• search
जम्मू-कश्मीर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Indian Railways:11 महीने बाद कश्मीर के लिए अच्छी खबर, ट्रेन सेवा बहाल करने की तैयारी

|

श्रीनगर: कोरोना वायरस के कहर की वजह से 11 महीने तक बंद रहने के बाद भारतीय रेलवे कश्मीर घाटी में फिर से आंशिक तौर पर ट्रेन सेवा बहाल करने पर विचार कर रहा है। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक यह सेवा फरवरी के आखिरी हफ्ते से दोबारा शुरू हो सकती है। बता दें कि अभी कश्मीर घाटी देश के बाकी हिस्से से रेलवे से नहीं जुड़ पायी है और यह काम भी जल्द पूरा होने की उम्मीद है, लेकिन दक्षिण कश्मीर का बनिहाल, उत्तर कश्मीर के बारामुला से रेलवे लाइन से जुड़ा हुआ है।

Indian Railways:Good news for Kashmir after 11 months, preparations to restore train service

22 फरवरी से कश्मीर में शुरू हो सकती है ट्रेन

उत्तर रेलवे के श्रीनगर स्थित चीफ एरिया मैनेजर साकिब यूसुफ ने रेलवे पुलिस को लिखकर यह जानकारी दी है कि रेलवे बनिहाल से बारामुला तक 137 किलोमीटर की दूरी के बीच आंशिक रूप से ट्रेन सेवा बहाल करना चाहता है। 17 फरवरी को लिखे इस खत में 22 फरवरी से यह सेवा शुरू करने की इच्छा जताई गई है और रेलवे पुलिस से जानकारी मांगी गई है कि यात्री सेवा बहाल करने में उसे कोई आपत्ति तो नहीं है। इस बीच यूसुफ ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा है कि रेलवे 21 फरवरी को अपने फैसले की जानकारी दे देगा। उनके मुताबिक 'हम 21 फरवरी को योजना को अंतिम रूप दे देंगे और फैसला कर लेंगे कि क्या 22 फरवरी को ट्रेन चलेगी। '

Indian Railways:Good news for Kashmir after 11 months, preparations to restore train service

पिछले 19 मार्च से बंद है ट्रेन

कश्मीर में कोविड-19 की वजह से पिछले साल 19 मार्च से ही रेल सेवा निलंबित है। ठंड के दिनों में आमतौर पर इस रूट पर रेलवे की 24 सेवाएं संचालित होती हैं। जिनमें से 8 ट्रेनें शुरू से लेकर आखिर स्टेशनों के बीच चलती हैं। जबकि, बाकी मध्य कश्मीर के बडगाम स्टेशन से ही शुरू होती है और फिर वहीं तक आकर ठहर जाती है। रेलवे की मौजूदा योजना की जानकारी रखने वाले अधिकारियों के मुताबिक फिलहाल बनिहाल से बारामुला के बीच दोनों ओर से एक ट्रेन के संचालन से सेवा बहाल करने पर विचार चल रहा है।

Indian Railways:Good news for Kashmir after 11 months, preparations to restore train service

कश्मीर में पहले भी लंबे वक्त तक ठप रही है रेल

बता दें कि ट्रेन सेवाएं बंद होने से नेशनल ट्रांसपोर्टर को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। जानकारी के मुताबिक कश्मीर में सामान्यतौर पर ट्रेनें पूरी तरह से भरकर निकलती हैं। गर्मियों में यात्रियों की तादाद 35 से 40 हजार के बीच होती है, जबकि सर्दियों में यह संख्या 25 हजार के आसपास होती है। इससे पहले 5 अगस्त, 2019 को जब जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म किया गया था, तब भी ट्रेन सेवाएं बाधित रही थीं और करीब 100 दिनों बाद फिर से पटरी पर दौड़ती नजर आई थीं। उससे पहले 2010, 2014 (दो महीने से ज्यादा)और 2016 में भी क्रमश: प्रदर्शनों, बाढ़ और हिजबुल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद (6 महीने) ट्रेन सेवाएं लंबे वक्त तक ठप हो चुकी हैं।

इसे भी पढ़ें- केरल चुनाव से पहले मेट्रो मैन श्रीधरन की भाजपा सवारी के मायने?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indian Railways:Good news for Kashmir after 11 months, preparations to restore train service
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X