• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

PNB घोटाले पर पहली बार बोले अरुण जेटली, कहा-बैंकिंग सिस्टम को धोखा देने वाले को पकड़कर लाएंगे

|

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक घोटाला के सामने आने के बाद पहली बार देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली बोले हैं। जेटली ने 11500 करोड़ के इस बैकिंग घोटाले पर अपनी बोलते हुए कहा कि देश उनको पकड़ वापस लाएगा लजो बैकिंग सिस्टम को धोखा देंगे। उन्होंने आश्वासन दिया कि सरकार बैंकों के साथ धोखाधड़ी करने वालों पर सख्त कार्रवाई करेगी।

 It is incumbent upon the state to chase those who cheat the banking system: FM Arun Jaitley

उन्होंने कहा कि जब मैनेजमेंट को अथॉरिटी दी जाती है तो यहीं उम्मीद की जाती है कि वो इसका सही और असरदार तरीके से इस्तेमाल होगा। उन्होंने कहा कि ये घोटाला एनडीए के शासनकाल में नहीं बल्कि यूपीए के शासनकाल में हुआ है और सरकार उन घोटालों को बाहर लाकर उचित कार्रवाई कर रही है।

आपको बता दें कि इससे पहले बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने पीएनबी घोटाले को लेकर अपनी बात रखी और कहा कि नीरव मोदी ने ये घोटाला कर न केवल देश के बैंकिंग सिस्टम की खामियों की पोल खोल दी है बल्कि मोदी सरकार की छवि को भी धूमिल कर दिया है।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

lok-sabha-home

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
When authority is given to the managements then you are expected to utilize authority effectively and in the right manner and therefore question for management is if they were found lacking, on the face of it seems they were: FM Arun Jaitley on banks
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more