• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

देश में अब तक COVID वैक्सीन की दी जा चुकी 99 करोड़ से ज्यादा डोज, 1 अरब पहुंचने वाला है आकंड़ा

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली, 19 अक्‍टूबर। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए एकमात्र उपाय वैकसीनेशन ही है। यहीं कारण है कि केंद्र सरकार कोरोना टीकाकरण अभियान को लेकर काफी संजीदा है।इसका ही परिणाम है कि 16 जनवरी 2021 से शुरू किया टीकाकरण अभियान में अब तक देश में COVID वैक्सीन की 99 करोड़ से ज्यादा डोज दी जा चुकी है और जल्‍द ही ये आंकड़ा एक अरब पर पहुंचने वाला है।

covidvaccine

मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा भारत 100 करोड़ कोविड टीकाकरण हमारे मील के पत्थर की ओर तेजी से आगे बढ़ते रहो। भारत सरकार मुफ्त चैनल और प्रत्यक्ष राज्य खरीद श्रेणी के माध्यम से अब तक राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों को 102 करोड़ (1,02,05,09,915) से अधिक कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई हैं।

1 अरब वैक्सीन मील का पत्थर एक चिंताजनक असमानता को छुपाता है

वहीं एक मीडिया रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि भारत की 1 अरब वैक्सीन मील का पत्थर एक चिंताजनक असमानता को छुपाता है। यहां तक ​​​​कि जब भारत एक अरब कोविड 19 वैक्सीन खुराक तक पहुंचने वाला है, देश का केवल 20 प्रतिशत हिस्सा पूरी तरह से टीका लगा है, यानी कि केवल 20 प्रतिशत लोगी ही ऐसे हैं जिन्‍हें कोविड वैक्‍सीन की दोनों डोज लग चुकी है। 40 प्रतिशत आबादी जो 18 वर्ष से कम है, के लिए अभी तक कोई टीका नहीं लगा है।

20 फीसदी आबादी को ही मिली है दोनों डोज

ब्लूमबर्ग के वैक्सीन ट्रैकर के मुताबिक, इस हफ्ते एक अरब कोरोना की डोज के निशान तक पहुंचने की संभावना है, लेकिन देश ने लगभग 1.4 अरब की आबादी के 20 फीसदी लोगों को केवल दो डोज दिए हैं। तुलनात्मक रूप से, 51 प्रतिशत ने एकल खुराक ली है, जिससे यह दुनिया में सबसे अधिक असमानताओं में से एक है, जैसा कि ट्रैकर दिखाता है। भारत की तुलना में अधिक वैक्सीन खुराक देने वाला एकमात्र देश पड़ोसी चीन ने सितंबर के अंत तक लगभग 1.05 बिलियन या अपने 75 प्रतिशत नागरिकों को पूरी तरह से टीका लगाया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्‍सीनेशन का ये है हाल

स्वास्थ्य विशेषज्ञ कई कारकों के मिश्रण पर एकतरफा आंकड़ा बताते हैं। इस साल की शुरुआत में दुनिया के सबसे विनाशकारी कोविड के प्रकोप का केंद्र रहा है। भारत ने पिछले कुछ महीनों में मामलों को देखा है, जिससे टीकाकरण की तात्कालिकता कम हो गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में, सरकारी कल्याण सिर्फ एक शॉट के साथ जुड़ा हुआ है, कुछ को दूसरी खुराक के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है।

बच्‍चे इस वैक्‍सीनेशन में नहीं हैं शामिल

बड़ी संख्या में बच्चों को अभी तक वैक्सीन कार्यक्रम में शामिल नहीं किया गया है, जैसा कि तुलनात्मक रूप से लंबे तीन महीने के अंतराल के स्वास्थ्य अधिकारियों ने एस्ट्राजेनेका पीएलसी के शॉट की दो खुराक के बीच सलाह दी है, जो भारत में मौजूद प्रमुख टीका है।

मिशिगन विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर भ्रमर मुखर्जी ने कहा, "भारत में चलने वाले सभी दो-खुराक दैनिक ​​​​परीक्षणों में पालन को एक मुद्दा माना गया था।" "तो चौड़ा अंतर दो खुराक और गैर-पालन के बीच अंतर दोनों के कारण है।"यह असमानता चिंता का विषय है क्योंकि मई की शुरुआत में संक्रमण अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है, भारत में अभी भी हर दिन 13,000 से अधिक नए मामले और सैकड़ों मौतें हो रही हैं। इसकी समग्र मृत्यु दर विश्व स्तर पर यू.एस. के बाद दूसरे स्थान पर है।

बच्चों के शॉट्स
आंकड़ों में यह भी कमी है कि भारत ने अभी तक 18 साल से कम उम्र के लोगों के लिए कोई टीका तैनात नहीं किया है, जो भारत की आबादी का लगभग 40 प्रतिशत है। यह जल्द ही बदल सकता है। एक स्थानीय रूप से विकसित टीकाकरण को 12 से अधिक वर्षों के लिए अनुमोदित किया गया है, लेकिन अभी तक इसे प्रशासित करना शुरू नहीं किया गया है। देश का दवा नियामक भी वर्तमान में दो साल से कम उम्र के लोगों के लिए एक और शॉट की समीक्षा कर रहा है।भारत में कोरोना वैक्‍सीनेशन धीमा है, दो डोज के बीच का अधिक अंतर क्‍या बन रहा कारण

टीकाकरण अभियान को जारी रखना महत्वपूर्ण है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार साल के अंत तक भारत की वयस्क आबादी को पूरी तरह से टीकाकरण करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। तब तक, स्वास्थ्य अधिकारियों को उम्मीद है कि पहले से ही मौजूद टीके - साथ ही अनुमानित दो-तिहाई आबादी द्वारा निर्मित प्राकृतिक प्रतिरक्षा - लाइन को बनाए रखेगी। विशेषज्ञ ने कहा लेकिन जोखिम बना रहता है। हम समान उच्च स्तर के टीकाकरण नहीं देख रहे हैं, वहाँ एक खतरा है कि आप छोटे प्रकोप देख सकते हैं। प्रतिरक्षा समय के साथ कम हो जाती है। टीकाकरण अभियान को जारी रखना महत्वपूर्ण है।

Comments
English summary
More than 99 crore doses of COVID vaccine have been given in the India so far, the figure is about to reach 1 billion
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X