• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

FIFA वर्ल्ड कप में ईरान की हार पर जश्न मनाना नहीं आया रास, पुलिस ने फुटबॉलर के दोस्त को मारी गोली

अमेरिका के साथ खेली ईरान की फुटबॉल टीम में शामिल खिलाड़ी सईद इजातोलाही का चौंकाने वाला बयान भी सामने आया है। सईद ने इंस्टाग्राम पर लिखा है कि वह समक को जानते थे।
Google Oneindia News

कतर में इन दिनों फीफा वर्ल्ड कप चल रहा है। इसमें अमेरिका ने ईरान को हराकर उसे वर्ल्ड कप से बाहर कर दिया है। आमतौर पर जब किसी देश की टीम किसी मैच में जीत हासिल करती है तो उस देश में जमकर जश्न मनाया जाता है लेकिन ईरान में इसका उल्टा देखने को मिला। ईरान के लोगों ने फीफा में अपनी ही टीम के हारने पर जमकर जश्न मनाया। लेकिन ऐसा करना एक शख्स को भारी पड़ गया। अमेरिका की जीत और ईरान की हार का जश्न मना रहे एक युवक को ईरानी सुरक्षाबलों ने गोली मार दी।

देश की हार पर जश्न मनाना नहीं आया रास

देश की हार पर जश्न मनाना नहीं आया रास

दरअसल, ईरान में 22 साल की महसा अमीनी की हिजाब विवाद में पुलिस कस्टडी में हुई मौत के बाद से ही पूरे देश में बवाल मचा हुआ है। दो महीनों से भी अधिक समय से काफी संख्या में ईरानी लोग सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इन प्रदर्शनों में काफी संख्या में लोगों की मौत भी हो गई है। ऐसे में जब अमेरिका से ईरान को फीफा वर्ल्ड कप में हार मिली तो देश में लोगों ने अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दीं। इसी दौरान 27 साल के महरान समक भी अमेरिका की जीत का जश्न मनाने लगा, जो कि ईरानी सुरक्षाबलों को पसंद नहीं आई।

सुरक्षाबलों ने सिर में मारी गोली

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महरान समक बांदर अंजाली में अपनी कार के हॉर्न को तेज तेज बजा रहा था। यह तेहरान के उत्तर पश्चिम में स्थित है। ओस्लो के संगठन ईरान ह्यूमन राइट्स ने दावा किया है कि इसी दौरान समक को सुरक्षाबलों ने निशाना बनाया और उसके सिर पर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। अमेरिका के भी संगठन सेंटर फॉर ह्यूमन राइट्स इन ईरान ने इस बात की पुष्टि की है कि जश्न मनाने के दौरान सुरक्षाबलों ने गोली मारकर समक की हत्या कर दी। हालांकि अब तक ईरान की ओर से इस घटना पर कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।

फुटबॉलर ने बताया, बचपन का दोस्त

इस घटना के बाद अमेरिका के साथ खेली ईरान की फुटबॉल टीम में शामिल खिलाड़ी सईद इजातोलाही का चौंकाने वाला बयान भी सामने आया है। सईद ने इंस्टाग्राम पर लिखा है कि वह समक को जानते थे। उन्होंने समक के साथ अपनी फोटो भी सोशल मीडिया पर डाली है। ईरान के फुटबॉल खिलाड़ी सईद इजातोलाही ने अपने दोस्त की हत्या पर दुख जताया। इजातोलाही ने कहा कि हमारे युवा ऐसे मारे जाने के लिए नहीं हैं। हमारा देश भी ऐसी घटना के योग्य नहीं है। उन्होंने कहा कि एक दिन सभी चेहरे बेनकाब होंगे और सच सामने आएगा।

ईरानी खिलाड़ियों ने नहीं गया राष्ट्रीय गान

ईरानी खिलाड़ियों ने नहीं गया राष्ट्रीय गान

आपको बता दें कि ईरानी फुटबॉल टीम ने फीफा वर्ल्ड कप के पहले मैच के दौरान महसा अमीनी की मौत के विरोध में राष्ट्रगान गाने से मना कर दिया था। 22 नवंबर के दिन इंग्लैंड के साथ ईरान का पहला मैच था। दोनों देशों के खिलाड़ियों को अपने-अपने देश का राष्ट्रगान गाना था, लेकिन ईरानी खिलाड़ियों ने ऐसा करने से इनकार कर दिया था। हालांकि इसके बाद दबाव पड़ने पर उन्होंने अगले दो मैच में राष्ट्रगान गाया।

जियांग जेमिनः मार्क्सवादी सिद्धातों से गद्दारी करने वाले कम्युनिस्ट नेता, चीन को बनाया दुनिया का सुपरपावरजियांग जेमिनः मार्क्सवादी सिद्धातों से गद्दारी करने वाले कम्युनिस्ट नेता, चीन को बनाया दुनिया का सुपरपावर

Comments
English summary
Iranian Man Mehran Sammak Shot Dead For Celebrating Team’s Loss
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X