• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बौखलाए पाकिस्तान ने एक बार फिर से SCO में तोड़ा नियम

|
    Pakistan ने SCO Military Drill के Cultural Event में India को नहीं किया Invite | वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। जिस तरह से जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाए जाने के बाद पाकिस्तान लगातार अंतरराष्ट्रीय मंच पर इस मुद्दे को उठा रहा है और हर जगह उसे शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है, उसके बाद बावजूद पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज आने का नाम नहीं ले रहा है। क बार फिर से पाकिस्तान ने कूटनीतिक नियमों का पालन करने से इनकार कर दिया। दरअसल रूस में शांघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन के कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, जिसमे पाक द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई, जिसमे पाकिस्तान ने भारत को न्योता नहीं दिया।

    सेना की ओर से जारी किया गया बयान

    सेना की ओर से जारी किया गया बयान

    भारतीय सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कि एससीओ के कार्यक्रम में आज पाकिस्तान का सांस्कृतिक कार्यक्रम होना था, लेकिन मौजूदा राजनयिक नियमों का उल्लंघन और एससीओ के नियमों का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तान ने भारतीय दल को इसमे निमंत्रण नहीं भेजा। कश्मीर का मुद्दा उठाने की वजह से पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मंच पर हर जगह मुंह की खानी पड़ी है। बौखलाहट में पाक ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिका जाने के लिए अपने एयरस्पेस से उड़ान भरने की इजाजत देने से इनकार कर दिया।

    हर तरफ अलग-थलग पाकिस्तान

    हर तरफ अलग-थलग पाकिस्तान

    इसी महीने में पाकिस्तान के राजनयिकों को यूएनएचआरसी में भी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा था। यूएनएचआरसी में यूएन के सेक्रेटरी जनरल एंटोनियों गुतारेस ने भारत पाकिस्तान से अपील की थी कि वह कश्मीर के मुद्दे को आपसी बातचीत के जरिए सुलझाएं। यही नहीं इस्लामिक देशों ने भी कश्मीर मुद्दे पर पाक का समर्थन करने से इनकार कर दिया है। यही नहीं यूएई ने पीएम मोदी को सर्वोच्च सिविलियन सम्मान से भी सम्मानित किया था।

    पीएम मोदी को सर्वोच्च सम्मान

    पीएम मोदी को सर्वोच्च सम्मान

    कश्मीर में आर्टिकल 370 को हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान लगातार भारत विरोधी बयानबाजी क र रही है, बावजूद इसके यूएई ने भारत के प्र्धानमंत्री नरेंद्र मोदी को सर्वोच्च सिविलयन सम्मान से सम्मानित किया था। गौरतलब है कि एससीओ का गठन 2001 में हुआ था, जोकि कई राज्यो की सरकारों का संगठन है। इस संगठन के सदस्य आपसी संबंधों को बेहतर करने, राजनीतिक सहयोग, व्यापार, अर्थव्यवस्था, शोध, तकनीक, संस्कृति, शिक्षा, उर्जा, ट्रांसपोर्ट, पर्यटन आदि को बढ़ावा देने के लिए काम करते हैं।

    इसे भी पढ़ें- शशि थरूर ने फिर लगाई पाकिस्तान को फटकार, POK को लेकर दिया बड़ा बयान

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Pakistan once again shows its desperation breaks diplomatic norms in SCO.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X