• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लद्दाख में सेना से मुंह की खाने के बाद चीन ने बॉर्डर पर की मिलिशिया स्‍क्‍वाड की तैनाती

|

नई दिल्‍ली। 29 और 30 अगस्‍त को भारत की सेना से मुंह की खाने के बाद अब चीन ने पूर्वी लद्दाख में बॉर्डर पर पांच मिलिशिया स्‍क्‍वाड को तैनात कर दिया है। सूत्रों की मानें तो चीन ने इस मिलिशिया स्‍क्‍वाड की तैनाती कर दी है। इस समय चीन ने भारत से लगे बॉर्डर पर जिस मिलिशिया स्‍क्‍वाड को तैनात किया है उसे किसी भी पल तुरंत जवाब देने के मकसद से तैनात किया गया है। मिलिशिया की तैनाती पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) की मदद के लिए की गई है। शनिवार की रात चीन की सेना ने पैंगोंग त्‍सो के दक्षिणी हिस्‍से पर कब्‍जे की कोशिशें की थी जिसे सेना और स्‍पेशल फ्रंटियर फोर्स (एसएफएफ) ने फेल कर दिया था।

india-china-tension

यह भी पढ़ें--देमचोक की ऊंची पहाड़‍ियों से चीन के 219 हाइवे पर नजर

    India China Tension: South Pangong में Chinese Tank और PLA की बढ़ी हलचल | वनइंडिया हिंदी

    क्‍या है मिलिशिया स्‍क्‍वाड और इसका रोल

    सूत्रों की तरफ से जो जानकारी दी गई है उसके मुताबिक चीन ने बॉर्डर को मजबूत करने और तिब्‍बत क्षेत्र को स्थिर करने के मकसद से मिलिशिया को डेप्‍लॉय किया है। एक सरकारी अधिकारी की तरफ से बताया गया है, 'मिलिशिया असल में चीन की पीएलए की रिजर्व पुलिस फोर्स है। इस पुलिस फोर्स को युद्ध जैसे हालातों में पीएलए को इसके मिलिट्री ऑपरेशंस में मदद के लिए बुलाया जाता है।' ऑफिसर की मानें तो चीनी मिलिशिया स्‍वतंत्र तौर पर ऑपरेशंस करती है और कॉम्‍बेट सपोर्ट के साथ ही मैनपावर भी पीएलए को मुहैया कराती है। इस फोर्स में पर्वतारोही, बॉक्‍सर्स, स्‍थानीय फाइट क्‍लब्‍स के सदस्‍य और इसी तरह के लोगों की भर्ती की जाती है। स्‍थानीय आबादी में से ही मिलिशिया में भर्तियों को अंजाम दिया जाता है।

    लद्दाख में हाई अलर्ट की स्थिति

    चुशुल में चीन की तरफ से हुए घुसपैठ के प्रयास के बाद भारतीय सेना हाई अलर्ट पर है। सेना ने पैंगोंग त्‍सो के दक्षिण में सभी अहम रणनीतिक पोस्‍ट्स पर कब्‍जा कर लिया है। साथ ही अब लद्दाख से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक अपनी तैनाती को भी मजबूत कर दिया है। आपको बता दें कि शनिवार की रात चीन की पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) ने चुशुल में घुसपैठ की कोशिशें की थी। करीब 500 पीएलए सैनिक, चुशुल में दाखिल हुए थे। लेकिन भारत की सेना ने इन्‍हें खदेड़ दिया है। सेना की तरफ से कहा गया था कि चीन ने लाइन ऑफ एक्‍चुल कंट्रोल (एलएसी) की स्थिति में बदलाव की कोशिशें की हैं। भारत और चीन के बीच तनाव को कम करने के लिए लगातार ब्रिगेड कमांडर स्‍तर की वार्ता जारी है। भारत की सेना ने अब ब्‍लैक टॉप, रेजांग ला पास और रेकिन पास पर अपनी स्थिति को मजबूत कर लिया है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Thwarted by Indian Army along border now China deploys militia squads in eastern Ladakh.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X