लाश के टुकड़े कर डेढ़ दिन तक सेंकते रहे हाथ, पुलिस ने नाले से निकाली हड्डियां

Posted By: Prashant
Subscribe to Oneindia Hindi

पुणे। क्राइम छोटा हो या बड़ा, अपराधी हमेशा सबूत छोड़ जाते हैं। सबूत छोड़ने के चलते हत्थे चढ़ें अपराधियों ने हत्या का सनसनी खेज खुलासा किया है। इन आरोपियों ने लाश के सबूत मिटाने के लिए डेढ़ दिन तक लाश को जलाकर अपने हाथ सेकने का काम किया था। 10 महीने पहले किए कत्ल के आरोपी को पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है।   

जॉकी से बना किलर

जॉकी से बना किलर

पुणे में एक जॉकी से किलर बने एक अपराधी को पकड़ने में पुणे पुलिस सफल रही। पेट्रोल पंप में डकैती डालने का प्लान बना रहे गैंग की भनक पुलिस को लग गई थी, लेकिन इस डकैती की पूछ्ताछ में आरोपियों ने 10 महीने पहले किए खून का भी खुलासा किया। इस मामले में पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। विक्रम पिल्ले( उम्र 28), राजू नाईक (उम्र 34), संभू थापा (उम्र20), फारूक शेख ( उम्र26) और शाहरुक शेख (उम्र25) को गिरफ्तार किया गया है।

पेट्रोल पंप पर डकैती डालने का था प्लान

पेट्रोल पंप पर डकैती डालने का था प्लान

पुलिस को गोपनीय खबर मिली थी कि कुछ लोग पेट्रोल पंप पर डकैती डालने वाले हैं। छापा मारकर पुलिस ने इन पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि आर्थिक समस्या की वजह से डकैती का प्लान बनाया था। इन सभी आरोपियों को यह डकैती भारी पड़ी। 10 महीने पहले किए खून के राज से पर्दा उठ गया। पुलिस के लिए मृतक की लाश प्राप्त करना आसान नहीं था क्योंकि आरोपियों ने लाश को जलाकर हड्डियों नाले में फेंक देने की बात बताई थी। लाश न सही पर हड्डियों का मिलना भी पुलिस को कोर्ट में सबूत के रूप में पेश करना बड़ा चैलेंज था। जब पुलिस घटनास्थल पर गई तो बोरी में बंधी हड्डियां नाले के पास झाड़ी में लटकी हुई मिली। हड्डियों द्वारा डीएनए की मदद से मृतक की पहचान हो सकी।

हफ्ता वसूली करने वाले को दी दर्दनाक मौत

हफ्ता वसूली करने वाले को दी दर्दनाक मौत

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि मृतक शराब पीकर उनके चाइनीस स्टॉल पर आकर जबरन हफ्ता वसूली किया करता था। जिससे परेशान होकर पांचो ने मर्डर का प्लान बनाया। इस हत्या का मास्टरमाइंड विक्रम पिल्ले चाइनीस खानों का स्टॉल लगता था। इसे पहले विक्रम मलेशिया और इंग्लैंड में जॉकी का काम कर चुका है। छठवीं पास विक्रम जॉकी की नौकरी के दौरान डेढ़ लाख रुपए महीना कमाता था। बुरे बर्ताव की वजह से उसे काम से निकाल दिया गया था इसलिए वो भारत वापस आकर चाइनीस खाने का बिजनेस करने लगा था।हफ्ता वसूली के नाम पर टॉर्चर से काफी परेशान था। इसलिए विकी पोतन की हत्या की थी।

  

ये भी देखें -वाराणसी स्टेशन पर मिले यौन शक्ति बढ़ाने वाले जीव, खोपड़ी और नाखूनों को बेचा जाता था विदेश में

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Police disclose the matter of murder in done 10 months before
Please Wait while comments are loading...