• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कांग्रेस की ये गलती फिर पाकिस्‍तान को पहुंचाएगी फायदा !

|

बेंगलरु। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के खूंखार आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी देवेंद्र सिंह जैसे गंभीर मामले में भी विपक्षी पार्टी सियासत करने से बाज नहीं आ रही है। इस मामले को लेकर केंद्र सरकार पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी एक के बाद एक हमले कर रहे। हालांकि देविंदर सिंह के मामले को उठाकर भाजपा और आरएसएस पर हमला बोलने की अधीर की कोशिश नाकाम ही रही लेकिन पुलवामा हमले को लेकर दिया गया कांग्रेस के इस बयान का फायदा पाकिस्‍तान को ही होगा!जानिए ये बयान कैसे पाकिस्‍तान की मदद करेगा?

congress

बता दें दो दिन पहले डीएसपी देवेंद्र सिंह का उसके आतंकियों से कनेक्शन का खुलासा हुआ है। देवेंद्र सिंह को शनिवार को कुलगाम में हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के 2 खूंखार आतंकियों के साथ गिरफ्तार किया गया था। ड्रग्स बेचने और रंगदारी वसूलने में भी उसका नाम आ रहा है। दविंदर सिंह को जिन दो अतंकियों के साथ गिरफ़्तार किया उन्‍हें वह श्रीनगर से जम्मू लेकर जाने वाला था। इसके लिए बाकायदा उसने छुट्टी भी ली थी।

dsp

हालांकि, जब वह इन्हें लेकर जम्मू जा रहा था, उसी बीच रास्ते में ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उस गाड़ी में पांच ग्रेनेड थे और बाद में देवेंद्र सिंह के घर की तलाशी में दो एके-47 राइफल भी मिली थीं। देवेंद्र सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात था उसने जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए विदेशी राजनयिकों को भी रिसीव किया था। एंटी-हाईजैकिंग स्क्वॉड के डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने के लिए राष्ट्रपति मेडल से भी नवाजा जा चुका है। वो एंटी टेरर ग्रुप का भी सदस्य था।

अधीर रंजन चौधरी ने दिया ये बयान

अधीर रंजन चौधरी ने दिया ये बयान

देश की सुरक्षा से जुड़े इतने गंभीर मामले पर कांग्रेस उसे सांम्प्रदाायिक रंग देने की कोशिश कर रही थी। कांग्रेस सांसद अधीर चौधरी ने मंगलवार को लगातार तीन ट्वीट किए और केंद्र सरकार पर सवालों की बौछार की। अधीर चौधरी ने एक ट्वीट में लिखा, क्या देवेंद्र सिंह मूल रूप से देवेंद्र खान हैं। इस बारे में आरएसएस के ट्रोल रेजिमेंट को साफ-साफ और स्पष्ट शब्दों में जवाब देना चाहिए। मजहब, रंग और कर्म को किनारे रखते हुए देश के ऐसे दुश्मनों की एकसुर में आलोचना की जानी चाहिए। अधीर चौधरी ने दूसरा ट्वीट कर कहा 'घाटी में बड़ी कमी उजागर हुई है जो हम पर भारी पड़ती दिख रही है। हम खुद को पाखंडी और मूर्ख नहीं बना सकते। अपने तीसरे ट्वीट में लिखा 'अब (देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद) यह सवाल उठना लाजमी है कि पुलवामा हमले के पीछे किसका हाथ था इस पर नए सिरे से गौर करना जरूरी है। पुलवामा जैसे गंभीर मामले में दोबारा जांच की बात उठाकर अधीर रंजन ने पाकिस्‍तान को एक भारत के खिलाफ बोलने का एक और मौका दे दिया हैं। इससे सिर्फ पाकिस्‍तान को ही फायदा मिलने वाला है।

यह बयान पाकिस्‍तान का पक्ष लेने वाला है

यह बयान पाकिस्‍तान का पक्ष लेने वाला है

बता दें पहले ही अधीर रंजन के इस बयान को भाजपा ने पाकिस्तान का पक्ष लेने वाला और हिंदुओं को आतंकी साबित करने की कोशिश वाला बताया है। पूर्व जनरल और सांसद वीके सिंह ने कहा कि 'अगर अधीर रंजन अधीर खान होते तो उनके बयान को अधिक गंभीरता से लिया जाता? हम इसे सांप्रदायिक रंग कैसे दे सकते हैं?' वीके सिंह ने कहा कि देवेंद्र सिंह से लगातार पूछताछ की जाएगी। पुलिस का जो काम हैं वो कर रही हैं।

भारत पर हमला और पाकिस्‍तान को बचाने की साजिश

भारत पर हमला और पाकिस्‍तान को बचाने की साजिश

इस मामले पर भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए भाजपा ने कहा कि कांग्रेस ने वही किया जिसमें वह निपुण है, सक्षम है, और वह है भारत पर हमला और पाकिस्‍तान को बचाने की साजिश। उन्होंने कहा, ''इस पूरी प्रक्रिया में कांग्रेस के अधीर रंजन ने आव देखा न ताव और मिनटों के अंदर धर्म ढूंढ लिया।' कांग्रेस हिंदुओं को आतंकवादी सिद्ध करने का प्रयास कर रही है और भारत को हिंदुओं से खतरा बता रही है। पात्रा ने कहा,‘'आतंकवाद पर धर्म की राजनीति करना कांग्रेस की संस्कृति है। सोनिया-राहुल से मैं पूछना चाहता हूं कि पुलवामा हमला किसने किया, इस पर आपके मन में शक है क्या? आप अगर मानते हैं कि पाकिस्तान ने पुलवामा हमला नहीं कराया तो किसने कराया, ये बात स्पष्ट रूप से कहें। बटला हाउस एनकाउंटर को लेकर कांग्रेस के रवैये पर सवाल खड़े होते रहे हैं। कांग्रेस को ऐलान करना चाहिए कि उन्हें देश की सेना पर विश्वास नहीं है। कांग्रेस और पाकिस्तान में कुछ तो रिश्ता है जो बार-बार वह उसी की भाषा बोलती है। कांग्रेस की ओर से नए आर्मी चीफ पर तंज कसे जा रहे हैं।

