• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

श्मशान घाट की छत गिरने का CM योगी आदित्यनाथ ने लिया संज्ञान, दो-दो लाख की आर्थिक सहायता देने की घोषणा

|

UP CM Yogi Adityanath, लखनऊ। गाजियाबाद (Ghaziabad) के मुरादनगर (Muradnagar) थाना क्षेत्र में श्मशान घाट की छत गिरने की घटना का प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने संज्ञान लिया है। साथ ही जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को तत्काल मौके पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं। तो वहीं, मृतकों के आश्रितों को 02-02 लाख की आर्थिक सहायता प्रदान करने के साथ ही मंडलायुक्त मेरठ एवं आईजी रेंज मेरठ को भी मौके पहुंचकर घटना के संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए हैं।

    Ghaziabad: श्मशान घाट का लेंटर गिरने से 21 लोगों की मौत, CM Yogi ने मांगी रिपोर्ट | वनइंडिया हिंदी

     Yogi Adityanath takes cognizance of roof collapse incident in Muradnagar

    सीएम ने हादसे की मांगी पूरी रिपोर्ट

    सीएम योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद जिले के जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय निर्देशित करते हुए कहा कि राहत कार्य में घायलों को तत्कार इलाज कराने के साथ ही। इस पूरी घटना की एक रिपोर्ट तत्काल शासन को उपलब्ध करवा दे। ताकि, इस दुखद घटना के पीछे के कारणों को जाना जा सके। साथ ही इसमें जिम्मेदारों का जवाबदेही भी सुनिश्चित की जा सके। सीएम ने कहा कि घटना अतिदुखद है। कहा कि मेरी शोकसंतप्त परिजनों के प्रति पूरी संवेदना है। कहा कि राज्य सरकार पीड़ित परिवारों के साथ खड़ी है। हर संभव सहायता की जाएंगी।

    अबतक हुई 19 लोगों की मौत, बढ़ सकती है संख्या

    गाजियाबाद जिले के मुरादनगर थाना क्षेत्र के उखरानी/बम्बा रोड पर स्थित श्मशान घाट का लेंटर रविवार (03 जनवरी, 2021) को गिर गया। इस हादसे में करीब डेढ़ दर्जन लोग लेंटर के नीचे दब गए। हादसे की सूचना पर जिला प्रशासन के अलावा एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंच गई और राहत-बचाव कार्य में जुट गई है। बताया जा रहा है कि एमएमजी जिला अस्पताल में 15 शव पहुंच चुके है। तो वहीं, चार शव सीएचसी मुरादनगर पहुंचे गए है। अभी ऐसी आशंका जताई जा रही है कि मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है। तो वहीं, एसएसपी गाजियाबाद ने बताया कि 25 से ज्यादा लोग को मलबे के नीचे से निकालकर इलाज के लिए सीएचसी, आईटीएस कॉलेज और एमएमजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

    अभी जारी है रेस्क्यू ऑपरेशन

    बता दें, दयानंद कॉलोनी निवासी दयाराम की रात को बीमारी के चलते मौत हो गयी थी। उनके अंतिम संस्कार में 100 से ज्यादा मोहल्लेवासी व रिश्तेदार शामिल हुए थे। अंतिम संस्कार की अंतिम प्रक्रिया चल रही थी। तभी बारिश की वजह से ये लोग छत के नीचे खड़े हो गए थे तभी श्मशान घाट का लेंटर भरभराकर गिर गया। चीख पुकार के बीच कुछ लोग उसके अंदर ही मलबे में दब गए जबकि कुछ ने दौड़कर अपनी जान बचाई। वहीं, घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए क्रेन भी बुलाई है। पुलिस के मुताबिक, अभी भी दर्जन भर से ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका है। तो वहीं, बारिश के कारण बचाव अभियान में दिक्कत आ रही है। वहीं, डिविजनल कमिश्नर, मेरठ अनीता सी मेश्राम की मानें तो इस मामले में जांच शुरू कर दी है। दोषियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी।

    ये भी पढ़ें:- Ghaziabad: श्मशान घाट की छत का लेंटर गिरने से 19 से ज्यादा लोगों की हुई मौत, दर्जन भर लोग मलबे में दबे

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Yogi Adityanath takes cognizance of roof collapse incident in Muradnagar
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X