• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कश्मीर: मारा गया चार फुट का 'मौत का सौदागर'

By Bbc Hindi

भारतीय सुरक्षाबलों ने मंगलवार को चर्चित चरमपंथी नूर मोहम्मद तांत्रे को श्रीनगर के बाहर हुई एक मुठभेड़ में मार दिया.

नूर मोहम्मद तांत्रे पाकिस्तान से संचालित चरमपंथी समूह जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर थे.

पुलिस का कहना है कि लंबी चली मुठभेड़ के बाद तांत्रे को मारा गया है.

तांत्रे के पुलमवामा स्थित घर में दो अन्य चरमपंथियों के साथ होने की ख़ुफ़िया सूचना पुलिस को मिली थी.

तांत्रे को 2003 में गिरफ़्तार करने वाले एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक तांत्रे को उनके छोटे क़द की वजह से चरमपंथियों ने अपने समूह में शामिल किया था.

तांत्रे सिर्फ़ चार फुट दो इंच के थे. अधिकारी के मुताबिक, "किसी को भी उनके चरमपंथी होने का शक़ नहीं होता और इसी वजह से जैश-ए-मोहम्मद ने उन्हें ओवर ग्राउंड वर्कर के तौर पर भर्ती किया था."

लेकिन ये छोटा क़द ही उनकी पहचान भी बन गया और सुरक्षा बलों के लिए उन्हें पहचानना आसान हो गया.

कश्मीर में इस साल नहीं खिले केसर के फूल

कश्मीर: अलगाववादियों के बिना बात आगे बढ़े कैसे?

कौन थे नूर मोहम्मद तांत्रे?

47 वर्षीय नूर मोहम्मद तांत्रे को एक मुक़दमे के दौरान 'मौत का सौदागर' कहा गया था.

तांत्रे 2001 में भारतीय संसद पर हुए हमले के कथित मास्टरमाइंड और जैश के कमांडर गाज़ी बाबा के करीबी थे.

दिल्ली में जब उन्हें 2003 में गिरफ़्तार किया गया था तो उनके पास से बोरी भरकर नोट मिले थे.

उन्हें 2011 में आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई थी लेकिन 2015 में वो पैरोल तोड़कर फरार हो गए थे.

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक पैरोल से फरार होने के बाद से ही तांत्रे पुलिस के लिए सिर दर्द बन गए थे. उन्होंने मध्य कश्मीर क्षेत्र में जैश-ए-मोहम्मद की कमान संभाल ली थी.

माना जाता है कि अक्तूबर में श्रीनगर एयरपोर्ट के पास बीएसएफ़ कैंप पर हुए हमले के पीछे भी तांत्रे का ही दिमाग़ था.

कैसे हुई मुठभेड़

वो क़ब्रिस्तान, जहां रात को दफ़नाए जाते हैं शव

कश्मीर: जिनके मकान मुठभेड़ में ढह गए

नूर मोहम्द तांत्रे का अंतिम संस्कार
AFP
नूर मोहम्द तांत्रे का अंतिम संस्कार

जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक एसपी वैद्य के मुताबिक बेहद सटीक ख़ुफ़िया जानकारी के आधार पर चलाए गए अभियान में तांत्रे को मारा गया है.

उन्होंने कहा, "हालांकि जब तक सुरक्षा बलों ने घेराबंदी की, दो चरमपंथी भागने में कामयाब रहे जिन्हें पकड़ने के लिए क्षेत्र में खोजी अभियान चलाया जा रहा है."

वैद्य के मुताबिक तांत्रे श्रीनगर जम्मू हाइवे पर गाड़ियों के काफ़िले पर हमले की योजना बना रहे थे.

भारत प्रशासित जम्मू कश्मीर में 1989 के बाद से हिंसक दौर आते जाते रहे हैं लेकिन जुलाई 2016 में चरमपंथी कमांडर बुरहान वानी की भारतीय सैन्य बलों के हाथों मौत के बाद से हिंसा का एक नया दौर शुरू हो गया है.

नूर मोहम्मद तांत्रे की मौत को क्षेत्र में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अभियान चला रहे सैन्य बलों के लिए बड़ी कामयाबी माना जा रहा है.

lok-sabha-home
BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kashmir killed four foot death dealer

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X