• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इंटरनेट पर प्राइवेसी पसंद है तो आजमाएं सर्च इंजन 'DUCKDUCKGO'

|

बेंगलुरू। अगर आप इंटरनेट पर अपनी निजता को लेकर अधिक संवेदनशील हैं, तो सर्च इंजन गूगल ही एकमात्र विकल्प नहीं है, जहां आप सवालों और खोजों के लिए डिपेंडेंट हैं। ऐप दुनिया में ऐसे कई सर्च इंजन उपलब्ध हैं, जो आपकी निजता की सुरक्षा का ख्याल रखते हुए आपको आपके सवालों और खोजों का जवाब ढूंढने में आपकी मदद के लिए तैयार हैं। जी हां, ऐसा ही एक सर्च इंजन आजकल सुर्खियों में है, जिसका नाम है 'डकडकगो'

search engine

वर्ष 2008 में लॉन्च हुए सर्च इंजन 'डकडकगो' (DuckDuckGO) भले ही अभी प्रतिस्पर्धा के मामले में गूगल से काफी पीछे है, लेकिन यूजर्स की प्राइवेसी के लिहाज से यह बेहद सुरक्षित सर्च इंजन के रूप में लोकप्रियता हासिल कर रहा है। एक तरफ जहां गूगल में प्रतिदिन 350 करोड़ से अधिक सवाल पूछे जाते हैं, वहीं डकडकगो में यह संख्या हर दिन के हिसाब से महज अभी 5 करोड़ ही है।

डकडकगो के सुर्खियों में आने की वजह बने हैं कि ट्विटर के संस्थापक और सीईओ जैक डोरसे, जिन्होंने अभी हाल में सर्च इंजन गूगल को छोड़कर डकडकगो को अपना लिया है। ट्वीटर सीईओ जैक डोरेसे के गूगल के बजाय डकडकगो सर्च इंजन के उपयोग के पीछे असल वजह प्राइवेसी है।

search engine

इसका खुलासा खुद जैक डोरसे ने अपने एक ट्विटर पोस्ट में किया है। डोरसे ने डकडकगो सर्च इंजन के प्रति अपने प्यार को जाहिर करते हुए लिखा है कि उन्होंने अब डकडकगो ही अपना डिफॉल्ट सर्च इंजन बना लिया है। डोरसे आगे लिखते हैं, मुझे डकडकगो पसंद है, पिछले कुछ दिनों से यही मेरा डिफाल्ट सर्च इंजन है, जो दूसरे ऐप कहीं अधिक बेहतर है। यहां बेहतर से डोरसे का मतलब प्राइवेसी सुरक्षा को लेकर था।

search engine

ट्वीटर संस्थापक जैक डोरसे के डकडकगो ऐप से जुड़ने की खबर फैलते ही डकडकगो ने जैक डोरसे का आभार जताया और उनके डकडकगो ऐप अपनाने पर खुशी जाहिर की। इंटरनेट सर्च इंजन डकडकगो की सबसे बड़ी खासियत यही है कि यह सर्च इंजन यूजर्स की गोपनीयता की रक्षा करने के साथ-साथ यूजर के निजी खोजों के परिणामों को सुरक्षा पर जोर देता है। डकडकगो गूगल सर्च इंजन से इसलिए अलग है, क्योंकि यह अपने यूजर्स की प्रोफाइलिंग नहीं करती है और किसी एक शब्द(Keyword) खोज के लिए यह सभी यूजर्स को समान खोज परिणाम दिखाती है।

search engine

डकडकगो सर्च इंजन के सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह खोजे गए शब्द (कीवर्ड) के अधिक परिणामों को दिखाने के बजाय यूजर्स को केवल सर्वोत्तम परिणामों को दिखाने पर जोर देती है। यानी डकडकगो सर्च इंजन आपके खोजे गए परिणाों के लिए 400 से अधिक व्यक्तिगत स्रोतों का इस्तेमाल करते हैं, जिनमें भीड़ वाली साइट्स जैसे विकिपीडिया, बिंग, याहू! और यैंडेक्स जैसे सर्ज इंजन शामिल हैं। बताया जाता है कि डकडकगो सर्च इंजन ऐप पर यूजर्स द्वारा नवंबर 2019 में प्रतिदिन औसतन 48,709,105 खोजें की गईं।

