• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन ने बदला पुरानी फिल्म का अंत ताकि पुलिस जीत सके

|
Google Oneindia News
Provided by Deutsche Welle

वुहान, 25 जनवरी। चीन में 'फाइट क्लब' के दो नियम हैं. पहला, फिल्म में कहानी का जो अंत दिखाया गया है उसका जिक्र ना करें. दूसरा, अंत को बदल दें ताकि पुलिस की जीत दिखाई जा सके. चीन में सेंसरशिप के नियम दुनिया में सबसे कड़े नियमों में से हैं.

सरकार की सेंसर संस्थाएं हर साल सिर्फ मुट्ठी भर विदेशी फिल्में को देश में रिलीज किए जाने की अनुमति देती हैं और कई बार यह अनुमति कई दृश्य काटने के बाद दी जाती है. इस तरह के व्यवहार का सामने करने वाली ताजा फिल्म है डेविड फिंचर की 1999 की लोकप्रिय क्लासिक "फाइट क्लब", जिसमें ब्रैड पिट और एडवर्ड नॉर्टन मुख्य भूमिका में थे.

कहानी ही बदल दी

बीते सप्ताहांत पर चीन में फिल्म प्रेमियों ने पाया कि स्ट्रीमिंग सेवा टेनसेंट वीडियो पर फिल्म का एक ऐसा संस्करण चल रहा था जिसमें फिल्म के उस अराजकतावादी, पूंजीवाद विरोधी संदेश को ही पूरी तरह से बदल दिया गया है जिसकी वजह से फिल्म पूरी दुनिया में हिट हुई थी.

फिल्म के अंतिम दृश्यों में नॉर्टन का किरदार 'द नैरेटर' अपने काल्पनिक 'ऑल्टर ईगो' टाइलर डरडेन को मार देता है और फिर कई इमारतों में धमाके होते हुए देखता है. सुझाया ये गया है कि आधुनिक सभ्यता को नष्ट करने की उस किरदार की योजना की सफल शुरुआत हो जाती है. डरडेन का किरदार ब्रैड पिट ने निभाया है.

लेकिन चीन में दिखाए जा रहे नए संस्करण में कहानी का अंत अलग है. 'द नैरेटर' डरडेन को मार तो देता है लेकिन इसके इमारतों में विस्फोट के दृश्य की जगह स्क्रीन काली हो जाती है और एक संदेश आता है - "पुलिस ने बड़ी तेजी से पूरी योजना का पता लगा लिया, सभी अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया और बम को फटने से रोक लिया."

संदेश में यह भी जोड़ा गया है कि डरडेन को मनोवैज्ञानिक इलाज के लिए "मानसिक रोगियों के एक एसाइलम" में भेज दिया गया और बाद में वहां से छोड़ दिया गया.

चीन की सेंसर बाधाएं

सरकार की जीत दिखाने वाले इस अंत को देख कर चीन में कई दर्शकों ने अपना सिर खुजा लिया और आक्रोश प्रकट किया. काफी संभावना है कि इनमें से कई ने असली फिल्म के चोरी के संस्करण देख लिए होंगे.

बीजिंग के एक सिनेमाघर में चीनी सैनिकों पर बनी एक फिल्म

टेनसेंट वीडियो पर एक दर्शक ने लिखा, "यह बहुत ही खराब है." एक और व्यक्ति ने ट्विटर जैसी सेवा वीबो पर लिखा, "टेनसेंट वीडियो पर 'फाइट क्लब' हमें यह बता रही है कि वो सिर्फ दृश्य ही नहीं काटते हैं, बल्कि कथानक में बदलाव भी लाते हैं."

अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि इस वैकल्पिक अंत का सरकारी सेंसरों ने आदेश दिया था या असली फिल्म के निर्माताओं ने ही ये बदलाव किए. टेनसेंट ने इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की.

हॉलीवुड की फिल्म निर्माता कंपनियां अक्सर चीन की सेंसर बाधाओं को पार करने की उम्मीद में वैकल्पिक दृश्य जारी करती हैं. उन्हें उम्मीद रहती है कि ऐसा करके वो अरबों चीनी उपभोक्ताओं तक पहुंच पाएंगी.

"सभ्य और स्वस्थ" माहौल

2019 में भी "बोहेमियन रैप्सडी" फिल्म को चीन में रिलीज करने से पहले उसमें से मशहूर संगीतज्ञ फ्रेड्डी मर्क्युरी की लैंगिकता से जुड़े कई दृश्यों को हटा दिया गया था, जबकि उनकी लैंगिकता उनकी आत्मकथा का बुनियादी हिस्सा है.

राष्ट्रपति शी जिनपिंग के कार्यकाल में चीनी सरकारी संस्थाओं ने समाज से ऐसे तत्वों को निकाल बाहर करने के लिए कई कदम उठाए हैं जिन्हें अस्वास्थ्यकर माना जाता है. इनमें फिल्मों, टीवी और कंप्यूटर खेल भी शामिल हैं.

उन्होंने मनोरंजन उद्योग में टैक्स चोरी और कथित अनैतिक व्यवहार के खिलाफ भी कड़े कदम उठाए हैं. इस सिलसिले में देश के सबसे बड़े सेलेब्रिटियों को पहले ही निशाना बनाया जा चुका है.

साइबरस्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ चीन ने घोषणा की है कि वो लूनर नए साल के अवसर पर इंटरनेट पर एक "सभ्य और स्वस्थ" माहौल बनाने के लिए एक "स्वच्छ" इंटरनेट अभियान शुरू कर रहा है, जो महीने भर चलेगा.

सीके/एए (एएफपी)

Source: DW

Comments
English summary
china gives fight club new ending where authorities win
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X