• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

उन्नाव रेप पीड़िता ने एक्सिडेंट से पहले लिखा था CJI रंजन गोगोई को पत्र, धमकी का किया था जिक्र

|

नई दिल्ली। उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट को लेकर हंगामा बढ़ता जा रहा है। जैसे-जैसे मामले की जांच आगे बढ़ रही है लगातार नए-नए खुलासे सामने आ रहे हैं। इस बीच रेप पीड़िता का एक पत्र सामने आया है, जिसे एक्सिडेंट से कुछ दिन पहले यानी 12 जुलाई 2019 को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई समेत कई अधिकारियों को लिखा गया था। इस पत्र में पीड़िता की ओर से आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के पक्ष की तरफ से धमकी का जिक्र किया गया था। इस पत्र में पीड़िता और उसके परिजनों ने बताया था कि आरोपियों की ओर से केस वापस लेने और सुलह नहीं करने पर जेल भिजवाने की धमकी दी गई थी।

रेप पीड़िता ने 12 जुलाई को लिखा था रंजन गोगोई को पत्र

रेप पीड़िता ने 12 जुलाई को लिखा था रंजन गोगोई को पत्र

एएनआई के मुताबिक, उन्नाव रेप पीड़िता की ओर से 12 जुलाई, 2019 को एक पत्र लिखा गया था। पीड़ित परिवार की ओर से ये पत्र भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को भेजा गया। इस पत्र में पीड़ित परिवार ने बताया कि आरोपी विधायक की ओर से उनके परिवार को लगातार केस वापस लेने की धमकी दी जा रही है। पत्र में कहा गया था कि कुछ लोग मेरे घर पर आए और धमकी दी कि केस वापस ले लें, अगर वो ऐसा नहीं करते हैं फर्जी मामलों में पूरे परिवार को जेल में डाल दिया जाएगा। यही नहीं पत्र में पीड़ित परिवार ने 'धमकी देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी।'

इसे भी पढ़ें:- कौन है कांग्रेस अध्यक्ष के लिए सबसे कद्दावर दावेदार, पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने लिया ये नाम

पत्र में पीड़ित परिवार ने धमकियों को किया था जिक्र

पत्र में पीड़ित परिवार ने धमकियों को किया था जिक्र

बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता की कार को रविवार दोपहर एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी। इस हादसे में कार सवार पीड़िता की मौसी और चाची की मौत हो गई, वहीं पीड़िता और वकील की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने की सीबीआई जांच की सिफारिश

योगी आदित्यनाथ सरकार ने की सीबीआई जांच की सिफारिश

वहीं उन्नाव रेप पीड़िता के सड़क दुर्घटना में घायल होने के मामले में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की है। पीड़िता के चाचा ने सरकार से सीबीआई जांच कराने की मांग की थी। रेप पीड़िता की कार का जिस तरह से एक्सिडेंट हुआ है उसके बाद लगातार योगी सरकार और प्रदेश की पुलिस पर सवाल खड़ा हो रहा है। पीड़िता पर हुए इस हमले के खिलाफ कई संगठन सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

सपा नेता के भाई का है कार को टक्कर मारने वाला ट्रक

सपा नेता के भाई का है कार को टक्कर मारने वाला ट्रक

दूसरी ओर पीड़िता की कार को जिस ट्रक ने टक्कर मारी थी, इसमें बड़ा खुलासा सामने आया है। जानकारी के मुताबिक, कार को जिस ट्रक ने टक्कर मारा था वह फतेहपुर के सपा नेता व जिला सचिव नंदू पाल के भाई देवेंद्र पाल का है। देवेंद्र पाल ललौली थाना क्षेत्र के मुत्तोर गांव के रहने वाले हैं। इस मामले में सपा नेता का कहना है कि इसे साजिश बताकर बेवजह तूल दिया जा रहा है, जबकि ये महज एक्सिडेंट है। उनका कहना है कि वे लोग बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को जानते तक नहीं हैं, केवल उनका नाम सुना है।

इसे भी पढ़ें:- उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सिडेंट के मामले में नया मोड़, सपा नेता के भाई का है कार को टक्कर मारने वाला ट्रक

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Unnao rape victim wrote letter dated 12 July 2019 to CJI Ranjan Gogoi for threat to him and family
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X