की जिसके बाद देर रात उसकी लाश गांव के ही एक पानी भरे गड्ढे में फेंकी हुई मिली। चुन्नू की दोनों आंखें फोड़ उसे मौत के घाट उतारा गया था जिसे देख लोग आक्रोशित हो गए।

Journalist son brutally murdered in nalanda

हरनौत थाने की पुलिस सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची और लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल भेज दिया। फिलहाल हत्या की इस वारदात का खुलासा नहीं हो पाया है। घटना के बाद नालंदा जिला पत्रकार संघ के अध्यालश चंद्रमणि पांडेय,सचिव रमाशंकर सिंह सहित तमाम पत्रकारों ने नालंदा एसपी नीलेश कुमार से घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। एसपी नीलेश कुमार ने घटना की गंभीरता को देखते हुए हत्या में शामिल लोगों की जल्द ही गिरफ्तारी की बात कही है। वहीं पीड़ित पत्रकार ने किसी से दुश्मनी की बात से इनकार किया है।

ये भी पढ़ें-दोस्त के बर्थडे के लिए घर से निकला 12वीं का छात्र, 4 दिन बाद कुएं में मिली लाश

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

नालंदा की जंग, आंकड़ों की जुबानी
वर्ष
प्रत्याशी का नाम पार्टी स्‍थान वोट वोट दर मार्जिन
2014
कौशलेन्द्र कुमार जेडी(यू) विजेता 3,21,982 35% 9,627
सत्य नंद शर्मा एलजेपी उपविजेता 3,12,355 34% 0
2009
कौशलेन्द्र कुमार जेडी(यू) विजेता 2,99,155 53% 1,52,677
सतीश कुमार एलजेपी उपविजेता 1,46,478 26% 0
2004
नीतीश कुमार जेडी(यू) विजेता 4,71,310 53% 1,02,396
डॉ कुमार पुष्पनजय एलजेपी उपविजेता 3,68,914 41% 0
1999
जॉर्ज फर्नांडीस जेडी(यू) विजेता 4,64,458 53% 1,05,821
गया सिंह सीपीआई उपविजेता 3,58,637 41% 0
1998
जॉर्ज फर्नांडीस एसएपी विजेता 4,44,784 50% 1,15,670
राम स्वरुप प्रसाद राजद उपविजेता 3,29,114 37% 0
1996
जॉर्ज फेरांडेस एसएपी विजेता 4,86,703 55% 1,67,864
विजयी कुमार यादव सीपीआई उपविजेता 3,18,839 36% 0
1991
विजॉय कुमार यादव सीपीआई विजेता 3,65,566 47% 91,871
राम स्वरुप प्रसाद कांग्रेस उपविजेता 2,73,695 35% 0
1989
राम सरूप प्रसाद कांग्रेस विजेता 2,56,349 37% 11,212
विजॉय कुमार यादव सीपीआई उपविजेता 2,45,137 35% 0
1984
विजय कुमार यादव सीपीआई विजेता 2,30,531 37% 39,471
पंकज कुमार सिन्हा कांग्रेस उपविजेता 1,91,060 31% 0
1980
विजय कुमार यादव सीपीआई विजेता 1,98,959 38% 62,601
सिद्धेश्वर प्रसाद आईएनसी(यू) उपविजेता 1,36,358 26% 0
1977
बिरेंद्र प्रसाद बीएलडी विजेता 2,84,684 54% 1,41,022
विजय कुमार यादव सीपीआई उपविजेता 1,43,662 27% 0
1971
सेधेश्‍वर प्रसाद कांग्रेस विजेता 2,23,398 58% 1,29,700
श्याम सुंदर प्रसाद BJS उपविजेता 93,698 24% 0
1967
एस प्रसाद कांग्रेस विजेता 1,48,410 47% 78,093
के एन पी सिंह BJS उपविजेता 70,317 22% 0
1962
सिद्धेश्वर प्रसाद कांग्रेस विजेता 95,883 44% 36,914
विजय कुमार यादव सीपीआई उपविजेता 58,969 27% 0
1957
कैलाश पति सिंह कांग्रेस विजेता 75,835 47% 18,319
कृष्णा पीडी सिन्हा आईएनडी उपविजेता 57,516 36% 0

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Journalist son brutally murdered in nalanda
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more