• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Coronavirus: साल 2011 की सुनामी के बाद जापान में आर्थिक मंदी, खो सकता है तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था का दर्जा

|

टोक्‍यो। दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था जापान मंदी के दौर में पहुंच गई है। आर्थिक विशेषज्ञों ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से अभी चीजें और बुरी होने वाली हैं। जनवरी से मार्च तक जापान की अर्थव्‍यवस्‍था में पिछले तिमाही की तुलना में 0.9% की गिरावट देखी गई है। सोमवार को सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों में इस बात की पुष्टि की गई है।

यह भी पढ़ें-चीन ने मानी कोरोना के सैंपल्‍स को नष्‍ट करने की बात

3.4 प्रतिशत की गिरावट का अंदेशा

3.4 प्रतिशत की गिरावट का अंदेशा

रेफाइनिटिव पोल में अनुमान लगाया गया था कि अर्थव्‍यवस्‍था में 1.2 प्रतिशत की गिरावट हो सकती है। ऐसे में आंकड़ें थोड़े बेहतर हैं। लेकिन लगातार दूसरी तिमाही में गिरावट की वजह से जापान आर्थिक मंदी में पहुंच गया है। अभी इसके हालात और बुरे होने वाले हैं क्‍योंकि वार्षिक दर में करीब 3.4 प्रतिशत की गिरावट का अंदाजा लगाया गया है। महामारी से पहले भी जापान की अर्थव्‍यवस्‍था कुछ बिगड़ी हुई थी। पिछले वर्ष के अंत में ही आर्थिक गतिविधियों की रफ्तार में कुछ कमी दर्ज की गई थी। देश में पिछले वर्ष सेल्‍स टैक्‍स को बढ़ाया गया और इसके बाद तूफान हगीबिस ने भी देश के हालातों को बद से बदतर कर दिया। यह तूफान पिछले वर्ष ही आया था।

अभी और बुरे नतीजे आने बाकी

अभी और बुरे नतीजे आने बाकी

साल 2020 की शुरुआत में जब वायरस फैलना शुरू हुआ तो विश्‍लेषकों ने आगाह किया था कि पहली तिमाही पूरी तरह से महामारी के चपेट में होगी। अर्थशास्‍त्री टॉम लीयरमाउथ ने जापान इकोनॉमिस्‍ट फॉर कैपिटल इकोनॉमिक्‍स में लिखा है, 'पहली तिमाही में आउटपुट में तेजी से गिरावट इस तरफ इशारा है कि मार्च के माह में आर्थिक गतिविधियों की गति में गिरावट आएगी।' उन्‍होंने आगाह किया है कि अभी दूसरी तिमाही में इससे भी बुरा नतीजा आने वाला है। लीयरमाउथ ने अंदेशा जताया है कि तिमाही दर तिमाही 12 प्रतिशत तक की गिरावट हो सकती है।

नौ साल बाद आया बुरा दौर

नौ साल बाद आया बुरा दौर

जापान की अर्थव्‍यवस्‍था में निजी उपभोग का सबसे ज्‍यादा योगदान है और इसमें 0.7 प्रतिशत तक की गिरावट देखी गई है। यह गिरावट उस समय दर्ज हुई थी जब सरकार ने देश में इमरजेंसी घोषित की और इसकी वजह से रेस्‍टोरेंट्स से लेकर रिटेल सेक्‍टर तक को बंद करना पड़ गया था। लीयरमाउथ की मानें तो यह शुरुआत थी अप्रैल और मई के नतीजे और भी बुरे होंगे। जापान की अर्थव्‍यवस्‍था में निर्यात का योगदान करीब 16 प्रतिशत है। पहली तिमाही में यह सिकुड़ कर छह प्रतिशत पर पहुंच गया। साल 2011 में जब सुनामी और भूकंप आया था तो उस समय निर्यात को इतना बड़ा झटका झेलना पड़ा था।

सरकार ने दिया एक ट्रिलियन डॉलर का पैकेज

सरकार ने दिया एक ट्रिलियन डॉलर का पैकेज

जापान की सरकार की तरफ से पहले ही अर्थव्‍यवस्‍था को उबारने के लिए एक ट्रिलियन डॉलर का पैकेज घोषित किया जा चुका है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे का मंत्रिमंडल इस माह के अंत में कुछ और कदमों के बारे में ऐलान कर सकता है। पीएम आबे ने पिछले दिनों देश के 47 में से 39 प्रांतों से इमरजेंसी लगाई गई थी, उसे हटा लिया गया है। हालांकि राजधानी टोक्‍यो और ओसाका में अभी इमरजेंसी जारी है। उन्‍होंने कहा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबंधों में ढील देनी जरूरी है। वह चाहते हैं कि देश में अर्थव्‍यवस्‍था और बीमारी से बचाव के बीच में एक संतुलन कायम रहे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
World's 3rd largest economy Japan just fell into recession due to Coronavirus pandemic.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X