• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

MLA Vs IPS Rajasthan : करौली SP मृदुल कच्छावा के सपोर्ट में आए नेता-अफसर, ट्रांसफर पर रो पड़े थे लोग

|
Google Oneindia News

करौली, 20 अक्टूबर। राजस्थान के करौली जिले में आईपीएस वर्सेज विधायक देखने को मिल रहा है। आईपीएस मृदुल कच्छावा करौली के पुलिस अधीक्षक हैं जबकि पीआर मीणा करौली जिले की टोडाभीम सीट से कांग्रेस विधायक हैं। विधायक ने एसपी के खिलाफ खुलकर मोर्चा खोलकर रखा है जबकि खुद सपी खामोश हैं। एसपी के समर्थन में जनता, अन्य नेता व अफसर आए हैं। हालांकि विधायक का समर्थन करनों वालों की भी कमी नहीं।

टोडाभीम विधायक ने सीएम को लिखा शिकायती पत्र

टोडाभीम विधायक ने सीएम को लिखा शिकायती पत्र

करौली एसपी व टोडाभीम विधायक के बीच पूरा मसला समझने के लिए 16 अक्टूबर को विधायक पीआर मीणा यानी पृथ्वीराज मीणा की ओर से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लिखी गई शिकायती चिट्ठी काफी है। इससे पहले संभवतया विधायक व एसपी के बीच शीत युद्ध चल रहा हो, मगर शिकायती चिट्ठी के बाद से मामला खुलकर सामने आ गया।

 करौली एसपी के तबादले की मांग

करौली एसपी के तबादले की मांग

टोडाभीम एमएलए पीआर मीणा ने पत्र में करौली एसपी मृदुल कच्छावा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। मासिक बंधी का भी जिक्र करते हुए विधायक ने एसपी के तबादले की मांग की थी।

पीआर मीणा के पत्र अभी कोई एक्शन नहीं

पीआर मीणा के पत्र अभी कोई एक्शन नहीं

पीआर मीणा के पत्र के बाद अभी तक राजस्थान सरकार की ओर ना कोई एक्शन लिया और ना ही खुद एसपी ने कुछ बोला। खबर तो ये भी है असल विवाद एक कांस्टेबल व इंस्पेक्टर की पोस्टिंग का था। एसपी ने विधायक की बात नहीं माने तो वे शिकायत करने लगे।

45 डकैत पकड़ने वाले IPS मृदुल कच्छावा के खिलाफ क्यों हुए MLA पीआर मीणा? जानिए असली वजह45 डकैत पकड़ने वाले IPS मृदुल कच्छावा के खिलाफ क्यों हुए MLA पीआर मीणा? जानिए असली वजह

धौलपुर डीएम का करौली एसपी के समर्थन में ट्वीट

विधायक द्वारा शिकायत करने के बाद लोगों ने कलेक्ट्रेट पर विधायक के खिलाफ प्रदर्शन किया। सोशल मीडिया पर भी एसपी के समर्थन में मुहिम चली। धौलपुर जिला कलेक्टर आरके जायसवाल भी इस मुहिम का हिस्सा बनते हुए ट्वीट में लिखा कि 'सत्य प्रताड़ित हो सकता है; पराजित नही। सहज सरल व असाधारण प्रतिभा के धनी #mridul_kachhawa @ips_mridul

ये विधायक भी आए एसपी के समर्थन में

ये विधायक भी आए एसपी के समर्थन में

करौली एसपी के समर्थन में सिर्फ जनता और अफसर ही नहीं बल्कि अन्य कई विधायक भी आए हैं। करौली विधायक लाखन सिंह मीणा, हिंडौन विधायक भरोसीलाल जाटव ​करौली एसपी के कामकाज से संतुष्ट दिखे हैं। दोनों ने ही इनका समर्थन किया। उधर, विधायक पीआर मीणा पत्र के बाद खुद सीएम से मिलकर एसपी की शिकायत करने की बात कर रहे हैं।

IPS Mridul Kachawa एक साल रहे धौलपुर एसपी

IPS Mridul Kachawa एक साल रहे धौलपुर एसपी

आईपीएस मृदुल कच्छावा करौली से पड़ोसी जिले में धौलपुर में एसपी थे। यहां बतौर एसपी इनकी पहली पोस्टिंग थी। लोकडाउन में मृदुल कच्छावा ने शानदार​ किया। इत्तेफाक से इन्हें 8 जुलाई 2019 को धौलपुर में लगाया और 8 जुलाई 2020 को करौली के लिए ट्रांसफर हुआ।

Mridul Kachawa : IPS मृदुल कच्छावा के सपोर्ट में सड़कों पर उतरे लोग, MLA क्यों चाहते इनका ट्रांसफर?Mridul Kachawa : IPS मृदुल कच्छावा के सपोर्ट में सड़कों पर उतरे लोग, MLA क्यों चाहते इनका ट्रांसफर?

जब धौलपुर से हुआ ट्रांफसर तो भर आई लोगों की आंखें

जब धौलपुर से हुआ ट्रांफसर तो भर आई लोगों की आंखें

धौलपुर में कच्छावा ने रियल लाइफ सिंघम की छवि और लोगों के दिलों में जगह बनाई। शायद यही वजह है कि जब ट्रांसफर हुआ तो लोग रो पड़े थे। धौलपुर के लोगों ने इन्हें घोड़े पर बिठाकर बैंडबाजों के साथ नाच-गाकर विदाई दी।

कौन हैं आईपीएस मृदुल कच्छावा?

कौन हैं आईपीएस मृदुल कच्छावा?

नाम - मृदुल कच्छावा

जन्म - 30 अगस्त 1989
निवासी - गंगाशहर बीकानेर व जयपुर
शिक्षा - अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में मास्टर डिग्री, बीकॉम, सीए, सीएस
रैंक - यूपीएससी 2015 में 216वीं
पत्नी - कनिका सिंह
सर्विस - एएसपी भीलवाड़ा, सूरतगढ़ श्रीगंगानगर, सीओ गंगानगर ग्रामीण, एसपी एसीबी अजमेर, धौलपुर व करौली

घुड़सवारी का शौक रखते हैं आईपीएस मृदुल कच्छावा

घुड़सवारी का शौक रखते हैं आईपीएस मृदुल कच्छावा

बता दें कि मृदुल कच्छावा राजस्थान पुलिस के युवा आईपीएस अधिकारियों में से एक हैं। इन्हें घुड़सवारी का काफी है। ये अक्सर घुड़सवारी करते नजर आते हैं। इंस्टग्राम पर इनकी घुड़सवारी की अनेक तस्वीरें मौजूद हैं।

 चंबल से डकैतों का खात्मा

चंबल से डकैतों का खात्मा

आईपीएस मृदुल कच्छावा नीडर हैं। इस बात का सबूत है इनका धौलपुर एसपी का कार्यकाल। धौलपुर एसपी रहते हुए मृदुल कच्छावा ने चंबल बीहड़ के डकैतों के खिलाफ विशेष अभियान चलाया। खुद एके-47 लेकर अपनी टीम के साथ बीहड़ में उतरे। महज 11 माह में ही धौलपुर से 45 डकैतों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की।

PremSukh Delu IPS : संघर्ष, मेहनत और कामयाबी का दूसरा नाम है प्रेमसुख डेलू, पटवारी से बने आईपीएसPremSukh Delu IPS : संघर्ष, मेहनत और कामयाबी का दूसरा नाम है प्रेमसुख डेलू, पटवारी से बने आईपीएस

Comments
English summary
MLA Vs IPS Rajasthan Leaders and officers came in support of Karauli SP Mridul Kachhawa
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X