अक्सर आप देखते होंगे कि जब इंटरनेट पर गूगल सर्च इंजन की मदद से कुछ खोज रहे होते हैं तो गूगल आपके सवालों का जवाब ढूंढने के लिए सैकड़ों पेज खोल देता है और जब यूजर खोजो के जवाब तलाशने के बाद सर्च इंजन से बाहर निकल आता है तो उसके खोजों की प्राइवेसी सुरक्षित नहीं रह जाती है, क्योंकि गूगल प्रोफाइल से यूजर की जानकारी दूसरी साइट्स पर सर्च के दौरान साझा हो जाया करती हैं।

search engine

मसलन, यूजर्स ने गूगल सर्च इंजन की मदद से बंगलुरू से दिल्ली की फ्लाइट टिकट की कीमत जाननी चाही तो यूजर्स के खोजे गए शब्द (कीवर्ड) के एवज में गूगल सैकड़ों पेज वाले परिणाम दिखाता है। यूजर परिणामों को जांचने के लिए जिन साइट्स पर जाता है, गूगल उस साइट्स को यूजर की निजी प्रोफाइल साझा कर देता है, जिससे यूजर ने क्या खोजा, सबको साझा हो जाता है।

इसको ऐसे समझा जा सकता है। गूगल सर्च इंजन पर किसी यूजर द्वारा खोजे गए चीजों का बार-बार यूजर के सामने प्रकट होना। भले ही यूजर सोशल नेटवर्किंग साइट्स ट्वीटर, फेसबुक और लिंकडिन का ही इस्तेमाल क्यों न कर रहा हो। यहां तक कि किसी भी साइट्स पर जाने पर भी यूजर्स को उसके खोजे गए चीजों का परिणामों का दिखाया जाना।

search engine

यह इसलिए होता है क्योंकि गूगल यूजर्स की प्रोफाइलिंग करता है और जब यूजर अपने खोजों के परिणामों के लिए जितनी भी साइट्स पर जाता है, उन साइट्स पर यूजर की प्रोफाइल और उसके खोज साझा हो जाते हैं, जिससे यूजर की खोजों की निजता भंग होती है, लेकिन डकडकगो के उपयोग से यूजर इससे बच जाएंगे।

हालांकि प्राइवेसी वाले खोजों के लिए यूजर्स के पास गूगल क्रोम ब्राउजर का विकल्प मौजूद हैं, जहां यूजर्स इन्कगनीटो मोड में जाकर सुरक्षित सर्च कर सकते हैं, जहां सर्च करने वाले यूजर्स की प्राइवेसी पूरी तरह से सुरक्षित रहती है और यूजर्स बेहिचक सर्च कर सकता है।

search engine

चूंकि डकडकगो में यूजर्स के लिए किसी प्रोफाइलिंग का चक्कर नहीं है, इसलिए यहां यूजर बेफिक्र होकर डकडकगो ऐप का इस्तेमाल कर सकता है। हालांकि अपने शक्तिशाली एल्गोरिदम, आसान इंटरफ़ेस और व्यक्तिगत यूजर एक्सपीरियंस के साथ गूगल दुनिया के सबसे लोकप्रिय सर्च इंजनों में शुमार है।

कंपनी ग्रेटर फिलाडेल्फिया में पाओली, पेंसिल्वेनिया में स्थित डकडकगो कार्यालय में जुलाई, 2019 तक 67 कर्मचारी हैं। कंपनी का नाम बच्चों के खेल बतख से लिया गया है। कंपनी ने 22 फरवरी, 2011 को डोमेन नाम ddg.gg को पंजीकृत किया था और 12 दिसंबर, 2018 को duck.com का अधिग्रहण किया, जो कि छोटे URL उपनाम के रूप में उपयोग किए जाते हैं, जो यूजर्स को duckduckgo.com पर रीडायरेक्ट करते हैं।

