मुंबई की सड़कों पर भीख मांगता रहा सेना का जवान, 40 साल बाद परिवार ने YouTube की मदद से ढूंढा

Written By: Mohit Singh
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबईः मणिपुर के रहने वाले खमदराम कुलचंद्र गंभीर कई साल पहले अपने परिवार से दूर हो गए थे। परिवार ने काफी ढ़ूंढा लेकिन 40 सालों तक खमदराम की कोई खबर नहीं लग पाई। 40 साल बाद यूट्यूब के एक वीडियो के जरिए पता चला कि खमदराम मुंबई में है। दरअसल, मुंबई के एक फोटोग्राफर ने यूट्यूब पर एक वीडियो अपलोड की थी, जिसमें इसे देखा गया। खमदारम के बड़े भाई ने अपने भाई को वीडियो में देखा और पुलिस को इसकी जानकारी दी गई।

मणिपुर पुलिस

मणिपुर पुलिस

मंगलवार यानि आज खोमद्रम गंभीर मणिपुर पुलिस के कुछ अधिकारियों के साथ मुंबई में अपने भाई को लेने के लिए जाएंगे। गंभीर ने बताया कि हमने मुंबई के बांद्रा पश्चिम इलाके में पुलिस के कुछ अधिकारियों के साथ संपर्क किया है। क्योंकि उनके भाई की पहचान हो चुकी है तो उसे दो से तीन दिनों में वापस मणिपुर लाने की कोशिश की जाएगी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक खमदराम कुलचंद्र गंभीर ने सात साल तक मणिपुर राइफल्स में काम किया और सात साल बाद स्वेच्छा से सेवानिवृत्त हुए। उनकी शादी के बाद उनका कुछ झगड़ा हुआ और वो डिप्रेशन में चले गए।

1978 में घर छोड़ा था

1978 में घर छोड़ा था

खोमद्रम गंभीर ने बताया कि खमदराम छह भाईयों में सबसे बड़े हैं। साल 1978 में खोमद्रम ने इम्फाल के खुंबोम मामंग इलाके में अपना घर छोड़ा था। कहा जाता है कि एक साल बाद वो मिजोरम पहुंचा, लेकिन उसके बाद से उसके बारे में कोई खबर नहीं थी।

मुंबई की सड़कों पर गाने गाता है भीख मांगता है

मुंबई की सड़कों पर गाने गाता है भीख मांगता है

खोमद्रम गंभीर ने का कहना है कि वो वीडियो देख रहा था इसी दौरान एक वीडियो पर गलती से क्लिक हो गया, जो पिछले सा 17 अक्टूबर को अपलोड़ किया गया था। इस वीडियो में एक शख्स को दिखाया जा रहा था जो 60 के दशक में मणिपुर से आया था और मुंबई की सड़कों पर गाने गाता है भीख मांगता है।

कुलचंद्र गंभीर

कुलचंद्र गंभीर

दो दिन पहले परिवार ने इस वीडियो को देखा तो उन्होंने खमदराम कुलचंद्र गंभीर को पहचान लिया। खोमद्रम गंभीर ने बताया कि जब मेरे भतीजे ने इस वीडिया को दिखाया तो उनकी आंखों को यकीन नहीं हुआ कि उनका भाई है। क्योंकि परिवार उनके जिंदा रहने की उम्मीद छोड़ चुका था। श्री समरेन्द्र ने कहा कि स्थानीय लोगों ने उनके भाई को वापस लाने के लिए विमान की टिकट के लिए पैसे इकट्ठा किए।

यह भी पढ़ें- ई रिक्शे से स्कूल जा रहे बच्चे का फिल्मी अंदाज में अपहरण, यूपी पुलिस ने दिखाया दम

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Manipur Rifles retired man trace man after 40 year on youtube

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.