डेंगू का कहर- लखनऊ में लोग पलायन को मजबूर, प्रदेश में 100 से अधिक मौतें

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। पूरे उत्तर प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनिया का खौफ अपना पैर पसार चुका है। हजारों संख्या में लोग अस्पताल में भर्ती हैं। प्रदेश की राजधानी का आलम यह है कि सरकारी अस्पताल से लेकर प्राइवेट अस्पताल डेंगू के मरीजों से खचाखच भरे पड़े हैं, नए मरीजों को बेड तक नहीं मिल रहा है।

dengue

OMG! पैदा हुआ दुनिया का पहला ऐसा बच्चा, जिसे तीन लोगों ने मिलकर दिया जन्म

अस्पतालों में नहीं है मरीजों के लिए बेड

बलरामपुर अस्पताल, सिविल अस्पताल, लोहिया अस्पताल और विवेकानंद अस्पताल में नए डेंगू के मरीजों के लिए बेड खाली नहीं है।

वहीं प्राइवेट अस्पतालों पर नज़र डालें तो शेखर अस्पताल में मरीजों को भर्ती कराने के लिए लोगों को लंबी लाइन लगानी पड़ रही है। 

बैंक अलर्ट के बावजूद अब तक नहीं बदला अपना ATM पिन तो जल्दी करें, जानें बदलना क्‍यों है जरूरी?

प्लेटलेट्स का कोई इंतजाम नहीं 

डेंगू के मरीजों को जो सबसे बड़ी दिक्कत है वह यह कि लोगों को प्लेटलेट्स और ब्लड डोनर मिलने में खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं जो लोग अपना डोनर लेकर आ भी रहे हैं उन्हें डोनेशन में पूरा का पूरा दिन लग जा रहा है।

100 से अधिक मौत

डेंगू से पूरे यूपी में मरने वालों की संख्या 100 के पार पहुंच चुकी है, बावजूद इसके प्रदेश सरकार के कान खड़े नहीं हो रहे हैं और अस्पतालों में इसके लिए पुख्ता इंतजाम की हर जगह कमी देखी जा रही है।

प्रशासन लापरवाह

पिछले दो दिनों 150 से अधिक मरीजों में डेंगू पॉजिटिव पाया गया है, मौसम में नमी इस बीमारी को और बढ़ाने का काम कर रहा है। लेकिन इन सब आंकड़ों से बेखबर स्वास्थ्य विभाग इस सच्चाई से मुंह मोड़ रहे हैं, अधिकारियों का कहना है कि समस्या गंभीर थी लेकिन अब बेहतर है। लेकिन यूपी में डेंगू मरीजों की संख्या 1366 पहुंच गई है, जिसमें बड़ी संख्या में बच्चे और बुजुर्ग शामिल हैं।

लखनऊ में शुरु हुआ पलायन

लखनऊ के फैजुल्लागंज इलाके का यह हाल है कि यहां 200 से अधिक लोगों को डेंगू हैं और लोगों ने पूरा इलाका खाली कर दिया है, लोग अब यहां से दूसरी जगह जा चुके हैं।

फैजुल्लागंज में जगह-जगह कूड़ा डालने व पानी जमा होने की वजह से बड़ी संख्या में मच्छर पल रहे है जिसके चलते लोगों में डेंगू एक महामारी की तरह फैल गया है।

डेंगू से निपटने के लिए सिर्फ 85 लोग

हालांकि प्रशासन ने कुछ जगहों पर फॉगिंग शुरु की है लेकिन जिस तरह की महामारी फैली है उस लिहाज से यह प्रयास

काफी नहीं हैं। लखनऊ में निगम ने सिर्फ 85 लोगों को इसके लिए नियुक्त किया है।

इन इलाकों में सबसे अधिक खतरा

लखनऊ नगर निगम ने शहर के 15 इलाकों को डेंगू प्रभावित जोन घोषित किया है। जिसमें मुख्य रूप से फैजुल्लागंज, जानकीपुरम, चित्रगुप्तनगर, सरोजनीनगर, शारदानगर, कश्मीरी मोहल्ला, न्यू हैदरगंज, इस्माइलगंज और कन्हैया माधोपुर हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Dengue has turned epidemic in Lucknow death toll crosses 100 in UP. People of Lucknow has migrated from many areas in Lucknow.
Please Wait while comments are loading...