• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

विकास दुबे के पकड़े जाने पर अखिलेश ने योगी सरकार से किया सवाल- आत्मसमर्पण है या गिरफ्तारी

|

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार होने वाले विकास दुबे की गिरफ्तारी योगी सरकार से यह सवाल किया है कि उसने सरेंडर किया है या पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है। ट्वीट करते हुए अखिलेश यादव ने लिखा कि ख़बर आ रही है कि 'कानपुर-काण्ड' का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है। अगर ये सच है तो सरकार साफ़ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी। साथ ही उसके मोबाइल की सीडीआर सार्वजनिक करे जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके।

अखिलेश ने ट्वीट कर योगी सरकार से पूछा सवाल

अखिलेश ने ट्वीट कर योगी सरकार से पूछा सवाल

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने गुरुवार को ट्वीट योगी सरकार से सवाल किया है। उन्होंने कहा कहा, 'खबर आ रही है कि ‘कानपुर-काण्ड' का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है। अगर ये सच है तो सरकार साफ़ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी। इसके साथ ही उसके मोबाइल की CDR सार्वजनिक करे जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके।'

विकास ने मीडिया को भी बुलाया

विकास ने मीडिया को भी बुलाया

दरअसल, दुर्दांत अपराधी और पांच लाख रुपए का इनामी विकास दुबे गुरुवार की सुबह उज्जैन से गिरफ्तार किया है। वो 9 बजकर 55 मिनट पर महाकाल मंदिर पहुंचा। इसके बाद विकास दुबे ने महाकालेश्वर मंदिर की पर्ची भी कटाई और महाकाल मंदिर परिसर में पहुंचा। परिसर में पहुंचकर चिल्लाने लगा कि मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला...। इस दौरान स्थीन मीडिया भी पहुंच गई। बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने बकायदा सरेंडर की सूचना स्थानीय मीडिया और पुलिस को दी थी। हलांकि कलक्टर का दावा है कि सुरक्षाकर्मियों ने उसे पहचान लिया जिसके बाद वो पकड़ा गया। विकास दुबे की गिरफ्तारी की खबर मिलते ही यूपी एसटीएफ की टीम उज्जैन रवाना हो गई है।

मीडिया के सामने चिल्लाया-मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला...।

मीडिया के सामने चिल्लाया-मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला...।

विकास दुबे की गिरफ्तारी का वीडियो सामने आया है जिसमें वह मीडिया को देखकर चिल्ला रहा है कि- मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला...। स्थानीय पुलिस उसे गिरफ्तार कर गाड़ी में ले गई। पुलिस उसे महाकाल थाने ले आई और उससे पूछताछ शुरू कर दी है। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विकास दुबे के पकड़े जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि यह पुलिस के लिए बड़ी सफलता है, विकास दुबे एक क्रूर हत्यारा है। कहा कि उसके मध्य प्रदेश में आने की संभावनाओं के चलते मध्य प्रदेश पुलिस अलर्ट पर थी और उसे आज उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही हमने उत्तर प्रदेश पुलिस को भी सूचित कर दिया है।

यूपी एसटीएफ और 100 टीमें भी नहीं पकड़ पाई विकास दुबे को

यूपी एसटीएफ और 100 टीमें भी नहीं पकड़ पाई विकास दुबे को

बिकरू गांव में 2 जुलाई की रात बिल्हौर सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद विकास दुबे फरार हो गया था। विकास दुबे की तलाश में यूपी एसटीएफ समेत 100 पुलिस टीमों को लगाया गया था। बता दें कि एसटीएफ और पुलिस ने हरियाणा, नेपाल दिल्ली, मध्य प्रदेश और राजस्थान बॉर्डर पर अभियान चलाकर उसकी तलाश करती रही। इतना ही नहीं, फरीदाबाद, नोएडा और दिल्ली में भी विकास की तलाश में लगी रही। लेकिन विकास दुबे पुलिस और यूपी एसटीएफ को गच्चा देकर मध्य प्रदेश के उज्जैन पहुंच गया। जहां पुलिस ने उसे आज गिरफ्तार कर लिया। लेकिन सवाल यह उठाता है कि पूरे प्रदेश को छावनी में तब्दील करने और 100 टीमें लगाने के बाद भी विकास दुबे मध्य प्रदेश का बॉर्डर पार कर उज्जैन कैसे पहुंच गया, उसकी किसने मदद की।

ये भी पढ़ें:- पुलिस को मिली कॉल रिकार्डिंग से हुआ खुलासा, जानिए एक फोन कॉल के बाद विकास दुबे ने कैसे रचा था खूनी चक्रव्यूह?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Akhilesh Yadav questioned Yogi govt on vikas dubey arrest
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X