इस देश में बंद होगा व्हाटसऐप, सरकार गंभीरता से कर रही है विचार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। चीन के बाद अब अफगानिस्तान भी पॉपुलर इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हॉट्सऐप को बैन करने पर विचार कर रहा है। अफगानिस्तान टेलीकॉम रेगुलेटर ने व्हॉट्सऐप और टेलीग्राम को चिट्ठी लिखकर दोनों को तुरंत अपनी सेवाएं बंद करने को कहा है। अफगानिस्तान सरकार की ये चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है जिसके बाद से लोगों की कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। फिलहाल ये साफ नहीं है कि व्हॉट्सऐप और टेलीग्राम ने अपनी सर्विस बंद की है कि नहीं, लेकिन कुछ लोग इसे इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं।

WhatsApp Ban In Afghanistan

अफगानिस्तान सरकार के संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने चिट्ठी लिखकर दोनों कंपनियों को सेवाएं फौरन बंद करने के लिए कहा है। व्हॉट्सऐप और टेलीग्राम पर ये बैन केवल 20 दिनों के लिए है। कहा जा रहा है कि इस बैन के पीछे अफगानिस्तान की खूफिया एजेंसी, राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय है। बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में एक सरकारी अफसर ने कहा कि ये सभी सुरक्षा कारणों से किया गया है।

वहीं इसके कुछ ही देर बाद संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि ये बैन व्हाट्सऐप की बेकार सर्विस क्वालिटी के कारण किया गया है। मंत्रालय को व्हाट्सऐप को लेकर काफी शिकायतें मिल रही थीं। इसलिए मंत्रालय देश में नई तरह की टेक्नोलॉजी लाने पर विचार कर रही है।

कहा जा रहा है कि ये बैन व्हाट्सऐप के इनक्रिप्टिड सर्विस के कारण किया गया है। इस सर्विस के जरिये मैसेज को केवल भेजने वाला और रिसीव करने वाला ही पढ़ सकता है। इसलिए तालीबान जैसे बाकी आतंकी संगठन इस सर्विस का इस्तेमाल न कर पाएं, सुरक्ष एजेंसियों ने इसे बैन कर दिया। इस बैन के बाद से देश में फ्रीडम ऑफ स्पीच को लेकर बहस शुरू हो गई है।

अफगानिस्तान में पिछले कुछ सालों में सोशल मीडिया के इस्तेमाल में भारी उछाल आया है। व्हाट्सऐप, फेसबुक, मैसेंजर और वाइबर को अफगानिस्तान के लोगों के अलावा नेता भी बड़ी संख्या में इस्तेमाल करते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Afghanistan is planning to ban popular instant messaging apps WhatsApp and Telegram for security reasons. The letter of banning the sites has gone viral on the internet.
Please Wait while comments are loading...