• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सोशल: 'सिद्धू जी, राजनीति छोड़िए, वर्ल्ड कप में कमेंट्री करिए'- लोकसभा चुनाव-2019

By Bbc Hindi
नवजोत सिंह सिद्धू
NAVJOT SINGH SIDDHU/TWITER
नवजोत सिंह सिद्धू

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने आम चुनाव के दौरान अपने एक चुनावी भाषण में कहा था कि अगर स्मृति ईरानी ने अमेठी में राहुल गांधी को हरा दिया तो वो राजनीति छोड़ देंगे.

सिद्धू ने दावा किया था कि अगर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी में हार जाते हैं तो वो राजनीति से संन्यास ले लेंगे. अब जब राहुल गांधी ने ख़ुद अपनी हार स्वीकार कर ली है और स्मृति उनसे 55 हज़ार से ज़्यादा वोटों से आगे हैं तो सोशल मीडिया पर सिद्धू को बुरी तरह ट्रोल किया जा रहा है.

नवजोत सिंह सिद्धू
TWITTER
नवजोत सिंह सिद्धू

ट्विटर पर #sidhuquitpolitics और Sidhu Ji टॉप ट्रेंड में है. लोग इन हैशटैग्स के साथ मीम्स भी शेयर कर रहे हैं.

मीम
TWITTER
मीम

सिद्धू के बयान से जुड़ी ख़बरों के स्क्रीनशॉट भी फ़ेसबुक और ट्विटर पर ख़ूब शेयर किए जा रहे हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू
TWITTER
नवजोत सिंह सिद्धू

एक ट्विटर यूज़र ने लिखा है, "अब हमें वर्ल्ड कप में आपकी कमेंट्री का इंतज़ार है. अगर आप अमेठी के लिए इस्तीफ़ा देते हैं. ऑन सिद्धू जी, हम आपको मिस करते हैं."

ट्विटर
TWITTER
ट्विटर

गीतार्थ कुमार लिखते हैं, "अब क्या सर? अंग्रेज़ी में एक कहावत है कि अपनी जुबान को वैसे संभाल कर रखिए जैसे हीरे और सोने को संभालते हैं."

नवजोत सिंह सिद्धू
TWITTER
नवजोत सिंह सिद्धू

एक अन्य यूज़र ने लिखा है, "सिद्धू को ये याद दिलाने का वक़्त है कि भाई, बोलने से पहले दो बार सोच लेना चाहिए. ये क्रिकेट या कॉमेडी शो नहीं है जहां आप कुछ भी कह सकते हैं."

ट्विटर
TWITTER
ट्विटर

श्रेया शर्मा लिखती हैं, "आपका जवाब चाहिए सर, आपका इस्तीफ़ा चाहिए."

ट्विटर
TWITTER
ट्विटर

एक अन्य यूज़र ने लिखा कि अमेठी के लोग वैसे तो स्मृति ईरानी को वोट नहीं देना चाहते थे लेकिन जब उन्होंने सिद्धू का बयान सुना तो उन्हें वोट देने पर मजबूर हो गए ताकि सिद्धू राजनीति छोड़ दें.

इससे पहले भी नवजोत सिंह सिद्धू अपने कई बयानों से विवादों में रहे हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान वो पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल क़मर बाजवा से बड़ी गर्मजोशी से गले मिले थे. इस वजह से भी उन्हें तीखी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था.

पुलवामा हमले के बाद सिद्धू ने कहा था, "आतंकवाद का कोई देश नहीं होता, आतंकियों का कोई मजहब, कोई जाति नहीं होती.''

उन्होंने कहा था कि क्या मुट्ठी भर लोगों के लिए एक पूरे देश को या किसी एक व्यक्ति को दोषी ठहराया जा सकता है. सिद्धू के इस बयान पर नेताओं से लेकर आम लोगों ने बेहद नाराज़गी भरी प्रतिक्रिया दी थी और सोनी टीवी का बहिष्कार करने की बात करने लगे.

लोगों के ग़ुस्से और विवादों को देखते हुए सोनी ने सिद्धू को 'द कपिल शर्मा शो' से हटा दिया था.

कैप्टन और सिद्धू का झगड़ा आख़िर किस बात पर

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Social: 'Sidhu ji, leave politics, make commentary in world cup' - Lok Sabha elections -2019
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X