• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

डोनाल्ड ट्रंप के आपत्तिजनक बोल, फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग व्हाइट हाउस में आकर मेरा...

|
Google Oneindia News

वॉशिंगटन, सितंबर 12: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जब तक सत्ता में रहे, वो अपने बयानों और अपने उठाए गये कदमों के लिए जाने जाते रहे। लेकिन, सत्ता से बाहर होने के बाद भी डोनाल्ड ट्रंप लगातार विवादित बयान देते रहते हैं। सोशल मीडिया से बैन किए जा चुके डोनाल्ड ट्रंप का गुस्सा रह-रहकर बाहर आता रहता है और इस बार उन्होंने फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के बारे में काफी अपशब्दों का प्रयोग किया है।

डोनाल्ड ट्रंप के बिगड़े बोल

डोनाल्ड ट्रंप के बिगड़े बोल

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फॉक्स न्यूज को एक इंटरव्यू दिया है। जिसमें उन्होंने फेसबुर के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली है। उन्होंने कहा है कि जब वो राष्ट्रपति थे, और जब उनके पास पॉवर हुआ करती थी, उस वक्त जब फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग उनसे मिलने व्हाइट हाउस आया करते थे, तो जुकरबर्ग उनका #%#%#%#% चाटते थे। डोनाल्ड ट्रंप के इस बयान की काफी आलोचना की जा रही है। आपको बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप इस वक्त पूरी ताकत के साथ अमेरिका में अगली बार होने वाले राष्ट्रपति चुनाव की तैयारी कर रहे हैं और लगातार वो अपने लिए प्रचार कर रहे हैं। और इसी के तहत उन्होंने फॉक्स न्यूज को इंटरव्यू दिया था, जहां उन्होंने काफी आपत्तिजनक बातें बोली हैं।

ट्रंप पर दंगा भड़काने का आरोप

ट्रंप पर दंगा भड़काने का आरोप

आपको बता दें कि इसी साल अमेरिका की संसद, जिसे कैपिटल हिल कहा जाता है, वहां डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने 6 जनवरी को दंगा किया था और संसद को बंधक बनाने की कोशिश की थी। आरोप है कि ट्रंप के एक भाषण के बाद उनके समर्थकों ने कैपिटल हिल को बंधक बनाने की कोशिश की थी। उस दंगे में कम से कम 6 पुलिसवाले मारे गये थे। संसद भवन पर हमले के बाद डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव भी लाया गया था, हालांकि वो अमेरिकी सीनेट में पास नहीं हो पाया। लेकिन, कैपिटल हिल हिंसा के बाद कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने डोनाल्ड ट्रंप को स्थाई तौर पर प्रतिबंधित कर दिया। जिसमें फेसबुक के अलावा ट्विटर और यूट्यूब भी शामिल हैं। फेसबुक ने 2 महीने पहले डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को एक्टिव किया जाए या नहीं, उसे लेकर समीक्षा बैठक की थी, जहां तय किया गया कि ट्रंप का अकाउंट स्थाई बंद ही रखा जाएगा, क्योंकि ट्रंप अभी भी लोगों को भड़काने वाले बयान दे रहे हैं। लिहाजा फेसबुक को लेकर डोनाल्ड ट्रंप भारी गुस्से में रहते हैं।

''बेहद बीमार है जुकरबर्ग''

''बेहद बीमार है जुकरबर्ग''

डोनाल्ड ट्रंप ने इंटरव्यू के दौरान कहा कि, ''ये लोग बीमार हैं। वह (ज़ुकरबर्ग) व्हाइट हाउस में आने के लिए मेरा #%#%# चाटा था।'' ट्रंप ने कहा कि, वह और उसकी प्यारी पत्नी मेरे साथ व्हाइट हाउस में डिनर किया करते थे। फिर आप देखते हैं कि वे मेरे बारे में क्या करते हैं और ये सिर्फ पागलपन है। आपको बता दें कि ट्रम्प ने फॉक्स न्यूज पर ग्रेग गुटफेल्ड को काफी विवादित इंटरव्यू दिया है। फेसबुक और ट्विटर के द्वारा प्रतिबंधित होने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने इन दोनों प्लेटफॉर्म के खिलाफ मुकदमा दायर कर रखा है।

