• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

भारत-कनाडा ने मुक्त व्यापार समझौते पर वार्ता शुरू की, WTO से इतर दोनों पक्षों के प्रतिनिधिमंडल मिले

india, canada, trade agreement, geneva, भारत, कनाडा, जिनेवा, डब्ल्यूटीओ, एफटीए, ब्रिटेन, britain, geneva,switzerland, स्विट्जरलैंड
Google Oneindia News

जिनेवा 17 जून: भारत और कनाडा ने शुक्रवार को स्विट्जरलैंड के जिनेवा में विश्व व्यापार संगठन (WTO) से इतर मुक्त व्यापार समझौते (FTA) पर चौथे दौर की वार्ता शुरू की। दोनों पक्षों के प्रतिनिधिमंडल दोनों देशों के बीच प्रस्तावित एफटीए पर चर्चा करने के लिए मिले। वहीं, कई गैर-टैरिफ बाधाएं, जैसे निवेशक संरक्षण से संबंधित नियम, बौद्धिक संपदा अधिकार, और शासन और मानकों के सामंजस्य, मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) में प्रमुख बिंदु हैं, जिन पर भारत और यूनाइटेड किंगडम (UK) ने इस साल दिवाली तक हस्ताक्षर करने का लक्ष्य रखा है।

photo

व्यापक व्यापार सौदा करने के लिए संबोधित करने की आवश्यकता
इससे पहले, यूके इंडिया बिजनेस काउंसिल (UKIBC) के कार्यकारी अध्यक्ष, रिचर्ड हील्ड ने एक साक्षात्कार में समाचार एजेंसी ANI को बताया कि, ब्रिटेन के व्यवसाय, साथ ही भारतीय व्यवसाय, गैर-टैरिफ बाधाओं, विशेष रूप से तकनीकी पर समान ध्यान देना चाहते हैं। उन्होंने आगे कहा कि कई गैर-टैरिफ बाधाएं हैं जिन्हें दोनों देशों को एक व्यापक व्यापार सौदा करने के लिए संबोधित करने की आवश्यकता है। उन्होंने आगे बताया ,यह न केवल टैरिफ बाधाओं से संबंधित है, बल्कि गैर-टैरिफ बाधाओं के बारे में भी है।

गैर-टैरिफ बाधाओं को दूर करने की जरूरत
उन्होंने यह भी बताया कि दोनों देशों को जिन गैर-टैरिफ बाधाओं को दूर करने की जरूरत है, उनमें मूल के नियमों के आसपास के मुद्दे, शासन और मानकों का सामंजस्य, बौद्धिक संपदा अधिकारों के नियमों की पुष्टि और निवेशक संरक्षण शामिल हैं। बता दें कि, भारत और यूके ने मई 2021 में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और उनके ब्रिटिश समकक्ष बोरिस जॉनसन के बीच आयोजित वर्चुअल शिखर सम्मेलन के दौरान एक व्यापक मुक्त व्यापार समझौते के अपने इरादे की घोषणा की थी।

एफटीए (FTA) पर औपचारिक बातचीत इस साल की शुरुआत में शुरू हुई
दोनों देशों के बीच प्रस्तावित एफटीए (FTA) पर औपचारिक बातचीत इस साल की शुरुआत में शुरू हुई थी। बातचीत का तीसरा दौर 6 मई को हाइब्रिड मोड में आयोजित किया गया था, जिसमें कुछ टीमों की बैठक नई दिल्ली में हुई थी। ब्रिटेन के प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी भारत यात्रा के दौरान भारतीयों के लिए अधिक स्किल्ड वीजा के लिए अपना समर्थन व्यक्त करते हुए कहा कि यूके वर्तमान में आईटी और प्रोग्रामिंग क्षेत्रों में विशेषज्ञों की कमी का सामना कर रहा है।तीसरे दौर की वार्ता के दौरान, मसौदा संधि पाठ अधिकांश अध्यायों में उन्नत किया गया था। बैठक के बाद जारी एक संयुक्त बयान के अनुसार, दोनों पक्षों के तकनीकी विशेषज्ञ 23 नीति क्षेत्रों को कवर करते हुए 60 अलग-अलग सत्रों में चर्चा के लिए एक साथ आए।

भारत के वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने वार्ता को आगे बढ़ाने के लिए मई के अंतिम सप्ताह में लंदन का दौरा किया। ब्रिटेन के वार्ताकारों के साथ बैठक के बाद गोयल ने उम्मीद जताई थी कि दिवाली तक एफटीए पर हस्ताक्षर हो जाएंगे।

अंतरिम समझौते की संभावना की तलाश
इस सप्ताह की शुरुआत में, ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने कहा, ब्रिटेन अब यूरोपीय संघ में नहीं है और यह वास्तव में यूके-भारत संबंधों को मजबूत करने का अवसर प्रदान करता है। मैं विशेष रूप से व्यापार के बारे में सोचता हूं, जहां हम एक मुक्त व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं। हमारा अगला दौर अगले सप्ताह होगा और दोनों प्रधानमंत्रियों ने वार्ताकारों से कहा है कि यह दिवाली तक हो जाएगा। भारत और यूके ने इस साल जनवरी में मुक्त व्यापार समझौता वार्ता शुरू की। दोनों देश दोनों पक्षों के व्यवसायों को लाभ पहुंचाने के लिए त्वरित लाभ प्रदान करने के लिए एक अंतरिम समझौते की संभावना भी तलाश रहे हैं।

ये भी पढ़ें : सावधान! दुनिया में फिर फिर लौट रहा कोरोना, इस हफ्ते हुई मौतों के बाद WHO की चेतावनीये भी पढ़ें : सावधान! दुनिया में फिर फिर लौट रहा कोरोना, इस हफ्ते हुई मौतों के बाद WHO की चेतावनी


Comments
English summary
India and Canada on Friday launched the fourth round of talks on the Free Trade Agreement (FTA) on the sidelines of the World Trade Organisation (WTO) in Geneva.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X