• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सुनंदा पुष्‍कर हत्‍याकांड: सबूत मिटाने के लिए एसआईटी के निशाने पर चार लोग

By Vicky Nanjappa
|

नयी दिल्‍ली। कांग्रेस सांसद शशि थरूर की पत्‍नी सुनंदा पुष्‍कर हत्‍या मामले में चार लोग एसआईटी की राडार पर हैं। एसआईटी को ऐसी आशंका है कि इन्‍हीं चार लोगों ने होटल के उस कमरे से सबूत मिटाया था जिसमें सुनंदा मृत पायी गई थीं। शुरुआती छानबीन में अलप्रॉक्‍स टैबलेट की जो बात सामने आ रही थी अब ऐसी आशंका जताई जा रही है कि उन टैबलेट्स को कमरे में लाकर गुमराह करने के लिए रखा गया था। एसआईटी के अधिकारियों की मानें तो कमरे से कुछ जरूरी चीजें हटाई गईं हैं जिससे हत्‍या पर पर्दा डाला जा सके।

Sunanda Pushkar murder case: 4 under scanner for removing evidence

उल्‍लेखनीय है कि सुनंदा पुष्कर हत्याकांड में एसआइटी ने बुधवार को संजय दिवान के बयान दर्ज किए। संजय दिवान सुनंदा व पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर के पारिवारिक मित्र हैं। संजय ने बताया कि सुनंदा जिस वक्त (17 जनवरी 2014) होटल लीला के सुइट नंबर-345 में मृत मिली थीं, सुइट के बगल वाले कमरे में शशि थरूर, चालक बजरंगी व घरेलू सहायक नारायण सिंह के साथ वह भी मौजूद थे। किसी को सुनंदा की मौत की भनक नहीं लगी। एसआईटी यह भी दावा कर रही है कि सुनंदा की मौत के बाद आरके शर्मा, संजय दिवान, ड्राइवर बजरंगी और नारायण सिंह कमरे में गये थे जिसके बाद से कुछ जरूरी चीजें होटल से गायब मिली हैं।

सोच समझ कर हटाए गये सामान

छानबीन में एसआईटी ने पाया कि पिछले साल 17 जनवरी को सुनंदा की मौत की खबर आने के बाद कुछ सामान उनके होटल के कमरे से हटा लिए गए थे। जैसे सुनंदा के जूते और कपड़े। एसआईटी ने दावा किया है कि इन्‍हीं चार लोगों में से कोई व्‍यक्ति मौत के बाद कमरे में गया था और काफी सोच समझकर उन जरूरी सामाना को हटाया जो मौत की गुत्‍थी को गुमराह कर सकते हों। पुलिस का कहना है कि उन चार लोगों में कोई व्‍यक्ति घटना से पहले या घटना के बाद कमरे में गया था ऐसा कहना जल्‍दबाजी होगा लेकिन यह पूरा मामला छानबीन का है।

एसआईटी का दावा है कि जिस व्‍यक्ति ने जरूरी सामान से छेड़खानी की वो बेहद जल्‍दबाजी में था और इसके चलते उससे एक ग्‍लास भी टूट गई। वो जल्‍दबाजी में था इसलिए उसने ग्‍लास साफ नहीं किया और जरूरी सामान लेकर कमरे से निकल गया।

होटल स्‍टाफ ने कबूला कमरे में जरूरी सामान के साथ छेड़खानी की बात

होटल के कमरे में रखे कुछ सामनों के साथ छेड़खानी की बात होटल स्‍टॉफ ने पूछताछ के दौरान कबूल की है। होटल स्‍टाफ ने माना है कि घटना के बाद से कमरे के कुछ जरूरी सामान गायब थे। एसआईटी का कहना है कि होटल स्‍टाफ के बयान के बाद से छानबीन को एक बल मिला है और इस बात पर मुहर लग गया है कि सुनंदा की मौत के बाद साक्ष्‍यों से छेड़खानी की गई है। एसआईटी ने कहा है कि नारायण सिंह ने आखिरी बात सुनंदा को जीवित देखा था। पूछताछ में नारायण सिंह ने बताया कि बातचीत में सुनंदा कुछ घबराई-घबराई लग रही थीं।

सुनंदा हत्या मामले में अब पत्रकारों से होगी पूछताछ

सुनंदा पुष्कर ने मौत से 48 घंटे पहले कुछ पत्रकारों से लंबी बातचीत की थी। मामले की जांच कर रही एसआईटी अब उन पत्रकारों से पूछताछ करेगी। एक टीवी पत्रकार ने टि्वटर पर बताया कि उन्हें गुरूवार को पूछताछ के लिए समन किया गया है। दो और महिला पत्रकारों को भी बुलाया जा सकता है।

एसआईटी इस एंगल से जांच कर रही है कि कहीं सुनंदा की हत्या की वजह आईपीएल विवाद या उनके पति के पाकिस्तानी महिला पत्रकार से संबंध तो वजह नहीं है। इस मामले में थरूर दंपती के दोस्त तेज सराफ ने एक टीवी चैनल के साथ बातचीत में दावा किया है कि सुनंदा मुटी भर दवाएं खाती थीं। इस बीच, पुलिस सुनंदा के पति कांग्रेस सांसद शशि थरूर से हुई पूछताछ में सामने आई जानकारी की जांच-पड़ताल कर रही है। थरूर 15-16 जनवरी के बीच की रात कहां थे, इसकी भी जांच की जा रही है।

जांच के घेरे में सेंट्रल दिल्‍ली

पुलिस को एक और बात का पता चला है कि सुनंदा 15 जनवरी को होटल में आने के बाद अगले दिन कहीं बाहर गई थीं। वे किसके साथ, कहां और किससे मिलने गई थीं, यह पता लगाया जा रहा है। पिछले साल 17 जनवरी को संदिग्ध हालात में दिल्ली के पांच सितारा होटल के कमरे में सुनंदा मृत पाई गई थीं। पुलिस ने 1 जनवरी को हत्या का मामला दर्ज किया है।

गंभीर है आईपीएल से जुड़ा मामला

सुनंदा पुष्कर मर्डर केस में अब आईपीएल कनेक्शन सामने आ रहा है। केस की जांच के दौरान जिस सुनील साहब के होटल लीला में सुनंदा के कमरे में होने की बात कही गई, उनकी पहचान कर ली गई है। कांग्रेस सांसद शशि थरूर के नौकर नारायण ने अपने बयान में पुलिस को किसी सुनील साहब के होने के बात कही थी। पुलिस ने सुनील साहब की पहचान सुनील ट्राकरू के तौर पर की है, जोकि सुनंदा के पारिवारिक मित्र हैं। पुलिस ने सुनील से पूछताछ की है। उलझी है गुत्थी पुलिस का कहना है कि सुनील से पूछताछ के बाद एक बार फिर सुनंदा मर्डर केस का आईपीएल कनेक्शन सामने आया है।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Four people are on the radar of the Special Investigating Team who could have possibly removed the evidence from the room in which Sunanda Pushkar was found dead. The Alprax tablets which had been stated last year to be the cause of her death could have also been planted over there.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more