• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

आतंकी मसूद अजहर को 'धोखा' देगा हैदराबादी मैनेजर! भारत के खिलाफ बनाया नया 'प्लान'

पाकिस्‍तान लगातार भारत में अशांति फैलान के प्रयासों में जुटा रहता है। खबर है कि, JeM का फाइनेंसर मसूद अजहर को छोड़कर भागने की फिराक में है।
Google Oneindia News

कराची, 12 अगस्त : पाकिस्तान एक आतंकी गढ़ है, जहां आतंकियों को ट्रेनिंग दी जाती है। बाद में वह पूरी दुनिया के लिए सिरदर्द बन जाता है। हालांकि, पाकिस्तान इन दावों को झुठलाता रहा है। लेकिन सच कभी झूठ नहीं हो सकता है। दुनिया जानती है कि, पाकिस्तान कैसे अपने देश में आतंकियों के लिए पनाहगार बना हुआ है। खबर हैं, कि खूंखार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) का फाइनेंसर और मोस्टवांटेड आतंकी अजहर मसूद का गुर्गा फरहतुल्ला गौरी भारत में मुसलमानों को देश के खिलाफ भड़काने की साजिश कर रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक फरहतुल्ला गौरी इसके लिए फेसबुक, टेलीग्राम और यूट्यूब जैसे प्‍लेटफार्मों का इस्तेमाल कर रहा है।

अपना गुट बनाना चाहता है फरहतुल्ला उर्फ 'उस्ताद'

अपना गुट बनाना चाहता है फरहतुल्ला उर्फ 'उस्ताद'

खबर है कि, आतंकी फरहतुल्ला गौरी भारत में मुसलमानों को देश के खिलाफ भड़काने की साजिश करने के लिए उसने जैश-ए-मोहम्मद से अलग होने का मन बना लिया है। वह किसी भी वक्त अपने आका मसूद अजहर और उसके भाई अब्दुल रऊफ अजहर को बॉय-बॉय कह सकता है। वह भारत के खिलाफ साजिश रचने के लिए मसूद अजहर को किसी भी वक्त धोखा देकर भाग सकता है।

हैदराबाद से भागा और आतंकवादी बन गया

हैदराबाद से भागा और आतंकवादी बन गया


तमाम वैश्विक दबावों को नजरअंदाज कर पाकिस्‍तान लगातार भारत की शांति में खलल डालने के प्रयास में जुटा रहता है। पाकिस्तान के बड़े आकाओं से गुर्गों को आदेश मिलता रहता है कि वह भारत में जाकर आतंक फैलाए। जानकारी के मुताबिक,जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के पूर्व प्रमुख प्रबंधक फरहतुल्ला गौरी भारत के हैदरबाद का रहने वाला है। वह 90 की दशक में 30 साल की उम्र में भारत से सीधे दुबई आ गया था। उसे मसूद अजहर का पक्का चेला माना जाता है। दुबई में रहते उसने अपनी पहचान छुपाने के लिए कई बार चेहरे की सर्जरी भी करवा चुका है। उसे मसूद के गैंग में 'उस्ताद'के नाम से लोग जानते हैं। मसूद अजहर का विश्वासी गौरी रावलपिंडी में आकर भारत के खिलाफ आंतकी साजिशों में शामिल रहने लगा।

फरहतुल्ला गौरी की करतूतों का पर्दाफाश

फरहतुल्ला गौरी की करतूतों का पर्दाफाश

एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) स्टार्टअप की छानबीन में फरहतुल्ला गौरी की करतूतों का पर्दाफाश हुआ है। केंद्रीय गृह मंत्रालय फरहतुल्ला गौरी को गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम, 1967 के तहत आतंकी के तौर पर सूचीबद्ध कर चुका है। उसे आतंकियों की हिट लिस्‍ट में रखा गया है। रिपोर्ट में कहा है कि भारत में शांति‍ भंग करने के लिए फरहतुल्ला गौरी की ओर से तीन एन्क्रिप्टेड टेलीग्राम चैनल, दो संबद्ध फेसबुक पेज और तीन यूट्यूब चैनल इसी साल बनाए गए। हालांकि जांच के दौरान सामग्री मॉडरेशन टीमों ने गौरी समूह से जुड़े एक टेलीग्राम चैनल और एक फेसबुक पेज को हटा दिया।

खूंखार आतंकी फरहतुल्ला गौरी भारत के खिलाफ रच रहा साजिश

खूंखार आतंकी फरहतुल्ला गौरी भारत के खिलाफ रच रहा साजिश

खूंखार आतंकी फरहतुल्ला गौरी के बारे में खुफिया रिपोर्ट बताती है कि वह हमेशा भारत में समाजवाद, इस्लाम और अल्पसंख्यक से जुड़े अधिकारों के मामलों को बढ़ा चढ़ाकर अपने सोशल साइट में पोस्ट करता है और भारत के मुसलमानों को देश के खिलाफ भड़काने की साजिश रचता है। थ्रेट इंटेलिजेंस एनालिस्ट आयुष्मान कौल ने बताया कि, आतंकी फरहतुल्ला गौरी के पोस्ट पर ऐसे लोग आते हैं जो भारतीय जनता पार्टी शासित सरकार की आलोचना करते हैं और देश के खिलाफ लोगों को भड़काते हैं।

भारत के मुसलमानों को भड़का रहा मसूद का गुर्गा

भारत के मुसलमानों को भड़का रहा मसूद का गुर्गा

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, खूंखार आतंकी फरहतुल्ला गौरी का दिमाग भारत को तबाह करने के लिए नए-नए उपाय सुझाता रहता है। रिपोर्ट की माने तो, उसके दो फेसबुक पेजों, यूट्यूब चैनलों में फरहतुल्ला के वीडियो में मुसलमानों को भड़काने वाले वॉयस-ओवर थे। अब वह मसूद अजहर के गुट से अलग होकर भारत के खिलाफ खुलकर साजिश को अंजाम देने की फिराक में है। वह भारत के मुसलमानों को भड़का कर पाकिस्तान के मंसूबो को कामयाब करना चाहता है। भारत के लोगों को ऐसे आतंकियों की भड़काऊ बातों से बचना चाहिए।

(photo Credit : Twitter & Social Media)

ये भी पढ़ें : दुनिया भर में Johnson & Johnson बेबी पाउडर की बिक्री बंद होगी, जानें कंपनी ने क्यों लिया ऐसा फैसला<br/>ये भी पढ़ें : दुनिया भर में Johnson & Johnson बेबी पाउडर की बिक्री बंद होगी, जानें कंपनी ने क्यों लिया ऐसा फैसला

Comments
English summary
A Hyderabad born former key manager of Pakistan-based terror outfit Jaish-e-Mohammad (JeM) could now be taking a separate path, away from the methods long dictated by the old regime headed by Masood Azhar and his brother Abdul Rauf Azhar.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X