• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'क्या रूस छोटा पड़ रहा है?', घर पर गिरा रूसी बम तो भीगी आंखों से 82 साल की यूक्रेनी महिला ने पूछा सवाल

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 24 मई: रूस-यूक्रेन के बीच जंग जारी है। युद्ध में कई नागरिकों की मौत हो गई। रूस लगातार यूक्रेन पर बम बरसा रहा है। इस बीच मंगलवार को एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने इंसानियत को झकझोर के रख दिया है। यूक्रेन के बखमुट में 82 वर्षीय मारिया मायाशलापक के घर पर रूसी बम गिरने से बुजुर्ग महिला गंभीर रूप से घायल हो गई हैं। बम गिरने से उनका घर पूरी तरह से जल गया।

पूजा करते वक्त गिरा बम

पूजा करते वक्त गिरा बम

मारिया मायाशलापक ने कड़े शब्दों में कहा कि भगवान मेरी दशा को सुन और देख रहे हैं। मैं खंडहरों के बीच रहने को मजबूर हूं। समाचार एजेंसी एएफपी को उन्होंने बताया कि मैं सुबह में भगवान से प्रार्थना कर रही थी कि मुझे घायल होने से बचाएं उसी वक्त रूस का बम मेरे घर पर गिर गया। हवाई फायरिंग से घर में आग लग गई। बम घर के किचन पर गिरा था। जिससे मेरा पूरा घर तबाह हो गया। मैं अब खंडरों मे रह रही हूं।

रूस क्यों कर रहा लोगों की हत्या

रूस क्यों कर रहा लोगों की हत्या

मारिया बताती हैं कि वे युद्ध समाप्त होने के लिए प्रतिदिन प्रार्थना करती हैं। मैं भगवान से पूछती हूं कि वे क्या चाहते हैं? क्या रूस उनके लिए काफी बड़ा नहीं है? वे लोगों को क्यों मार रहे हैं? मैं भगवान से रूस को कारण बहाल करने के लिए कहती हूं।

जले लकड़ी के खंभे और मिट्टी के ढेर रह गए

जले लकड़ी के खंभे और मिट्टी के ढेर रह गए

एएफपी द्वारा साझा किया गया वीडियो न केवल मारिया के घर बल्कि उसके पड़ोसियों और समुदाय के अन्य लोगों की भी तबाही को बताता है। फायरिंग में पूरे घर बर्बाद हो गए हैं और केवल जले हुए लकड़ी के खंभे और मिट्टी के ढेर रह गए हैं।

दिल दहला देने वाला दृश्य

दिल दहला देने वाला दृश्य

एएफपी के वीडियो में दिल दहला देने वाले दृश्य बमबारी वाली इमारतों को दिखाते हैं। कंक्रीट और धातु के मुड़े हुए टुकड़े, फटे हुए किनारे और टूटी हुई खिड़कियां दिखाई दे रही हैं। अंदर आप रसोई, स्नानघर और रहने वाले कमरे देख सकते हैं।

बखमुट पर कब्जा करने के लिए कई दिनों से लड़ रहा रूस

बखमुट पर कब्जा करने के लिए कई दिनों से लड़ रहा रूस

बखमुत के डिप्टी मेयर, मक्सिम सुतकोवोई का कहना है कि लोग अपने घरों और जीवन को छोड़ना नहीं चाहते हैं, भले ही उन्हें मौत का सामना करना पड़ता है। रूस बखमुट पर कब्जा करने के लिए कई दिनों से लड़ रहा है, क्योंकि यह पूर्वी यूक्रेन के डोनबास से जुड़ता है, जो अब मास्को के क्रूर युद्ध का केंद्र बिंदु है।

यह भी पढ़ें- 'संस्कृति को मिटाने की कोशिश, इतिहास का सबसे अंधेरा वक्त', 'दोस्त' मोदी के सामने पुतिन पर बरसे बाइडेनयह भी पढ़ें- 'संस्कृति को मिटाने की कोशिश, इतिहास का सबसे अंधेरा वक्त', 'दोस्त' मोदी के सामने पुतिन पर बरसे बाइडेन

Comments
English summary
ukraine 82 years women home destroy by Russian aerial fire Is Russia not big enough for them
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X