• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

केंद्र, कर्मचारियों को पूरी दिहाड़ी दिए जाने के सुझाव पर दोबारा सोचे : कैप्टन अमरिंदर सिंह

|

नई दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से कहा है कि वो मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए उस सुझाव पर पुन: विचार करे, जिसमें कहा गया है कि सभी दुकानें और उद्योग अपने कर्मचारियों को लॉकडाउन के दौरान पूरा वेतन देते रहें, क्योंकि इससे कामगार तबका दिवालिया होने से बच जाएगा। दरअसल लॉकडाउन के मसले पर पीएम मोदी ने सभी राज्यों के सीएम से सुझाव मांगे थे, तब कर्मचारियों को वेतन देने वाली बात अमरिंदर सिंह ने खत के जरिए पीएम मोदी से कही थी, जिस पर आज उन्होंने दोबारा से सोचने को कहा है।

केंद्र कर्मचारियों को पूरा वेतन देने वाली बात दोबारा सोचे

बता दें कि हाल ही में सीएम अमरिंदर सिंह अपने उस बयान को लेकर काफी चर्चा में थे, जिसमें उन्होंने कहा था कि आने वाले दिनों में देश के 85 प्रतिशत लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भारतीय वैज्ञानिकों और मेडिकल प्रैक्टिसनर्स से मिले आंकड़ों के बाद कहा था कि जो आंकड़े मुझे भारतीय वैज्ञानिकों और मेडिकल प्रैक्टिसनर्स से मिले हैं उसके मुताबिक 80-85 % भारत कोरोना से संक्रमित हो सकता है। अगर यह आंकड़ें सही हैं तो यह बेहद डराने वाले हैं और पंजाब में तो 27 कोरोना मरीजों की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है, ऐसे में इनमें से ज्यादातर को कम्यूनिटी ट्रांसमिशन कहा जा सकता है।

देश में 3 मई तक लॉकडाउन जारी रहेगा

तो वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ऐलान किया कि देश में 3 मई तक लॉकडाउन जारी रहेगा और अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी, 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा, जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है।

'हमें अनुशासन का पालन करना है'

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि 3 मई तक हम सभी को हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा। इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं, मेरी सभी देशवासियों से ये प्रार्थना है कि अब कोरोना को हमें किसी भी कीमत पर नए क्षेत्रों में फैलने नहीं देना है। स्थानीय स्तर पर अब एक भी मरीज बढ़ता है तो ये हमारे लिए चिंता का विषय होना चाहिए, इसलिए न खुद कोई लापरवाही करनी है और न ही किसी और को लापरवाही करने देना है। कल इस बारे में सरकार की तरफ से एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी।

सात वचन जो प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता से मांगे

  • बुजुर्गों का विशेष ध्यान करें, जिन्हें पुरानी बीमारी उनकी एक्स्ट्रा केयर करें
  • लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, घर में बने फेस मास्क का हमेशा उपयोग करें
  • इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के निर्देशों का पालन करें
  • कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप डाउनलोड करें और दूसरों को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें
  • जितना हो सके उतने गरीब परिवारों की देखरेख करें
  • अपने व्यवसाय में संवेदना दिखाएं, किसी को नौकरी से ना निकालें
  • कोरोनावॉरियर्स का सम्मान करें

यह पढ़ें: शाहरुख ने महाराष्ट्र सरकार को उपलब्ध कराईं 25 हजार PPE Kits, मंत्री ने कहा-शुक्रिया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Captain Amarinder Singh has urged the Centre to reconsider its directives asking industry to continue paying full wages to their workers during the COVID-19 lockdown period, as it may push them to bankruptcy.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X