Search Engine

उल्लेखनीय है डकडकगो सर्च इंजन की गोपनियता की खूबियो के चलते जीनोम परियोजना ने अपने मुख्य सर्च इंजन को गूगल से बदलकर डकडकगो कर लिया है। जीनोम के आगामी संस्करणों में सामान्य अवस्था में डक डक गो सर्च इंजन के रूप में रहेगा। वर्ष 2014 में एप्पल ने भी अपने सफारी ब्राउज़र में ऑप्शनल सर्च इंजन के तौर पर डकडकगो की जगह दी थी।

Search engine

वर्ष 2016 में टोर ब्राउज़र ने भी डकडकगो को अपना डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन के रूप में चुना था। वर्ष 2008 में गेब्रियल विनबर्ग द्वारा स्थापित डकडकगो सर्च इंजन शुरू में फंडिंग नहीं मिलने के कारण बहुत परेशानियों से गुजरा, लेकिन 2011 में एक अमेरिकी कंपनी यूनियन स्क्वायर वेंचर ने इसमें इन्वेस्ट किया जिसके बाद डकडकगो का काफी विस्तार हो सका।

अचानक गूगल प्ले स्टोर से 9 घंटे तक 'गायब' रहा WhatsApp, आप भी हैं परेशान तो करें ये उपाय

गूगल सर्च इंजन के अलावा और कितने सर्च इंजन है, आइए जानते हैं-

DuckDuckGo की खूबियों ने बनाया लोगों में उसको लोकप्रिय

DuckDuckGo की खूबियों ने बनाया लोगों में उसको लोकप्रिय

  • DuckDuckGo आपकी किसी भी निजी जानकारी को एकत्र या संग्रहीत नहीं करता। इसका मतलब है कि आप अपने कंप्यूटर स्क्रीन पर कोई आपपर नज़र रख रहा हैं इसके बारे में चिंता किए बिना शांति से अपनी सर्च को रन कर सकते हैं।
  • DuckDuckGo कुछ स्लिक फीचर्स प्रदान करता है, जैसे जीरो-क्लिक इनफॉर्मेशन जिसमें आपके सभी उत्तर पहले रिजल्‍ट पेज पर मिलते हैं। DuckDuckGo बहुविकल्प प्रॉमिस करता है जो यह स्पष्ट करने में मदद करता है कि आप वास्तव में क्या सवाल पूछ रहे हैं। साथ ही, विज्ञापन स्पैम Google की तुलना में बहुत कम है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि डक डक आपकी जानकारी को ट्रैक नहीं करता और न ही आपकी खोज की आदतों को दूसरों के साथ शेयर करता।
  • आप Instant Answers नामक एक फीचर का भी उपयोग कर सकते हैं, जो आपको कुछ सवालों के जवाब को दिखाता है। डक डक गो सर्च predictive टेक्‍स्‍ट के संकेत भी देता है। जब आप एक शब्द या वाक्यांश एंटर करते हैं, यह आपके द्वारा देखे जाने वाले रिजल्‍ट को कम करने में आपकी मदद करने के लिए अपने विचार के आधार पर सुझाव देगा।
Bing सर्च इंजन गूगल के लिए Microsoft का जवाब है

Bing सर्च इंजन गूगल के लिए Microsoft का जवाब है

बिंग Google के लिए Microsoft का जवाब है और इसे 2009 में लॉन्च किया गया था। बिंग Microsoft के वेब ब्राउज़र में डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन है। Bing को बेहतर सर्च इंजन बनाने के लिए हमेशा प्रयास किया जाता हैं, लेकिन Google से टक्कर देने के लिए इसे एक लंबा रास्ता तय करना है।

