• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

'जनता कर्फ्यू' के चलते बिना बारात के पहुंचा दूल्हा, बंद कमरे में मास्क लगाकर लिए 7 फेरे

|

जयपुर। कोरोना वायरस के कारण न केवल लोग इससे संक्रमित हो रहे हैं बल्कि शादी समारोह भी खासे प्रभावित हो रहे हैं। कई लोगों ने तो शादियां कैंसल तक कर दी। वहीं, राजस्थान के जयपुर के कोरोना वायरस के खौफ के बीच एक बंद कमरे में शादी हुई, जिसमें चुनिंदा लोग ही शामिल हुए और दूल्हा-दुल्हन समेत सभी मास्क का इस्तेमाल कर रखा था।

jaipur

जानकारी के अनुसार जयपुर के ब्रह्मपुरी निवासी राजेश की शादी दो माह पहले ही 22 मार्च को तय कर दी गई थी, मगर कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 22 मार्च को 'जनता कर्फ्यू' का ऐलान कर लोगों से सुबह सात से रात नौ बजे तक घरों में ही रहने की घोषणा कर दी।

राजस्थान में एक लाख लोगों को क्वारंटाइन करने की तैयारी, सरकार ने जारी किए ये निर्देश

ऐसे में राजेश रविवार को बिना बारात के ही शादी करने निकला। दूल्हे ने कहा कि कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए सामाजिक दूरी बनाने की जरूरत है। बारात ले जाने से सड़क पर भीड़ जमा होती, लेकिन वो कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उठाए गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कदम का समर्थन करते हैं।

बेवजह घरों से बाहर निकलने वालों को राजस्थान पुलिस 'समाज का दुश्मन' पोस्टर देकर कर रही जागरूक

वहीं दूल्हे के पिता और भाई ने बताया कि हिंदू मान्यताओं के अनुसार शादी की तारीख आगे नहीं बढ़ाई जा सकती थी। ऐसे में वधू पक्ष से बातचीत के बाद निर्धारित समय पर ही शादी करना तय किया गया। इसके साथ ही यह भी निर्णय लिया गया कि कोरोना संक्रमण काल के खत्म होने के बाद प्रीतिभोज का आयोजन किया जाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Due to 'Janata curfew' bride groom took 7 phere by putting mask in closed room
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X