• search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मध्य प्रदेश में गरीबों को बांटे जाने वाला 6 करोड़ का चना-गेहूं बाढ़ की भेंट चढ़ा

|

बालाघाट। मध्य प्रदेश में हुई भारी सरकारी व्यवस्थाओं की पोल खोल दी। प्रदेश के 12 जिलों में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। वहीं, प्रदेश के बालाघाट के गोंगलई में बने मध्य प्रदेश वेयर हाउस एवं लॉजिस्टिक्स कॉरपोरेशन के वेयर हाउस में 6 करोड़ से अधिक मूल्य का चना और गेहूं भी पूरी तरह से नष्ट हुआ है।

गोदाम में दो दिन रहा पानी

गोदाम में दो दिन रहा पानी

बता दें कि बालाघाट स्थित इस गोदाम में सरकारी अनाज रखा था। वह पूरे 2 दिन तक पानी में डूबा रहा। ऐसे में चने पर अंकुर और फफुंद लग गए और गोदाम में रखा गया गेहूं बाली में तब्दील होने लगा है। वहीं, वेयर हाउस के कार्यालय में रखे कुछ दस्तावेज बाढ़ के पानी में बह चुके हैं।

 किसानों से खरीदा था अनाज

किसानों से खरीदा था अनाज

गोदामों पर छलिया में जमा यह चना और गेहूं सरकार द्वारा सपोर्ट प्राइस पर किसानों से खरीदा गया था। जिसे बाद में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिए गरीबों में बांटा जाना था। लेकिन बालाघाट में आई बाढ़ में 6 करोड़ से अधिक मूल्य का चना और गेहूं पूरी तरह बर्बाद हो रहा है।

 क्या कहते हैं जिला प्रबंधक

क्या कहते हैं जिला प्रबंधक

नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक मनोहर पाटिल ने बताया कि पांच हजार टन अनाज क्षमता वाले इस गोदाम में तीन सेड बने हुए हैं, जिनमें से दो सेड बाढ़ के पानी की चपेट में आए हैं। इससे गेहूं नौ हजार बोरे और चने के पांच हजार बोरे में भिगे हैं।

Madhya Pradesh Flood : सेना की बोट से बाढ़ प्रभावित गांवों में पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
6 crore's gram-wheat distributed to the poor in Madhya Pradesh floods
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X