क्लिन और क्विक प्रेजेंटेशन के साथ वापस आ रहा है Dogpile

क्लिन और क्विक प्रेजेंटेशन के साथ वापस आ रहा है Dogpile

कई साल पहले, Dogpile ने Google को वेब सर्च के लिए एक तेज और कुशल विकल्प के रूप में पसंद किया था। 1990 के दशक के अंत में चीजें बदल गईं, Dogpile अस्पष्टता में फीका पड़ गया और Google राजा बन गया।

हालांकि, आज Dogpile एक बढ़ते हुए इंडेक्‍स और एक क्लिन और क्विक प्रेजेंटेशन के साथ वापस आ रहा है, जो कि उसके पतन के दिनों का प्रमाण है। यदि आप सुखद प्रेजेंटेशन और सहायक क्रॉसलिंक परिणामों के साथ एक सर्च टूल आज़माना चाहते हैं, तो निश्चित रूप से Dogpile आज़माएं!

अधिकांश सर्च इंजन आपको केवल सबसे लोकप्रिय जानकारी और उपलब्ध परिणाम दिखाते हैं। वे इंजन उन टूल्‍स का उपयोग करते हैं जो नई साइटों को ढूंढनें के लिए वेब पर सर्च करते हैं, जो तब भविष्य के परिणामों के लिए इंडेक्‍स करेंगे। यह समस्याएं पैदा कर सकता है क्योंकि बहुत सारी साइटें हैं जो उन इंजनों में इंडेक्स नहीं बनाती हैं।

मेटासर्च इंजन का एक उदाहरण है Yippy

मेटासर्च इंजन का एक उदाहरण है Yippy

Yippy एक मेटासर्च इंजन का एक उदाहरण है जो डीप वेब में सूचीबद्ध पेजेस के सर्च के लिए नई तकनीक का उपयोग करता है और उन पेजेस के लिए जिसे अन्य साइट छोड़ देते हैं। यह कंटेंट देखने का एक शानदार तरीका है जिसे आप अन्यथा नहीं देखेंगे और ठीक वही सर्च पाएंगे जो आपको चाहिए।

Google साइट का एक अलग सेक्‍शन है Google Scholar

Google साइट का एक अलग सेक्‍शन है Google Scholar

शिक्षाविदों और वर्तमान में स्कूल के छात्रों के लिए के लिए सबसे अच्छा सर्च इंजन हैं Google Scholar, जो अपने यूजर्स को 150 मिलियन से अधिक डयॉक्‍युमेंट का एक्‍सेस प्रदान करता है। यह मुख्य Google साइट का एक अलग सेक्‍शन है जो आपको डयॉक्‍यूमेंट और लेखों से भरा अपना निजी पुस्तकालय बनाने की अनुमति देता है।

एक सरल प्रश्न-उत्तर फॉर्मेट में हैं सर्च इंजन Ask

एक सरल प्रश्न-उत्तर फॉर्मेट में हैं सर्च इंजन Ask

पहले Ask Jeeves के रूप में जाना जाने वाला Ask, एक सरल प्रश्न-उत्तर फॉर्मेट में हैं, जिसमें आप प्राकृतिक-भाषा में सर्च कर सकते है। यह इसे बहुत ही यूजर-फ्रैंडली बनाता है, खासकर उन लोगों के लिए जो पुराने कंप्यूटर यूजर और जो सर्च इंजन से कम परिचित हैं। सर्च रिजल्‍ट आपके सर्च शब्द से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न भी प्रदर्शित करते हैं, जो आपको उपयोगी संसाधन प्रदान कर सकते हैं और आपकी सर्च को आगे बढ़ाने में आपकी सहायता कर सकते हैं।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Often you will see that when searching for something with the help of Google search engine on the Internet, Google opens hundreds of pages to find the answers to your questions and when the user comes out of the search engine after searching for the answers. The privacy of his searches is not protected, because user information from Google profile is shared during search on other sites.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more