• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Video: मध्य प्रदेश में CAA के समर्थन में प्रदर्शन के दौरान डिप्टी कलेक्टर पर हुआ हमला

|

नई दिल्ली। देशभर में नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा है। इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोग इस कानून को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। इस बीच मध्य प्रदेश में नागरिकता संशोधन के समर्थन में आयोजित प्रदर्शन के दौरान लोगों की प्रशासनिक अधिकारियों से झड़प हो गई। दरअसल प्रशासन के आला अधिकारी मध्य प्रदेश के राजगढ़ में चल रहे प्रदर्शन के दौरान सड़क से प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए पहुंचे थे। लेकिन इस दौरान एक प्रदर्शनकारी ने राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के हाथापाई कर डाली।

डिप्टी कलेक्टर का खींचा बाल

डिप्टी कलेक्टर का खींचा बाल

डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा पुलिस बल के साथ प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए पहुंची थीं। पुलिस उन प्रदर्शनकारियों को हटाने की कोशिश कर रही थी जो लोग बीच रास्ते में प्रदर्शन कर रहे थे। जिस दौरान पुलिस प्रदर्शनकारियों को हटा रही थी उसी डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा एक प्रदर्शनकारी को थप्पड़ मारने लगीं। लेकिन तभी एक प्रदर्शनकारी ने प्रिया वर्मा के बाल खींच दिए। इस घटना के बाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कई ट्वीट किए और कमलनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला।

शिवराज सिंह ने बोला हमला

शिवराज सिंह ने बोला हमला

शिवराज सिंह ने प्रदर्शन के दौरान घायलों की तस्वीरों को साझा करते हुए कमलनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने लिखा शासन-प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी गलती से भी यह न भूलें कि सरकारें पर्मानेंट नहीं होती हैं, वो बदलती हैं। बुराई का अंत और अच्छाई की विजय निश्चित है, इसलिए नागरिकों की सेवा की ज़िम्मेदारी, जो आपको मिली है, उसे निभाने में अपनी ऊर्जा, जज़्बा, जुनून और मेहनत लगाएँ। राजगढ़ में मेरे निर्दोष नागरिक और कार्यकर्ता भारत की संसद द्वारा बनाये गए कानून के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे, क्या यह अपराध है? कलेक्टर साहिबा, कांग्रेस सरकार पर तो जनता का विश्वास कभी था ही नहीं, क्या आप चाहती हैं कि लोग शासन-प्रशासन पर भी भरोसा करना छोड़ दें?

कलेक्टरी का नशा छा गया

कलेक्टरी का नशा छा गया

शिवराज ने ट्वीट करके लिखा, 'क्या कलेक्टरी का इतना ज्यादा नशा छा गया कि आप गली के गुंडे-बदमाशों की तरह नागरिकों को पीटने लगीं? असभ्यता और अनैतिकता की सारी हदें पार की जा चुकी हैं। लोकतंत्र का उपहास है राजगढ़ की घटना! कांग्रेस सरकार प्रदेश के नागरिकों को दबाने और कुचलने में अब अधिकारियों का सहारा ले रही है! मध्यप्रदेश में ऐसे अधिकारी, जो चाटुकारिता के नशे में अपनी सीमाएँ लांघ रहे हैं, उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिये। कांग्रेस सरकार के साथ-साथ अब शासन-प्रशासन की मानसिकता भी हिंसक हो गई है जिसका अहिंसक विरोध हम प्रदेशवासियों के साथ करेंगे! हिंसक मानसिकता का अहिंसक विरोध!'

English summary
Protest in Support of CAA: A protestor pulls hair of deputy collector
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X