कैसे ये बयान पाकिस्‍तान की मदद करेगा

कैसे ये बयान पाकिस्‍तान की मदद करेगा

अधीर रंजन चौधरी ने भले ही पुलवामा हमले को लेकर भले ही एक अशंका जतायी है लेकिन ये तो साफ हैं कि उनकी मंशा बिलकुल भी सही नही थी। अगर मान लेते हैं कि उन्‍हें इस बात पर कोई शक था उन्‍हें आंतरिक रुप से अपने शक पर अधिकारियों से बात करनी चाहिए थी। अगर वह जांच करवाते और पुलवामा अटैक में किसी पुलिस वाले के खिलाफ सबूत मिलते तो तब उन्‍हें आरोप लगाना चाहिए था। बता दें पुलवामा अटैक में पाकिस्‍तान द्वारा करवायी गयी थी। इस हमले की पूरी जिम्मेदारी पाकिस्‍तानी आतंकी मसूद अजहर के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। जिसके बाद पूरी दुनिया के सामने पाकिस्‍तान का आतंकियों को पोषित करने का पर्दाफाश हुआ था। इसके बाद ही पूरी दुनिया में पाकिस्तान पर सवाल उठाए थे और मसूद अजहर को पकड़ने के लिए दबाव बना था। अब कांग्रेस के नेता की इस बचकानी हरकत का फायदा जहां पाकिस्‍तान उठाएगी वहीं पूरी दुनिया में इस हमले की सच्‍चाई को लेकर सवाल उठ सकते हैं!

कांग्रेस की ये गलतियां भी देश पर पड़ चुकी है भारी

कांग्रेस की ये गलतियां भी देश पर पड़ चुकी है भारी

यह पहला मौका नहीं है जब कांग्रेस ने यह गलती की है नाकारात्मक राजनीति करते हुए कांग्रेस के दिग्गज नेता अक्सर ऐसा बयान देते आए है जिसका फायदा पाकिस्‍तान लेता आया हैं। मुंबई हमले के दौरान दिग्विजय सिंह ने भी ऐसा की कुछ बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि मुंबई हमला आरएसएस की साजिश है और उसके बम बनाने के कारखाने हैं, वह देश में आतंक फैलाने का काम कर रहा है। जब कभी अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भारत की ओर से पाकिस्तान का आतंकी चेहरा बेनकाब करने की कोशिश होती है तो पाकिस्तान तमाम डोजियर में कांग्रेस नेताओं के बयानों का ही हवाला देता है। बड़बोलेपन में ये नेता को कुछ भी अनाप-शनाप बयान देकर निकल जाते हैं, ये भी नहीं सोचते कि इसका अंजाम क्या हो सकता है और उनकी गलतियां का खामियाजा देश को भुगतना पड़ता है।

राहुल गांधी के इस बयान से पाक उठा चुका है फायदा

राहुल गांधी के इस बयान से पाक उठा चुका है फायदा

बता दें कांग्रेस के नेता ने केन्‍द्र सरकार द्वारा अनुच्‍छेद 370 रद्द किए जाने के बाद कश्‍मीर जाने में असफल होने के बाद जो बयान दिया था उसका पाकिस्‍तान ने भारत के खिलाफ जमकर प्रयोग किया था। राहुल ने ट्वीट में लिखा था, 'जम्‍मू कश्‍मीर के लोगों की आजादी और सामाजिक स्‍वतंत्रता को खत्‍म हुए 20 दिन हो चुके हैं। जो हमने कल श्रीनगर दौरे पर महसूस किया उसके बाद विपक्ष के नेताओं और मीडिया कर्मियों को जम्‍मू कश्‍मीर के लोगों पर प्रशासन और निर्मम बल का अंदाजा लग चुका है। राहुल के इस ट्वीट को पाकिस्‍तान की मीडिया में हाईलाइट किया और भारत के खिलाफ जमकर फायदा उठाया था।

सुरजेवाला ने भी इस मामले पर दिया है ये बयान

सुरजेवाला ने भी इस मामले पर दिया है ये बयान

गौतरलत है कि कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी देवेंद्र सिंह मामले में कहा कि ‘‘पुलवामा हमले में हमारे 42 जवान शहीद हो गए। हमने कई बार सवाल किया कि आरडीएक्स कौन लेकर आया? कई बार पूछा कि हमले के लिए इस्तेमाल कार सेना के काफिले में कैसे आ गई? मोदी जी, अमित शाह जी और राजनाथ सिंह जी ने इसका जवाब नहीं दिया। सुरजेवाला ने कहा अब सामने आया है कि यही देवेंदर सिंह पुलवामा का डीएसपी था। क्या देविंदर सिंह एक मोहरा है या देविंदर सिंह ही षड्यंत्र का सूत्रधार है? इस सारे मामले की गंभीर और गहन जांच की जरूरत है।

इसे भी पढ़े- PoK पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का बड़ा बयान

जानिए, कितने खतरनाक थे DSP देविंदर सिंह के मंसूबे, अगर अभी पकड़ में नहीं आता तो...जानिए, कितने खतरनाक थे DSP देविंदर सिंह के मंसूबे, अगर अभी पकड़ में नहीं आता तो...

English summary
This mistake of Congress will again benefit Pakistan
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X