ट्विटर पर भी निकाली भड़ास

ट्विटर पर भी निकाली भड़ास

डोनाल्ड ट्रंप ने फेसबुक के साथ साथ ट्विटर पर भी जमकर भड़ास निकाली है और ट्विटर की कामयाबी के पीछे खुद का हाथ बताया है। उन्होंने कहा कि ट्विटर पर उनकी मौजूदगी ने इस माइक्रोब्लॉगिंग साइट को कामयाब बनाया था, नहीं तो इसका कंसेप्ट फेल हो चुका था और ट्विटर फेल हो चुका था। उन्होंने कहा कि, 'ट्विटर पर बहुत उबाऊ जगह बन गया है, क्योंकि वो वहां मौजूद नहीं हैं।' अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि, ''बहुत से लोग सोचते हैं कि ट्विटर मेरे लिए बुरा था, लेकिन मैं असहमत हूं। मुझे लगता है कि यह मेरे लिए अच्छा था जब मैं 12 साल पहले ट्विटर पर गया था, उस वक्त ट्विटर एक फेल ऑपरेशन था लेकिन मेरे आने के बाद ट्विटर काफी तेजी से कामयाब होता चला गया। और कई लोगों ने मुझे कहा कि ट्विटर को कामयाब बनाने के पीछे आपका बहुत बड़ा हाथ है''।

बाइडेन पर बरसे डोनाल्ड ट्रंप

बाइडेन पर बरसे डोनाल्ड ट्रंप

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान में स्थिति से निपटने के लिए जो बाइडेन की कड़ी आलोचना की है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि जो बाइडेन और उनके बीच मीडिया ने हमेशा गलत व्यवहार किया है। ट्रंप ने कहा कि अगर वो इस वक्त बाइडेन की जगह होते और अगर वो अमेरिकी मददगारों और ट्रांसलेटर्स को अफगानिस्तान में ही छोड़ देते, तो अमेरिका में उनके खिलाफ ''महाभियोग'' लाया जाता। आपको बता दें कि जो बाइडेन के अफगानिस्तान मिशन की अमेरिका के 87 पूर्व जनरल आलोचना कर चुके हैं और उन्होंने अमेरिकी रक्षा मंत्री को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देने के लिए कहा था।

''आपने मुझे मिस किया''

''आपने मुझे मिस किया''

15 अगस्त को तालिबान ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा किया था और उसके बाद काबुल एयरपोर्ट पर हजारों की संख्या में लोग तालिबान के डर से पहुंच गये थे। और काबुल एयरपोर्ट पर अराजकता की स्थिति बन गई थी। विमानों में लोग खुद को ठूंस रहे थे तो कई लोग विमान पर लटक गये थे और काफी ऊंचाई से गिरने से उनकी मौत हो गई थी। काबुल एयरपोर्ट से निकली तस्वीरों ने पूरी दुनिया को झकझोर कर रख दिया था। जिसके बाद डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि '' क्याा आप मुझे मिस कर रहे हैं''। डोनाल्ड ट्रंप का ये बयान काफी प्रसिद्ध हुआ था। अमेरिकी सेना में कई अधिकारियों ने दबी जुबान कहा था कि अगर डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति होते तो शायद ऐसी स्थिति नहीं बनती और शायद इतनी जल्दी तालिबान काबुल में घुसने की कोशिश नहीं करता। इसके साथ ही डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान के भगोड़े राष्ट्रपति अशरफ गनी को 'बदमाश' शख्स बताया है।

9/11: भारत की GDP का तीगुना किया खर्च, फिर भी आतंकवाद से जंग नहीं जीत पाया अमेरिका! जानिए क्यों?9/11: भारत की GDP का तीगुना किया खर्च, फिर भी आतंकवाद से जंग नहीं जीत पाया अमेरिका! जानिए क्यों?

English summary
Former US President Donald Trump has made very objectionable statements about Facebook founder Mark Zuckerberg.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X