• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

आज जापान की यात्रा पर जाएंगे पीएम मोदी, शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होंगे

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली/टोक्यो, 26 सितंबर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज जापान (PM Modi Japan Visit) के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार (ex PM Shinzo Abe state funeral) में शामिल होने के लिए जापान दौरे पर जाएंगे। पीएम मोदी बुडकोन में राजकीय अंतिम संस्कार समारोह में शामिल होंगे। विदेश सचिव विनय क्वात्रा ने इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा, अंतिम यात्रा में शामिल होने के बाद पीएम टोक्यो के अकासाका पैलेस भी जाएंगे। पूर्व पीएम शिंजो आबे पीएम मोदी के बेहद करीबी मित्र थे।

शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होंगे पीएम मोदी

शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होंगे पीएम मोदी

जापानी सरकार के मुताबिक शिंजो आबे का अंतिम सरकार 27 सितंबर को राजधानी टोक्यो के किटानोमारू नेशनल गार्डन में निप्पॉन बुडोकन में होगा। विदेश सचिव विनय क्वात्रा ((Foreign Secretary Vinay Kwatra) ने बताया कि अपने जापान दौरे के क्रम में पीएम मोदी अपने जापानी समकक्ष फुमियो किशिदा और आबे की पत्नी से भी मुलाकात करेंगे। क्वात्रा ने कहा कि 20 से अधिक राष्ट्राध्यक्षों और सरकार के प्रमुखों सहित 100 से अधिक देशों के प्रतिनिधियों के कल (मंगलवार) आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में भाग लेने की उम्मीद है।

भारत-जापान दोस्ती में शिंजो की भूमिका अहम रही

भारत-जापान दोस्ती में शिंजो की भूमिका अहम रही

क्वात्रा ने कहा, 'पीएम मोदी की यह यात्रा उनके लिए पूर्व पीएम आबे की स्मृति को सम्मानित करने का एक अवसर है, जिन्हें वह एक प्रिय मित्र और भारत-जापान संबंधों को और अधिक मजबूती देने वाले नेता मानते थे।'विदेश सचिव ने कहा कि आबे ने भारत-जापान संबंधों को गहरा करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया, मुख्य रूप से आर्थिक संबंधों को व्यापक, और रणनीतिक साझेदारी में बदल दिया।

क्वाड निर्माण में शिंजो की भूमिका को भुलाया नहीं जा सकता

क्वाड निर्माण में शिंजो की भूमिका को भुलाया नहीं जा सकता

शिंजो आबे ने अपने कार्यकाल के दौरान क्वाड (Quad) का निर्माण करने में बड़ी प्रमुख भूमिका निभाई थी। 2007 में भारतीय संसद में उनके प्रसिद्ध 'दो समुद्रों का संगम' भाषण ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र को एक समकालीन राजनीतिक, रणनीतिक और आर्थिक वास्तविकता के रूप में उभरने की नींव रखी। शिंजो आबे का भारत से गहरा नाता रहा है। वे अपने प्रधानमंत्री कार्यकाल में सबसे ज्यादा बार भारत आने वाले जापानी प्रधानमंत्री रहे। जापान और भारत के बीच गहरी दोस्ती होने और जापान को भारत का आर्थिक सहयोगी बनाने में शिंजो आबे की भूमिका अहम रही है। उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से एक 'पद्म विभूषण' सम्मान से नवाजा जा चुका है।

कब हुई थी आबे की हत्या?

कब हुई थी आबे की हत्या?

शिंजो आबे की 8 जुलाई को जापान के नारा शहर में तब गोली मारकर हत्या कर दी गई जब वह एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे। गोली लगने के तुरंत बाद उनको अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उनको बचाया नहीं जा सका। हमलावर ने जब गोली चलाई उसके तुरंत बाद सुरक्षाकर्मियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया था।

(File Photos-Credit: PTI)

ये भी पढ़ें : शिंजो आबे को नहीं, किसी और को मारना चाहता था हत्यारा, जानिए कैसे बदला प्लान?

Comments
English summary
Hours ahead of Prime Minister Narendra Mod's visit to Japan to attend ex-PM Shinzo Abe's state funeral, foreign secretary Vinay Kwatra said this trip is an opportunity for PM Modi to honour the memory of his dear friend and the champion of the India-Japan ties.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X