• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

21 अप्रैल को चीन पहुंचेंगी इंडियन नेवी की दो वॉरशिप्‍स, परेड का बनेंगी हिस्‍सा

|

नई दिल्‍ली। इंडियन नेवी ने शुक्रवार को अपनी दो वॉरशिप्‍स को चीन भेजा है। ये वॉरशिप्‍स चीन के शहर किंगदाओ में आयोजित होने वाले चीनी नेवी की 70वीं यसालगिरह का हिस्‍सा बनेंगी। इंडियन नेवी इस मौके पर इंटरनेशनल फ्लीट रिव्‍यू का हिस्‍सा होगी। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब इंडियन नेवी चीन में किसी कार्यक्रम में अपनी मौजूदगी दर्ज कराएगी बल्कि सल 2014 में भी ऐसा हुआ था।

यह भी पढ़ें-जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन

शी जिनपिंग करेंगे परेड का रिव्‍यू

शी जिनपिंग करेंगे परेड का रिव्‍यू

इंडियन नेवी के प्रवक्‍ता की ओर से जानकारी दी गई है कि भारत में बने स्‍टेल्‍थ गाइडेड मिसाइल डेस्‍ट्रॉयर आईएनएस कोलकाता और फ्लीट सपोर्ट शिप आईएनएस शक्ति चीन के पश्चिमी तटीय शहर किंगदाओ में 21 अप्रैल को पहुंच जाएंगी। 23 अप्रैल को चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग मैरिटाइम परेड का रिव्‍यू करेंगे और इंडियन नेवी उसका हिस्‍सा होगी।

पाकिस्‍तान ने लिया नाम वापस

पाकिस्‍तान ने लिया नाम वापस

हैरान करने वाली बात है कि चीन के करीबी पाकिस्‍तान की नेवी इस परेड का हिस्‍सा नहीं होगी। पाक की ओर से कोई भी वॉरशिप चीन की हाई-प्रोफाइल मैरिटाइम नरेड में शामिल नहीं होगी। पहले ऐसी खबरें थीं कि पाकिस्‍तान नेवी की दो वॉरशिप्स चीन की मैरिटाइम परेड में शामिल होंगी। हालांकि पाक की तरफ से इस बारे में कोई आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है। माना जा रहा है कि अरब सागर में इंडियन नेवी की मौजूदगी के चलते पाक ने यह फैसला लिया है।

क्‍यों अहम है इंटरनेशनल फ्लीट रिव्‍यू

क्‍यों अहम है इंटरनेशनल फ्लीट रिव्‍यू

नेवी की ओर से जारी बयान में कहा गया है, 'इंटरनेशनल फ्लीट रिव्‍यू (आईएफआर) दुनिया भर की नौसेनाओं के लिए एक आदर्श मंच होता हे जहां पर वह अपनी क्षमताओं और देश में बनी वॉरशिप्‍स और दूसरी क्षमताओं का प्रदर्शन कर पाती हैं। भारतीय नौसेना के सबसे प्रभावी डेस्‍ट्रॉयर और फ्लीट सपोर्ट शिप देश की जहाज निर्माण क्षमता को दुनिया के सामने पेश करेंगे।'

साल 2014 में इंडियन नेवी ने ठुकराई थी चीन की पेशकश

साल 2014 में इंडियन नेवी ने ठुकराई थी चीन की पेशकश

साल 2014 में भारत ने अपनी फ्रंटलाइन वॉ‍रशिप आईएनएस शिवालिक को चीन भेजा था। उस समय चीनी नेवी ने अपने 65 वर्ष पूरे किए थे। आईएनएस शिवालिक ने उस समय खासी सुर्खिंया बटोरी थीं। चीन के नेवी चीफ ने इंडियन नेवी से अनुरोध किया था कि वह आईएफआर के दौरान कॉम्‍बेट इनफॉर्मेशन सेंटर (सीआईआई) उन्‍हें दिखाएं जिसे इंडियन नेवी ने सज्‍जनता से मना कर दिया था।

लोकसभा चुनावों से जुड़ी हर बड़ी खबर पढ़नें के लिए क्लिक करें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indian Navy will be the part of Chinese navy drill on 21st April and maritime parade will be reviewed by the Chinese President Xi Jinping on April 23.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X