• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

CAA: क्लॉक टावर पर प्रदर्शन कर रही एक और महिला की मौत, सपा ने परिजनों को दी 2 लाख की मदद

|

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ यूपी की राजधानी लखनऊ के क्लॉक टावर पर 17 जनवरी से दिल्ली के शाहीन बाग की तरह धरना प्रदर्शन चल रहा है। इस प्रदर्शन में शामिल होने शुरू से ही आ रही 55 साल की फरीदा की मौत हो गई है। बारिश में भीगने की वजह से फरीदा बीमार हो गई थी। उनको अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन इलाज के दौरान रविवार को उन्होंने दम तोड़ दिया। इससे पहले 20 साल की बीए छात्रा तैयबा की भी मौत हो गई थी।

Woman protesting agaisnt caa in lucknow died

क्लॉक टावर पर प्रदर्शन के लिए प्रशासन ने टेंट लगाने की अनुमति नहीं दी थी तो प्रदर्शनकारी यहां बिना टेंट के ही धरना दे रहे हैं। फरीदा और तैयबा के घर पर उनके परिजनों से समाजवादी पार्टी के नेता मिलने गए और घटना पर दुख जताया। सपा नेता जूही सिंह के नेतृत्व में गए प्रतिनिधिमंडल ने दोनों महिलाओं के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक मदद भी दी। क्लॉक टावर पर प्रदर्शन कर रही महिलाएं भी दोनों की मौत से दुखी हैं।

क्लॉक टावर पर प्रदर्शनकारियों ने फरीदा को श्रद्धांजलि दी और कहा कि वह यहां नियमित आती थीं और रात में भी कई बार रुकती थीं। महिलाओं ने फरीदा के बारे में कहा कि उनकी जैसी महिलाओं की वजह से ही नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जिंदा है। अखिलेश यादव ने भी दोनों महिलाओं की मौत पर शोक व्यक्त किया है।

CAA-Delhi violence: मोदी सरकार का विरोध करने पर इस मुस्लिम समुदाय में दो फाड़

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Woman protesting agaisnt caa in lucknow died
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X