अफवाह है 2000 रुपए के नोट में नैनो GPS चिप होने की खबर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। 500 और 1000 के नोटों को अमान्‍य घोषित करने के बाद हर तरफ अफरा-तफरी का माहौल है। कई ऐसे सवाल है जिसका जवाब अभी तक लोगों को नहीं मिल सका है। हालांकि घबराने की कोई बात नहीं है क्‍योंकि कल यानी कि 10 नवंबर को सरकार 500 और 2000 के नए नोट बैंक में उतार देगी और आप वहां से अपने पुराने नोटों को बदल सकते हैं।

500 और 1000 के नोट बंद होने से मंदिरों में परेशान भक्‍त, नहीं मिल रहा प्रसाद 

Rs 2000 note comes with micro Nano GPS chip, to track exact location of currency

कई जगह तो लोगों में 2000 रुपए के नोट को लेकर भी उत्सुकता है। लोग जानना चाह रहे हैं कि इस 2000 के नए नोट में क्‍या खास होगा। इसी उत्‍सुकता के बीच सोशल मीडिया पर यह वायरल हो रहा है कि 2000 के नोट में नैनो जीपीएस चिप होगा। आपको बता दें कि इस बात में किसी तरह की सच्चाई नहीं है। RBI ने भी ऐसी किसी बात का जिक्र नहीं किया है।

500 और 1000 के नोट बंद, अब चुनाव में कैसे बहेंगे पैसे, क्‍या होगा पार्टियों का चंदा? 

क्‍या फैली है अफवाह?

काला धन से निपटने के लिए सरकार जो 2000 का नया नोट ला रही है उसपर नैनो जीपीएस (GPS) चिप लगी होगी। इस चिप से नोट का लोकेशन पता लगाया जा सकेगा। आपको बता दें कि नैनो जीपीएस चिप एक सिग्‍नल रिफलेक्‍टर की तरह काम करता है। सैटेलाइट से सिग्‍नल छोड़ने पर एनजीसी से रिफलेक्‍ट होगा जिससे लोकेशन का पता आसानी से चल जाएगा।

जमीन के अंदर भी होगा नोट तो भी चल जाएगा पता

सैटेलाइट सिग्‍नल से पता चलेगा कि किसी खास लोकेशन में कितने नोट हैं। आप जानकर दंग रह जाएंगे कि अगर 2000 का नोट जमीन के भीतर 120 मीटर गहरे गड्ढे में भी होगा तो भी यह सिग्‍नल पकड़ेगा। अगर आप चाहेंगे कि आप जीपीएस चिप को निकाल दें तो भूल जाईए क्‍योंकि नोट को नुकसान किए बिना चिप को निकाल पाना संभव नहीं होगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In what could be a major blow to black money hoarders, the new Rs 2000 note that was unveiled by the Reserve Bank of India on Tuesday comes with a micro Nano GPS chip that can help track the exact location of the note via a satellite.
Please Wait while comments are loading...