• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन ने कहा अमेरिकी सेना वुहान में लेकर आई थी Coronavirus

|

बीजिंग। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कोरोना वायरस के लेकर अमेरिका पर अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला है। विदेश मंत्रालय के ऑफिसर की तरफ से कहा गया है कि वुहान में अमेरिकी सेना कोरोना वायरस को लेकर आई थी। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता की तरफ से यह कड़ी प्रतिक्रिया तब की गई है जब अमेरिका की तरफ से चीनी सरकार पर महामारी को रोकने मे ढिलाई बरतने का आरोप लगाया गया है। हुबेई प्रांत का वुहान ही कोरोना वायरस का केंद्र है और यहां की सी-फूड मार्केट में वायरस का पहला केस मिला था। इस नए आरोप के बाद चीन और अमेरिका के बीच शब्‍दों की जंग शुरू हो गई है।

us-china.jpg

यह भी पढ़ें- कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो की पत्‍नी Covid-19 से इनफेक्‍टेड

अमेरिका दुनिया से छिपा रहा है सच

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता झाओ लिजियान ने ट्विटर पर अमेरिका को जवाब दिया है। उन्‍होंने लिखा है कि इसकी वजह अमेरिका है जिसमें पारदर्शिता की कमी है। उन्‍होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कीं है। झाओ ने लिखा है, 'अमेरिका में मरीजों की संख्‍या जीरो कब हुई? अमेरिका में कितने लोग संक्रमित हैं? अस्‍पतालों के नाम क्‍या हैं? हो सकता है कि अमेरिकी सेना की वजह से महामारी वुहान तक आई हो। पारदर्शी बनिए और दुनिया के साथ अपने आंकड़ें शेयर करिए।' उन्‍होंने आगे लिखा, अमेरिका को हमें जवाब देना होगा।' झाओ ट्विटर पर काफी सक्रिय रहते हैं। न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक झाओ ने अपनी बातों को साबित करने के लिए कोई भी सुबूत पेश नहीं किया। झाओ से पहले विदेश मंत्रालय के एक और प्रवक्‍ता गेंग शुहांग ने भी अमेरिका के बयान को गैर-जिम्‍मेदाराना और अनैतिक बताया था। उन्‍होंने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा था कि चीन चाहता है कि अमेरिकी अधिकारी इस मौके पर वायरस से निबटें न कि उनके देश के दोष दें।

ट्रंप के एनएसए ने लगाया चीन पर लापरवाही का आरोप

अमेरिका के नेशनल सिक्‍योरिटी एडवाइजर (एनएसए) रॉबर्ट ओ ब्रायन ने बुधवार को कहा था कि चीन ने जिस तरह से कोरोना वायरस के सामने आने के बाद प्रतिक्रिया दी उसकी वजह से ही आज शायद दुनिया को नतीजे भुगतने पड़ रहे हैं। उन्‍होंने चीन पर आरोप लगाया कि पहली बार इस वायरस का पता लगने के बाद चीन ने बहुत ही धीमी प्रतिक्रिया दी और आज नतीजे सामने हैं। ब्रायन ने चीन पर वुहान के पहले केस को छिपाने का आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि चीन की लापरवाही की वजह से दुनिया को इस महामारी से निबटने में दो माह का समय लग गया। कोरोना वायरस से अब तक 4,298 लोगों की मौत हो चुकी है और साथ ही 119,100 लोग इससे संक्रमित हैं। अमेरिका में 975 केस सामने आए हैं और 30 लोगों की मौत हो गई है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Coronavirus: China says U.S. military may have bought virus to Wuhan.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X