'मजे' कि लिए महिलाओं को मारता था चाकू, आधी रात में कामकाजी महिलाएं को बनाता था शिकार, उम्रकैद

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

रावलपिंडी। पाकिस्‍तान में 24 साल के एक युवक को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। उसपर 17 महिलाओं को चाकू मारने और एक ही हत्‍या करने का आरोप है। कोर्ट में पेशी के दौरान युवक ने बताया कि 2016 में उसने रावनपिंडी शहर में इन वारदातों को अंजाम दिया था। जानकारी के मुताबिक युवक का नाम मुहम्मद अली है। कई महीनों तक उसने एक के बाद एक महिलाओं पर हमले कर दहशत फैला रखी थी। मुहम्मद अली ने कहा कि उसे महिलाओं से नफरत थी और उनको चोट पहुंचाकर उसे मजा आता था। विस्‍तार से जानिए पूरा मामला

रात के अंधेरे में निकलता था, कामकाजी महिलाओं को बनाता था निशाना

रात के अंधेरे में निकलता था, कामकाजी महिलाओं को बनाता था निशाना

मुहम्मद उन्हीं महिलाओं को अपनी वारदात को शिकार बनाता था जो ज्यादतर कामकाजी महिलाएं हुआ करती थीं। वह अपनी इस अपराध को रात के अंधेरे में अंजाम दिया करता था। उस वक्त जब सड़कों पर लोगों की भीड़ कम होती थी। वह रसोई में इस्तेमाल होने वाले चाकू से महिलाओं पर वार करता था

मजे के लिए करता था हमला

मजे के लिए करता था हमला

पाकिस्तान के एक प्रसिद्ध अखबार की रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने इस मामले में बताया कि वह महिलाओं को मजे लेने के लिए अपना निशाना बनाता था। जिसके चलते ही लोग काफी दहशत में आ गए थे। सबसे हैरान करने वाली बात तो यह थी कि वह फिल्मों से प्रेरित होकर इन खतरनाक घटनाओं को अंजाम दिया करता था।

पुलिस ने जारी किया था स्‍केच

पुलिस ने जारी किया था स्‍केच

लगातार हो रही ऐसी वारदातों से परेशान होकर ही पुलिस ने सीरियल चाकूबाज मुहम्मद अली का स्केच जारी किया था। मुहम्मद के हमले का शिकार हुई 26 वर्षीय नर्स अनुम नाज ने अस्पताल में दम तोड़ दिया था। हमलावर ने अनुम को उस वक्त निशाना बनाया था, जब वह हॉस्टल जा रही थीं। इस हमले में उनकी सहकर्मी भी बुरी तरह घायल हो गई थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A serial knife attacker who claims he stabbed at least 17 women killing one in Rawalpindi in 2016 was handed a life sentence on Friday.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.