• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Covid-19: बढ़ने की बजाए कम हुई वैक्सीनेशन की रफ्तार, इस वजह से लोग नहीं जा रहे टीका केंद्र

|

नई दिल्ली, 04 मई। कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ देशभर में टीकाकरण अभियान जारी है। एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोविड की वैक्सीन दी जा रही है। इस बीच कई राज्यों में वैक्सीन की कमी के चलते वैक्सीनेशन की तफ्तार में कमी आई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक 3 से 9 अप्रैल के बीच भारत की टीकाकरण दर 2.48 करोड़ खुराक के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई थी। यह रफ्तार भारत में हाहाकार मचाने वाली कोरोना की दूसरी लहर से भी तेज है। हालांकि कई राज्य में सख्त प्रतिबंधों के चलते वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ने की बजाए तेजी से गिर गई है।

Vaccination speed decreased instead of increasing people are not going to the vaccine center

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक टीकाकरण की रफ्तार में आई कमी से केंद्र सरकार भी चिंतत है। 23 अप्रैल को 11 मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में पीएम मोदी ने भी इस मुद्दे को उठाया था। उन्होंने कहा था कि टीकाकरण कार्यक्रम धीमा नहीं होना चाहिए हालांकि हुआ इसके ठीक विपरीत। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 10-16 अप्रैल के बीच देशभर में 2.07 करोड़ टीकाकरण किया गया वहीं, 17-23 अप्रैल के मध्य 1.7 करोड़ और अप्रैल 24- 30 सप्ताह में 1.48 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया गया। अप्रैल के आखिरी सप्ताह में हुए टीकाकरण से पता चलता है कि महीने के पहले सप्ताह के मुकाबले 40 प्रतिशत कम वैक्सीनेशन किया गया।

यह भी पढ़ें: दिल्ली: कोरोना मरीजों को घर बैठे मिल रहा है मुफ्त खाना, गुरुद्वारे में हर दिन बनती हैं 500-600 थालियां

मई के पहले तीन दिनों में लगभग 35 लाख टीकाकरण किए गए हैं और मंगलवार को 15 लाख से थोड़ा अधिक की उम्मीद है। इस सप्ताह के पहले चार दिनों में संख्या को 50 लाख से अधिक तक ले जाने का लक्ष्य रखा गया था। इसका मतलब यह हो सकता है कि टीकाकरण संख्या मई के पहले सप्ताह (1-7 तारीख) तक गिर सकती है। एक अधिकारी ने बताया कि लोग अपने घरों से टीकाकरण के लिए बाहर निकलने से कतरा रहे हैं। टीकाकरण स्थलों पर देखी गई कतारों के साथ, लोगों को लगता है कि अगर वे इन केंद्रों पर भीड़ में शामिल होते हैं तो कोरोना वायरस की चपेट में आ जाएंगे। कई राज्यों ने निर्देश दिया है कि टीकाकरण के लिए जाने वाले लोगों को लॉकडाउन के दौरान रोका नहीं जाना चाहिए, लेकिन संदेश को अधिक स्पष्टता की आवश्यकता है। हालांकि अधिकारी ने वैक्सीन की कमी को खारिज करते हुए कहा कि डोज की कोई कमी नहीं है।

English summary
Vaccination speed decreased instead of increasing people are not going to the vaccine center
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X