हनीप्रीत पर मेहरबान थी पंजाब पुलिस, एक IPS कर रहा था भागने में मदद!

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। गुरमीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसा 38 दिनों बाद मंगलवार को पुलिस के हत्‍थे चढ़ गई। हनीप्रीत इतने दिनों तक कहां-कहां गई, किस-किस से मिली या फिर किसने उसकी मदद की अब इन बातों को खंगाला जा रहा है। इस बीच एक दावा किया जा रहा है कि फरारी के दौरान हनीप्रीत पंजाब पुलिस के अफसरों के संपर्क में रही। कुछ आला अधिकारियों को हनीप्रीत के बारे में पूरी जानकारी थी। पंजाब का एक आईपीएस अफसर हनीप्रीत को बचाव का रास्‍ता दिखाता रहा। इतना ही नहीं पंजाब पुलिस ने हनीप्रीत के संबंध में हरियाणा पुलिस को कोई लीड नहीं दी। अब इस बात को लेकर दोनों राज्‍यों की पुलिस में ठनी गई है। हरियाणा के डीजीपी ने खुद इन बातों की तरफ इशारा किया है।

IPS, नेता और विधायक ने की मदद

IPS, नेता और विधायक ने की मदद

जो बात सामने आ रही है उसके मुताबिक हनीप्रीत को रास्‍ता दिखाने वालों में पंजाब के एक युवा आईपीएस की अहम भूमिका बताई जा रही है। उसी की सलाह पर हनीप्रीत कुछ दिन पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में रही। इसके अलावा राजस्‍थान पुलिस की भी भूमिका पर शक है। हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने इस बात का खुलासा किया है कि राजस्‍थान पुलिस ने हनीप्रीत की मदद की है। बताया जा रहा है कि हनीप्रीत 2 दिनों तक पंजाब में रही। उसके लिंक में जीरकपुर और डेराबस्सी के कई नेता विधायक थे, जिनकी शह पर वह यहां रह रही थी।

    Honeypreet की जेल में कुछ ऐसे गुज़री पहली रात | वनइंडिया हिंदी
    पुलिस की थ्‍योरी में भी है पेंच

    पुलिस की थ्‍योरी में भी है पेंच

    पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक हनीप्रीत को जीरकपुर-पटियाला रोड के पास से हरियाणा पुलिस ने की। पंचकूला के पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने गिरफ्तारी में पंजाब पुलिस की भूमिका के बारे में सवाल पूछने पर कई बार टालमटोल किया। उन्होंने कहा कि इस बारे में जल्द सच्चाई सामने आएगी। उन्होंने कहा कि हनीप्रीत फरार होने के बाद जहां-जहां रही, वहां जिन लोगों ने मदद की, उन पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पंचकूला कमिश्नर ने कहा कि इनोवा गाड़ी से हनीप्रीत के साथ हिरासत में ली गई महिला बठिंडा की रहने वाली है। जबकि बठिंडा के एसएसपी ने इससे इनकार किया है।

    देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होने के बाद भी पंजाब पुलिस ने क्‍यों नहीं किया गिरफ्तार

    देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होने के बाद भी पंजाब पुलिस ने क्‍यों नहीं किया गिरफ्तार

    प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर पंचकूला के कमिश्‍नर ने बताया कि हनीप्रीत मामले में पंजाब पुलिस की भूमिका की जांच करवाई जाएगी। ऐसे में सवाल यह उठ रहे हैं कि जब हनीप्रीत पर देशद्रोह का मामला दर्ज है और वह देश में वांटेड थी तो उसे पंजाब पुलिस ने क्यों नहीं पकड़ा और उस पर इतनी मेहरबान क्यों रही।

    Read Also- उस रात की एक गलती की वजह से राम रहीम को ब्लैकमेल करती थी हनीप्रीत!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    IPS of Punjab Police was helping Honeypreet Insan to escape.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.