उत्तराखंड के सियासी दंगल में एक बार फिर सुर्खियों में 'शक्तिमान', आरोपी विधायक ने विरोधियों को घेरा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
मसूरी। आपको शक्तिमान घोड़ा तो याद होगा, उत्तराखंड चुनाव में एक बार फिर से उनका नाम गूंजा, वो भी एक मुद्दे की तरह इसे उठाया गया। मसूरी के बीजेपी विधायक का आरोप है कि चुनाव में उनके विरोधी शक्तिमान घोड़े का मुद्दा उठा रहे हैं। 14 मार्च, 2016 का वो दिन जब गणेश जोशी पर देहरादून में बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान उत्तराखंड माउंटेड पुलिस के शक्तिमान घोड़े पर लाठियां चलाने के आरोप लगे।

शक्तिमान घोड़ा भी बना चुनावी मुद्दा

इस घटना के बाद मामला बढ़ा और इसमें दो बातें देखने को मिली। पहला ये कि गणेश जोशी पर आरोप लगा कि उनके लाठीचार्ज से घोड़े के पैर में चोट लगी, गणेश जोशी इस मामले में जमानत पर रिहा हैं। दावा किया गया कि घोड़े का पैर पीछे खींचने और लोहे की रेलिंग में फंसने से टूटा। इसके बाद मामला राष्ट्रीय स्तर पर उठा। देश ही नहीं दुनिया से घोड़े को ठीक करने के लिए कोशिशें हुई। शक्तिमान का इलाज हुआ, प्रोस्थेटिक पैर लगाया गया। हालांकि करीब एक महीने बाद ही पैर में लगी चोट की इंफेक्शन से घोड़े की जान चली गई।
गणेश जोशी बोले, पीएम मोदी के नाम से मिलेगी जीत

गणेश जोशी बोले, पीएम मोदी के नाम से मिलेगी जीत

अब जिस समय उत्तराखंड में मतदान की तैयारियां चल रही हैं, गणेश जोशी ने मसूरी में अपने चुनाव प्रचार में आखिरी दांव चलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के साथ-साथ शक्तिमान घोड़े की चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि मुझे भगवान पर विश्वास है। मैं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मेरी टीआरपी को इतना बढ़ाने में सहयोग किया। अगर मैं करोड़ों खर्च करता तो भी इतना प्रचार नहीं मिलता।

बीजेपी विधायक ने कहा- शक्तिमान का सच सामने आ चुका है

बीजेपी विधायक ने कहा- शक्तिमान का सच सामने आ चुका है

बीजेपी विधायक ने कहा कि मुझे घेरने की कोशिश की लेकिन तीन दिन बाद ही मामले का सच सामने आ गया। राष्ट्रीय चैनलों ने दिखाया 'शक्तिमान का सच...' जिसमें घोड़े की चोट को दिखाया गया। इसमें नजर आया कि घोड़े के पैर में चोट एक एंगल में फंसने से लगी। इसके बाद लोगों ने मेरा सहयोग किया। उन्होंने माना कि ये मेरे साथ साजिश की गई थी। गणेश जोशी ने कहा कि मेरे क्षेत्र के लोग जानते हैं कि अगर किसी को चोट लगती है तो मैं उन्हें अपनी कार से अस्पताल लेकर जाता हूं। घोड़े को चोट की घटना को मैं कभी अंजाम नहीं दे सकता। ये मेरी प्रतिष्ठा को गिराने में सहयोग नहीं कर सकता, ये मेरी मदद कर सकता है।

देशभर में दिखी शक्तिमान मामले की गूंज

देशभर में दिखी शक्तिमान मामले की गूंज

गणेश जोशी ने कहा कि इस बार के चुनाव में कोई और मुद्दा नहीं है लोग केवल मोदी की चर्चा कर रहे हैं। इस बार प्रदेश में सभी मुद्दे गायब हैं बस मोदी और ट्रंप का ही नाम चर्चा में है। उन्होंने कहा कि ट्रंप ने भी अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव लड़ते समय मोदीजी का नाम लिया। सभी सर्वे ट्रंप के खिलाफ थे लेकिन जब उन्होंने मोदी का नाम लिया अच्छे दिन आने वाले हैं...ट्रंप सरकार, वो चुनाव जीत गए। चुनाव के बाद जब ट्रंप से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वो नरेंद्र मोदी की तरह काम करेंगे।

गणेश जोशी के मुकाबले में हरीश रावत ने खेला बड़ा दांव

गणेश जोशी के मुकाबले में हरीश रावत ने खेला बड़ा दांव

इन सवालों के जवाब देते हुए साफ हो या कि इस गणेश जोशी चुनाव में बेहद कठिन लड़ाई में फंसे हुए हैं। मसूरी में कांग्रेस ने गोदावली थपली को टिकट दिया है। ये पहली बार है जब किसी राष्ट्रीय पार्टी ने गोरखा महिला को उत्तराखंड में टिकट दिया है। इस विधानसभा सीट की कुल आबादी 1.28 लाख है, जिसमें करीब 30 हजार गोरखा हैं। थपली राजनीति में नई नहीं हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Uttarakhand assembly election 2017: Shaktiman issue raised, MLA targets opponents.
Please Wait while comments are loading...