ऊबर सीईओ ट्रैविस कैलनिक ने ट्रंप की एडवाइजरी काउंसिल को कहा अलविदा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वॉशिंगटन। नामी टैक्‍सी सर्विस कंपनी ऊबर के सीईओ ट्रैविस कैलनिक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की बिजनेस एडवाइजरी कांउसिल को छोड़ दिया है। कैलनिक ने कहा है कि उनके इस काउंसिल में रहने से लोगों में गलत संदेश जा रहा था। लोगों को लगने लगा था कि वह ट्रंप प्रशासन की नीतियों का समर्थन कर रहे हैं।

ऊबर-सीईओ-ट्रैविस-कैलनिक-डोोनाल्‍ड-ट्रंप

बढ़ रहा था गुस्‍सा

कैलनिक ने अपने स्‍टाफ को एक ज्ञापन भेजा है और इसी ज्ञापन में उन्‍होंने इस बात की जानकारी दी है। कैलनिक जबसे इस एडवाइजरी काउंसिल में आए तो उनके और कंपनी के लिए लोगों में नाराजगी बढ़ गई थी। लोगों में यह संदेश गया कि ऊबर राष्‍ट्रपति ट्रंप और उनकी नीतियों का समर्थन करता है। इसकी वजह से ट्रंप के विरोधी सिलेब्रिटीज और बाकी लोग सोशल मीडिया पर लोगों से अपील करने लगे कि वे फोन से ऊबर एप को अनइन्स्टॉल कर दें। कैलनिक शुक्रवार को एक मीटिंग में राष्‍ट्रपति ट्रंप की स्ट्रैटिजिक एंड पॉलिसी फोरम को ज्‍वॉइन करने वाले थे। इस ग्रुप में वॉलमार्ट, वॉल्ट डिज्नी, पेप्सिको के अलावा इंटरनेशनल बिजनेस मशीन्स कॉर्प और टेस्ला इंक जैसी टेक्नॉलजी कंपनियों के सीईओ भी शामिल हैं। कैलनिक ने कहा कि उन्होंने ट्रंप को बता दिया है कि वह इस ग्रुप से निकल रहे हैं।कैलनिक ने लिखा, 'ग्रुप ज्‍वॉइन करने का मतलब राष्ट्रपति या उनके एजेंडे से सहमती रखना नहीं था, लेकिन दुर्भाग्य से बिल्कुल ऐसा ही गलत संदेश गया।' ट्रंप के सात मुसलमान देशों को ज्‍वॉइन करने वाले आदेश के बाद लोगों में कैलनिक को लेकर गुस्‍सा बढ़ गया था।

अब टेस्‍ला को लेकर गुस्‍सा

जहां ऊबर ने इस बिजनेस एडवाइजरी काउंसिल को छोड़ दिया है तो वहीं टेस्‍ला और स्‍पेसएक्‍स के सीईओ एलन मस्‍क अभी तक इस काउंसिल में हैं। हालांकि मस्‍क ने पिछले दिनों राष्‍ट्रपति ट्रंप की नीतियों की आलोचना जरूर की थी। मस्‍क ने इससे जुड़ा एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में उन्‍होंने कहा है कि इस काउंसिल में रहने की वजह से वह राष्‍ट्रपति ट्रंप के करीब हो पाएंगे और मानवता के मकसद को पूरा करके वह कई हजारों लोगों के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा कर पाएंगे।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UBER CEO Travis Kalanick resigned from President Donald Trump's advisory council.
Please Wait while comments are loading...