• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Fact Check: बेल्जियम में सरकार की तरफ से कोरोना वायरस के चलते Sexual activities बैन, जानिए सच

|
Google Oneindia News

ब्रसेल्‍स। कोरोना वायरस महामारी के बीच ही कई तरह की फेक न्‍यूज व्‍हाट्सएप से लेकर फेसबुक और ट्विटर पर शेयर हो रही हैं। इनमें से ही एक ऐसी खबर पिछले दिनों से सर्कुलेट हो रही है जिसमें दावा किया जा रहा है कि यूरोप के देश बेल्जियम में कोविड-19 के चलते गैर-जरूरी सेक्‍सुअल एक्टिविटीज को भी बैन कर दिया गया है। इस रिपोर्ट में कहा गया कि हेल्‍थ मिनिस्‍टर मैगी डी ब्‍लॉक की तरफ से यह आदेश जारी किया गया है। खबर में कहा गया है कि ऐसी गतिविधियां जिनमें तीन या ज्‍यादा लोग हैं और किसी बड़े इलाके में हो रही हैं, उन्‍हें पूरी तरह से बैन किया जाता है।

यह भी पढ़ें-Covid-19 से डरते हैं तो खाइए Coronavirus बर्गरयह भी पढ़ें-Covid-19 से डरते हैं तो खाइए Coronavirus बर्गर

व्‍हाट्स एप पर वायरल एक लिंक

व्‍हाट्स एप पर वायरल एक लिंक

एक आर्टिकल का लिंक काफी तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें लिखा है, 'स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मैगी डी ब्‍लॉक की तरफ से घोषणा की गई है तीन लोगों या इससे ज्‍यादा लोगों वाली गैर-जरूरी सेक्‍सुअल एक्टिविटीज को तुरंत प्रभाव से बैन किया जाता है ताकि कोविड-19 को फैलने से रोका जा सके।' आर्टिकल में आगे लिखा है, 'संसद में स्वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा है कि बेल्जियम एक बीयर पीने वाला देश है और ग्रुप सेक्‍स की राजधानी है, अगर दुनिया तो कम से कम से एक देश के तौर पर हमें इस स्थिति पर ध्‍यान देना होगा।' आर्टिकल में यह भी लिखा था कि हेल्‍थ मिनिस्‍टर ने सिंगल या फिर दो लोगों की तरफ से होने वाली गतिविधियो को बैन नहीं किया है।

फेक वेबसाइट का मैसेज हो गया वायरल

फेक वेबसाइट का मैसेज हो गया वायरल

यह आर्टिकल और इसमें किए गए दावे पूरी तरह से गलत साबित हुए है। मैगी ने 22 मार्च को कोरोना वायरस पर प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की थी और उन्‍होंने देश में आठ हफ्तों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की थी। इस फेक आर्टिकल को वर्ल्‍ड न्‍यूज डेली रिपोर्ट की तरफ से किया गया था। यह वेबसाइट उन आर्टिकल्‍स को पब्लिश करती है तो व्‍यंग्‍य पर आधारित होते हैं। इसकी टैग लाइन है, 'व्‍येहर फैक्‍ट्स डोंट मैटर,' यानी जहां सच्‍चाई कोई मायने नहीं रखती है।

क्‍या कहना है वेबसाइट का

क्‍या कहना है वेबसाइट का

वेबसाइट पर भी जो डिस्‍क्‍लेमर दिया गया है उसके मुताबिक, 'इस वेबसाइट पर आपको अधूरी, अशुद्ध और व्‍याकरण की गलती से भरी हुई जानकारी मिलेगी।' इसमें यह भी लिखा है कि कोई भी व्‍यक्ति जो साइट को मैनेज करता है, वह आर्टिकल में कभी भी कोई भी बदलाव कर सकता है। साथ ही वेसाइट ने किसी भी व्‍यंग्यात्‍मक जानकारी की पूरी जिम्‍मेदारी लेने की बात भी कही है। पिछले कुछ दिनों में न केवल व्‍हाट्सएप और फेसबुक पर बल्कि कुछ प्रतिष्ठित मीडिया हाउसेज की तरफ से इस खबर को प्रमुखता से चलाया जा रहा है।

बेल्जियम में अब तक 220 लोगों की मौत

बेल्जियम में अब तक 220 लोगों की मौत

बेल्जियम में इस समय कोरोना वायरस के 6235 केसेज हैं। गुरुवार को एफपीएस पब्लिक हेल्‍थ की तरफ से हुई प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में इस बात की जानकारी दी गई है। प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया गया है कि एक दिन में यहां पर 536 मरीज बढ़े हैं। बेल्जियम में अब तक कोविड-19 की वजह से अब तक 220 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 128 लोग बीमारी से ठीक हो चुके हैं और उन्‍हे 24 घंटों के दौरान अस्‍पताल से छुट्टी दी गई है।

English summary
Fact Check: Belgium put a ban non essential sexual activities amid coronavirus outbreak and its a fake news.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X