• search
महोबा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

महोबा: व्यवसायी की हत्या के आरोप में SP और थाना इंचार्ज पर केस दर्ज, अजय लल्लू ने कही ये बात

|

महोबा। व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी की हत्या की कोशिश और उसकी हत्या की साज़श करने के आरोप में महोबा ज़िले से ससपेंड किए गए एस पी मणिलाल पाटीदार और एक थाना इंचार्ज देवेंद्र शुक्ल पर मुकदमा दर्ज किया गया है। ये मुकदमा 5 सितंबर को सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो के आधार पर दर्ज हुआ है। जिसमें महोबा के एसपी मणिलाल पाटीदार पर आरोप लगाया था कि उनके दबाव में व्यापारी इंद्रकांत उन्हें 6 लाख रुपए महीना घूस दे रहे था, लेकिन काम मंदा होने की वजह से उन्होंने एसपी से हर महीने 6 लाख रुपये देने में मजबूरी जताई तो उन्होंने उन्हें जान से मरवा देने की धमकी दी है। वहीं, कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने व्यवसायी के परिजनों से मिल हरसम्भव मदद का भरोसा देकर ढांढस बंधाया।

    Uttar Pradesh: Mahoba SP और थाना इंचार्ज पर व्यापारी की हत्या की साजिश का केस दर्ज | वनइंडिया हिंदी

    Mahoba: Case filed against SP and Police Incharge for murder of businessman

    इन्द्रकांत का महोबा में स्टोन क्रशर और माइनिंग के लिए विसफोटक सप्लाई का काम है। वीडियो वायरल करने के दो दिन बाद ही इन्द्रकांत को गोली मार दी गई। गोली उन्हें गर्दन में लगी है। उनकी हालत गंभीर है। वो इलाज के लिए कानपुर में भर्ती हैं। घटना के बाद एस पी मणिलाल पाटीदार को 9 तारीख को सरकार ने ससपेंड कर दिया था। कल देर रात उनके खिलाफ हत्या का प्रयास और हत्या की साज़िश करने के आरोप में महोबा में मुक़दमा दर्ज हो गया है। उनके साथ महोबा के कबरई थाना इंचार्ज देवेंद्र शुक्ल और इंद्रमणि के दो प्रतिद्वंदी व्यापारियों पे भी एफ़आईआर हुई है।

    वहीं, शनिवार को कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू महोबा पहुंचे और व्यवसाई इन्द्रकांत त्रिपाठी के परिजनों से मुलाकात कर घटना के बारे में जानकारी ली। अजय कुमार लल्लू ने बताया कि यह बहुत ही दुःखद घटना है जब रक्षक ही भक्षक बन जाये तो कानून व्यबस्था का क्या आलम होगा। त्रिपाठी ने सिर्फ वीडियो वायरल करके अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई थी, लेकिन उनके साथ घटना हो गई। इसका जबाब तो मुख्यमंत्री को देना ही पड़ेगा कि आखिर महोबा के पुलिस अधीक्षक द्वारा इस प्रकार का कृत्य क्यो किया गया अब तक अपराधी सलाखों के पीछे क्यों नहीं है। जबकि त्रिपाठी जी जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे है। इस मुद्दे को कांग्रेस पार्टी सदन में उठाएगी हम चुप बैठने बाले नहीं है।

    ये भी पढ़ें:- प्रयागराज और महोबा के निलंबित पुलिस अधिकारियों की संपत्तियों की होगी जांच, सीएम योगी ने कहा- जल्द सजा दिलवाई जाए

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Mahoba: Case filed against SP and Police Incharge for murder of businessman
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X