• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोविड के खिलाफ जंग में IMF का बड़ा कदम, इतिहास की सबसे बड़ी सहायता राशि को दी मंजूरी

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 3 अगस्त। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के सदस्य देशों ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई और देशों के ऊपर बढ़ते कर्ज से निपटने में मदद के लिए 650 अरब डॉलर के इतिहास के सबसे बड़े बजट को मंजूरी दी है।

    Coronavirus Update: IMF ने गरीब देशों की मदद के लिए मंजूर की अबतक की सबसे बड़ी राशि | वनइंडिया हिंदी
    IMF

    विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) के रूप में जाना जाने वाला यह बजट 2009 के वित्तीय संकट के ठीक बाद जारी किए गए 250 अरब डॉलर के बाद पहली बार है। आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जार्जीवी ने इसे "दुनिया के हाथ में एक शॉट (इंजेक्शन)" नाम देते हुए कहा है कि यह वैश्विक आर्थिक स्थिरता को बढ़ावा देने में मदद करेगा। आईएमएफ के सोमवार को जारी किए गए बयान में कहा गया है कि एसडीआर आवंटन 23 अगस्त से प्रभावी होगा।

    जॉर्जीवा ने कहा "एसडीआर आवंटन से सभी सदस्यों को लाभ होगा। यह भंडार की लंबी अवधि की वैश्विक जरूरत को पूरा करेगा, विश्वास पैदा करेगा और वैश्विक अर्थव्यवस्था की लचीलापन और स्थिरता को बढ़ावा देगा।" उन्होंने आगे कहा "यह विशेष रूप से हमारे सबसे कमजोर देशों को कोविड -19 संकट के प्रभाव से निपटने में मदद करेगा।"

    अमेरिका के चलते हुई थी देरी
    वैश्विक अर्थव्यवस्था के संरक्षक की भूमिका निभाने वाला आईएमएफ एक वर्ष से अधिक समय योजना को शुरू करने की कोशिश कर रहा है। शुरुआत में ही इसमें देरी हुई जब आईएमएफ के सबसे बड़े शेयरधारक अमेरिका ने इसे रोक दिया। डोनाल्ड ट्रंप के नेतृत्व वाली रिपप्लिकन ने इसे मंजूरी नहीं दी थी। रिपब्लिकन प्रतिनिधि फ्रेंच हिल ने इसे चीन, रूस और ईरान जैसे देशों को बजट आवंटित करने की 'धनी देशों और दुष्ट सरकारों के लिए सस्ता' कहकर निंदा की थी।

    आईएमएफ के सभी 190 सदस्यों को उनके कोटे के अनुपात में रिजर्व आवंटित किए जाते हैं। इसमें लगभग 70% 20 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले समूह में जाएगा जबकि सिर्फ 3 प्रतिशत कम आय वाले देशों तक पहुंचेगा। कुल मिलाकर एसडीआर का 58 प्रतिशत उन्नत अर्थव्यवस्थाओं में जाता है जबकि 42 प्रतिशत उभरती और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं में जाता है। अमेरिकी वित्त विभाग की गणना के अनुसार 650 अरब डॉलर में से 21 अरब डॉलर कम आय वाले देशों और 212 अरब डॉलर उभरते बाजारों और विकासशील देशों में जाएगा।

    अफ्रीकी देशों के लिए पुनःआवंटन जरूरी
    अफ्रीकी देशों की मदद के लिए धन का पुनः आवंटन महत्वपूर्ण होगा जिसके लिए एसडीआर जारी करने में केवल 33 अरब डॉलर निर्धारित किए गए हैं। वहीं फ्रांस अफ्रीकी महाद्वीप देशों के लिए अपने एसडीआर हिस्से को पुनः आवंटित करने के लिए प्रतिबद्ध है।

    दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा पहली ही कुल आवंटन में से लगभग एक चौथाई - लगभग 162 अरब डॉलर- अफ्रीकी देशों को दिए जाने की मांग कर चुके हैं। उन्होंने धनी देशों से अपने आवंटन को उधार देने की जगह दान देने की अपील की है।

     कोरोना की दूसरी लहर से इकोनॉमी पस्त, IMF ने भारत की GDP ग्रोथ का अनुमान घटाया कोरोना की दूसरी लहर से इकोनॉमी पस्त, IMF ने भारत की GDP ग्रोथ का अनुमान घटाया

    English summary
    imf nations approves 650 billion dollars covid aid
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X