• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

सरकारी स्कूलों में दलित बच्चों को अलग बैठाकर मिलता है मिड डे मील का खाना, अनुसूचित जाति आयोग ने मांगी रिपोर्ट

Google Oneindia News

जयपुर, 22 अगस्त। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को राजस्थान के स्कूलों में मिड डे मील परोसने में कथित भेदभाव की शिकायत मिली है। आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला ने रविवार को कहा कि हमें राजस्थान में स्कूलों में मध्यान्ह भोजन के दौरान अनुसूचित जाति के बच्चों को अलग बैठाए जाने की सूचनाएं मिल रही है और वहां सामान्य श्रेणी के बच्चों को अलग बैठाया जाता है। सांपला ने कहा कि रविवार को ऑल इंडिया एससी-एसटी वेलफेयर एसोसिएशन फेडरेशन के एक कार्यक्रम में उन्हें इस बारे में बताया गया तो उन्होंने उन स्कूलों की लिस्ट भी मांगी है। जहां ऐसा हो रहा है। सांपला ने जयपुर में मीडिया से बातचीत में दावा किया कि उन्हें कार्यक्रम के दौरान एक बात और बताई गई कि मिड डे मील के लिए अनुसूचित जाति के लोगों से खाना बनवाने का काम नहीं लिया जा रहा है। इसकी सच्चाई जानने और पुष्टि के लिए रिपोर्ट मांगी गई है।

vijaysinghsanpla

Rajasthan : मौसम विभाग का प्रदेश में भारी बारिश का अनुमान, सीएम गहलोत ने की आमजन से सतर्क रहने की अपीलRajasthan : मौसम विभाग का प्रदेश में भारी बारिश का अनुमान, सीएम गहलोत ने की आमजन से सतर्क रहने की अपील

आयोग अन्य राज्यों को भी लिख रहा पत्र

अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला ने कहा कि अगर ऐसा सरकारी स्कूलों में हो रहा है तो यह बहुत बुरी बात है और निंदनीय भी है। सांपला ने कहा कि आयोग देश के अन्य राज्यों को भी पत्र लिख रहा है कि जब स्कूलों को मान्यता दी जाती है तो उसमें उस स्कूल प्रबंधन से अनुसूचित जाति के प्रति जागरूकता का शपथ पत्र भी लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्कूलों में भेदभाव नहीं होना चाहिए और शिक्षकों को भी इस संबंध में प्रशिक्षित किया जाना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। आयोग जयपुर में 24- 25 अगस्त को सभी विभागों के साथ विभिन्न मुद्दों की समीक्षा बैठक करेगा।

vijaysinghsanpla

आयोग ने माना मटकी से पानी पीने पर हुई घटना

राजस्थान के जालौर में शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत पर राष्ट्रीय एससी आयोग ने माना है कि मटके से पानी पीने पर यह घटना हुई है। आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला ने जयपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि राज्य सरकार की कार्रवाई संतोषप्रद है। आयोग आगे भी इस पूरे मामले पर अपनी निगरानी रखेगा। सांपला ने कहा कि बच्चे की मौत को लेकर शुरुआत में अलग बातें सामने आई और बाद में उसमें कुछ बदलाव भी सुनने में आया। लेकिन घटना मटके का पानी पीने के कारण ही हुई है और यह बात प्रारंभिक जांच में सामने आई है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में दलित अत्याचारों की कई घटनाएं आयोग के सामने आती रहती है। जिस पर राजस्थान सरकार और पुलिस महकमे को नोटिस भी जारी किए जाते हैं। लेकिन इसका जवाब नहीं मिलता।

vijaysinghsanpla

Comments
English summary
In government schools, Dalit children sit separately and get mid-day meal food, scheduled caste commission seeks report
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X